लैपटॉप पर भ्रूण जांच का झांसा देकर गर्भवती महिलाओं को लूटता नर्स रहा, फिर यूं हुआ गिरफ्तार

लैपटॉप पर भ्रूण जांच का झांसा देकर गर्भवती महिलाओं को लूटता नर्स रहा, फिर यूं हुआ गिरफ्तार

Harshwardhan Singh Bhati | Publish: Apr, 17 2019 04:31:31 PM (IST) | Updated: Apr, 17 2019 04:31:32 PM (IST) Jodhpur, Jodhpur, Rajasthan, India

बीस हजार में भ्रूण जांच का झांसा, नर्स गिरफ्तार

जोधपुर. पीसीपीएनडीटी और ब्यूरो ऑफ इंवेस्टिगेशन टीम ने सोमवार रात सूरसागर में कालीबेरी रोड स्थित क्लिनिक पर दबिश देकर गर्भवती के भ्रूण की जांच में लिप्त नर्स को गिरफ्तार किया गया। उसे कोर्ट में पेश कर जेल भेजा गया है। गिरोह में शामिल तीन और लोगों के बारे में जांच की जा रही है। पीसीपीएनडीटी के प्राधिकारी अध्यक्ष व एनएचएम के मिशन निदेशक डॉ. समित शर्मा ने बताया कि प्रकरण में सूरसागर निवासी नरेश (25) पुत्र रामलाल भार्गव को गिरफ्तार कर उससे डेकॉय ग्राहक से भू्रण जांच के लिए वसूले बीस हजार रुपए भी बरामद किए गए हैं। विभाग की यह अब तक की 146वीं और इस वर्ष की 5वीं कार्रवाई है।

आरोपी नर्स को ऐसे फंसाया जाल में

सूरसागर में नरेश के भ्रूण जांच में शामिल होने की शिकायत मिलने के बाद पीसीपीएनडीटी की अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक शालिनी सक्सेना के निर्देशन में टीम बनाई गई। जांच में शिकायत की पुष्टि होने के बाद एक गर्भवती महिला के भ्रूण जांच के लिए उससे सम्पर्क साधा तो आरोपी ने बीस हजार रुपए मांगे। राशि तय होने पर आरोपी ने महिला को जांच के लिए सोमवार देर रात प्रतापनगर में हैण्डलूम के पास बुलाया। वह महिला को अपनी मोपेड पर बिठाकर करीब एक घंटे तक घूमाने के बाद सूरसागर में कालीबेरी रोड पर जूही क्लिनिक ले गया। वहां उसने सोनोग्राफी मशीन की जगह लेपटॉप को फिटल डोपलोर से जोड़ा और जांच का दिखावा करने लगा। कुछ देर बाद उसने गर्भ में लडक़ी होने की जानकारी दी। इतने में इशारा मिलते ही टीम ने नरेश भार्गव को पकड़ लिया।

तलाशी के दौरान क्लिनिक से लेपटॉप, गर्भ में शिशु की धडकऩ जांचने में प्रयुक्त फीटल डॉपलर व सोनोग्राफी में प्रयुक्त जैल की शीशी बरामद हुई। आरोपी लेपटॉप से भू्रण जांच का झांसा देकर महिलाओं को गलत सूचना दे देता था। इन पर विश्वास कर कई महिलाएं गर्भपात भी करवा चुकी हैं।


मिलते-जुलते नाम का सहारा

आरोपी नरेश भार्गव से पूछताछ में हनुमान चौधरी, सन्नू सेन व तेजपाल के भी गिरोह में सक्रिय होने का पता लगा है। भ्रूण की जांच में हनुमान ज्याणी पकड़ा जा चुका है। उसके नाम का फायदा उठाकर हनुमान चौधरी सक्रिय हो गया और मिलते-जुलते नाम का फायदा लेनेलगा।


हिस्ट्रीशीटर डॉक्टर से प्रभावित होकर रुपए ऐंठे

भ्रूण की जांच के लिए हिस्ट्रीशीटर डॉ इम्तियाज बदनाम है। उसके बारे में पता लगने पर नरेश भी रुपए कमाने के लिए अवैध धंधे में उतर गया। गिरोह ने भ्रूण जांच के नाम पर कई महिलाओं से रुपए ऐंठे हैं।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पड़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते है । हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते है ।
OK
Ad Block is Banned