सेमेस्टर में अंकों की जगह ग्रेडिंग सिस्टम, निर्णय आज

jnvu jodhpur

- जेएनवीयू की एकेडमिक काउंसिल आज, कई बड़े निर्णयों पर लगेगी मोहर
- वर्षों पुराना रोस्टर सिस्टम बदलेगा, पूरे विवि को माना जाएगा एक यूनिट
- संभाग के पांचों जिलों के सम्बद्ध कॉलेजों के पीजी में भी सेमेस्टर सिस्टम

By: Gajendrasingh Dahiya

Published: 25 Aug 2020, 11:55 AM IST

जोधपुर. जयनारायण व्यास विश्वविद्यालय की एकेडमिक काउंसिल मंगलवार को अपनी बैठक में कई महत्वपूर्ण निर्णय लेगी। विवि के स्नातकोत्तर में चल रहे सीबीसीएस सेमेस्टर सिस्टम में अंकों की जगह अब ग्रेडिंग सिस्टम को स्थान दिया जाएगा। गोल्ड मेडल भी ग्रेड अनुसार मिलेंगे।
एकेडमिक काउंसिल विवि में चल रहे बरसों पुराने रोस्टर सिस्टम को खत्म कर नया रोस्टर लागू करने जा रही है। पूरे विश्वविद्यालय को एक यूनिट मानकर रोस्टर तैयार किया गया है। अब तक सभी विभागों के अलग-अलग रोस्टर होते थे जिसके कारण प्रत्येक विभाग में रिक्तियों के अनुसार नियुक्तियां होती थी। यह बैठक मंगलवार दोपहर 12 बजे एमबीएम इंजीनियरिंग कॉलेज सभागार में होगी। बैठक में ईडब्ल्यूएस और एमबीसी आरक्षण निर्धारण पर चर्चा व संकाय द्वारा प्रस्तुत आगामी परीक्षाओं के पाठ्यक्रम व शोध मंडल की संस्तुतियों पर भी मुहर लगेगी।

5 जिलों के कॉलेजों में भी सेमेस्टर सिस्टम
वर्तमान में केवल जेएनवीयू के पीजी में ही सेमेस्टर सिस्टम है जबकि संभाग के जोधपुर, पाली, जालौर, बाड़मेर, जैसलमेर के संबद्ध कॉलेजों के पीजी में वार्षिक पद्धति लागू है। विवि प्रशासन अब सभी संबद्ध कॉलेजों में सेमेस्टर सिस्टम लागू करेगा, जबकि इंजीनियरिंग को छोडकऱ विवि के समस्त स्नातक पाठ्यक्रम अभी भी वार्षिक पद्धति के अनुसार संचालित हो रहे हैं।

यह भी होंगे निर्णय
- राजभवन की ओर से भेजे गए पत्र के अनुसार विवि में सभी शिक्षक व गैर शिक्षकों के लिए आचार संहिता लागू होगी।
- छात्रों को तनाव से बचाने के लिए आनंदम पाठ्यक्रम शुरू होगा। यह पाठ्यक्रम स्नातक और स्नातकोत्तर के केवल प्रथम वर्ष के लिए लागू होगा।
- एमबीएम इंजीनियरिंग कॉलेज में हाल ही में स्थापित पेट्रोलियम विभाग को अनुमति दी जाएगी। कुछ शिक्षकों ने सालाना एक करोड़ की आय देने वाले कमाऊ बिल्डिंग कंस्ट्रक्शन एंड टेक्नोलॉजी पाठ्यक्रम को बंद कर उसके स्थान पर पेट्रोलियम पाठ्यक्रम शुरू करने पर विरोध भी जताया है।

Show More
Gajendrasingh Dahiya Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned