टारगेट पूरा नहीं करने पर जोधपुर समेत एक दर्जन से अधिक जिलों को नोटिस

सरकारी योजनाओं के कामकाज ढंग से नहीं हो रहे पूरे

By: Jay Kumar

Published: 30 Dec 2020, 04:19 PM IST

जोधपुर. कोविड प्रबंधन देख रहे स्वास्थ्य विभाग के अधिकारी दूसरे सरकारी कामकाजों में पिछड़ रहे हैं। सरकारी योजनाओं के कामकाज ढंग से पूरे नहीं हो रहे हैं। इसके लिए चिकित्सा, स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण के निदेशक (आरसीएच) ने कारण बताओ नोटिस जारी किया है। प्रदेश में कई डिप्टी सीएमएचओ (परिवार एवं कल्याण), आरसीएचओ व एडिशनल सीएमएचओ ने अपना कार्य पूर्ण नहीं किया। इन्हें संस्थागत, ४ एएनसी चैकअप, प्रसव पूर्व जांच, टीकाकरण व नसबंदी के दिए गए लक्ष्य, उपलब्धि व कार्य प्रतिशत में ढंग से कार्य नहीं किया। इसको लेकर इन्हें कारण बताओ नोटिस जारी किया गया है। निदेशक (आरसीएच) ने जयपुर द्वितीय के डिप्टी सीएमएचओ परिवार कल्याण डॉ. निर्मल जैन, डिप्टी सीएमएचओ परिवार कल्याण प्रतापगढ़ के डॉ. धर्मेन्द्र आर्य, डिप्टी सीएमएचओ परिवार कल्याण चुरू के डॉ. देवकरण, एडिशनल सीएमएचओ परिवार कल्याण अलवर डॉ. केके मीना, डिप्टी सीएमएचओ परिवार कल्याण झुंझुनूं के डॉ. नवरतन जांगिड़, आरसीएचओ अलवर डॉ. अरविंद, आरसीएचओ जयपुर प्रथम डॉ. प्रवीण झरवाल, एडिशनल सीएमएचओ परिवार कल्याण बारां के डॉ. सीताराम वर्मा, बूंदी के एडिशनल सीएमएचओ परिवार कल्याण डॉ. महेंद्र कुमार त्रिपाठी, भरतपुर की एडिशनल सीएमएचओ परिवार कल्याण डॉ. कल्पना चौधरी, दौसा के डिप्टी सीएमएचओ परिवार कल्याण डॉ. सुभाष बिलोनिया, एडिशनल सीएमएचओ डूंगरपुर के डॉ. विपिन मीना, जोधपुर आरसीएचओ डॉ. कौशल दवे , जोधपुर एडिशनल सीएमएचओ डॉ. रामनिवास सेवर, जयपुर द्वितीय आरसीएचओ डॉ. पुष्पा चौधरी, एडिशनल सीएमएचओ टोंक डॉ. महबूब को नोटिस जारी किया गया हैं।

Jay Kumar
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned