कर्ज वसूली के तकाजे से परेशान किसान ने की आत्महत्या, अब क्या होगा पांच पुत्रियों का

भोपालगढ़ पुलिस सर्किल के खेड़ापा थानान्तर्गत चांदरख गांव में एक किसान ने कर्ज से परेशान होकर नाडी में कूदकर आत्महत्या कर ली। इस संबंध में मृतक किसान के भाई ने सोमवार देर बैंक प्रबंधक के खिलाफ उसके भाई को आत्महत्या के लिए दुष्प्रेरण का मामला खेड़ापा थाने में दर्ज करवाया है...

By: dinesh

Updated: 17 Jun 2020, 07:59 AM IST

जोधपुर/भोपालगढ़। भोपालगढ़ पुलिस सर्किल के खेड़ापा थानान्तर्गत चांदरख गांव में एक किसान ने कर्ज से परेशान होकर नाडी में कूदकर आत्महत्या कर ली। इस संबंध में मृतक किसान के भाई ने सोमवार देर बैंक प्रबंधक के खिलाफ उसके भाई को आत्महत्या के लिए दुष्प्रेरण का मामला खेड़ापा थाने में दर्ज करवाया है।

खेड़ापा थाना प्रभारी सब इंस्पेक्टर केसाराम बांता ने बताया कि थाना क्षेत्र के चांदरख गांव निवासी किसान शेरसिंह (50) पुत्र जोगसिंह राजपूत ने गत 14 जून को गांव के पास स्थित नाडी में कूदकर आत्महत्या कर ली थी। जिसके बाद उसके छोटे भाई जगमाल सिंह ने सोमवार को पुलिस थाने रिपोर्ट दी है। जिसमें मृतक किसान के भाई ने बताया कि उसका बड़ा भाई शेरसिंह पेशे से किसान था। उनके पांच पुत्रियां है। जिनकी जिम्मेदारी उन्हीं पर थी। शेरसिंह ने यूको बैंक की ओसियां शाखा से करीब पांच साल पहले तीन लाख रुपए का कर्ज लिया था। आर्थिक तंगी के कारण शेरसिंह समय पर कर्ज नहीं चुका पाया। इसको लेकर बैंक मैनेजर दिलीप बकाया कर्ज राशि की वसूली के लिए बार-बार न केवल उसके भाई पर दबाव डाल रहा था, बल्कि कर्ज नहीं चुकाने पर उसकी गिरवी रखी हुई जमीन को भी कुर्क करने की धमकी दे रहा था। बैंक मैनेजर ने उसके भाई को कुर्की का नोटिस भी दे दिया था। इससे परेशान होकर 14 जून को शेरसिंह ने नाडी में कूदकर आत्महत्या कर ली। इस पर बैंक मैनेजर दिलीप के खिलाफ किसान शेरसिंह को आत्महत्या के लिए दुष्प्रेरित करने के आरोप में मामला दर्ज किया गया है।

Show More

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned