Jodhpur में गबन करने वालों को ब्याज समेत चुकानी होगी रकम

Jodhpur संभाग की विभिन्न स्वायत्तशासी संस्थाओं में सरकारी राशि का गबन करने वाले अधिकारियों-कर्मचारियों से राशि की ब्याज समेत वसूली होगी। संभागीय आयुक्त ने त्रैमासिक समीक्षा बैठक में बकाया Audit objections की समीक्षा के दौरान ये निर्देश दिए।

By: Suresh Vyas

Published: 28 Oct 2020, 06:25 PM IST

जोधपुर। संभागीय आयुक्त डॉ. समित शर्मा ने सम्भाग की स्वायत्तशासी संस्थाओं के गबन के मामलों में राशि ब्याज समेत वसूलने और सम्बन्धित कार्मिक के खिलाफ कार्रवाई करने के निर्देश दिए हैं।

डॉ. शर्मा ने बुधवार को राजीव गांधी सेवा केन्द्र में वीडियो कॉन्फे्रंसिंग के जरिए संभाग स्तरीय प्रशासनिक परीक्षण समिति की त्रैमासिक बैठक में बकाया ऑडिट आक्षेपों के समयबद्ध निस्तारण व अनुपालना, गंभीर अनियमितताओं, प्रारूप प्रालेख व गबन इत्यादि पर कार्रवाई की समीक्षा की। इस दौरान उन्होंने आगामी जनवरी में होने वाली त्रैमासिक बैठक तक 50 प्रतिशत ऑडिट आक्षेप निरस्त करने की हिदायत दी। उन्होंने पालना रिपोर्ट समय पर भेजने की जरूरत बताते हुए कहा कि एक वाट्सएप ग्रुप बनाकर उसमें पीपीटी के जरिए पालना संबंधी रिपोर्ट भेजी जानी चाहिए।

बैठक में बकाया प्रारूप प्रालेख, विशेष जांच प्रतिवेदनों के आक्षेप निस्तारण, बकाया प्रथम अनुपालना, गबन अंकेक्षण, ग्राम पंचायतों के बकाया अंकेक्षण व निस्तारण के लिए जिला परिषद लेखाधिकारी की कार्रवाई व बकाया अंकेक्षण शुल्क की समीक्षा की गई। उन्होंने नगर परिषद बाड़मेर, जैसलमेर, पंचायत समिति सांचौर, सिरोही, सोजत व नगर पालिका भीनमाल सहित अन्य संस्थाओं के अधिकारियों को प्रकरणों के शीघ्र निस्तारण के निर्देश दिए।

अतिरिक्त निदेशक स्थानीय निधि अंकेक्षण अमिताभ योगानन्दी ने प्रगति रिपोर्ट पेश करते हुए कहा कि अधिकाधिक ऑडिट आक्षेपों के निस्तारण के सार्थक प्रयास करवाए जाएंगे।

Show More
Suresh Vyas
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned