scriptNow, Digital museum for historical items in the country | IIT: जानिए देश में ऐतिहासिक वस्तुओं के लिए कौन बना रहा है डिजिटल संग्राहालय | Patrika News

IIT: जानिए देश में ऐतिहासिक वस्तुओं के लिए कौन बना रहा है डिजिटल संग्राहालय

भारतीय पुरातत्व सर्वेक्षण के लिए तैयार कर रहा आइआइटी

जोधपुर

Published: July 04, 2022 08:32:20 pm

जोधपुर. आने वाले समय में आप देश के ऐसी ऐतिहासिक वस्तुएं भी देख पाएंगे, जो पहले कभी पर्यटकों/नागरिकों के लिए संग्राहलय में उपलब्ध नहीं होती थी। भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान (IIT) जोधपुर का टेक्रोलॉजी इनोवेशन सेंटर इसके लिए भारतीय पुरातत्व सर्वेक्षण (ASI) के साथ मिलकर वर्चुअल संग्राहलय की स्थापना कर रहा है। इस संग्राहलय में आइआइटी की ओर से संवर्धित वास्तविकता (AR) और आभासी वास्तविकता (VR) प्लेटफॉर्म विकसित करेगा। गौरतलब है कि आइआइटी जोधपुर एआर-वीआर टेक्रोलाजी पर काम करने वाली देश की प्रमुख आइआइटी में से एक है। भविष्य में एआर-वीआर की जरुरत को देखते हुए इस साल से एमटैक पाठ्यक्रम भी शुरू किया गया है।
IIT: जानिए देश में ऐतिहासिक वस्तुओं के लिए कौन बना रहा है डिजिटल संग्राहालय
IIT: जानिए देश में ऐतिहासिक वस्तुओं के लिए कौन बना रहा है डिजिटल संग्राहालय
पुरातत्व में युवा पीढ़ी को आकर्षित करने के लिए गेम बेस्ड प्लेटफॉर्म होगा। विभिन्न प्रकार की टेक्नोलॉजी के माध्यम से पर्यटक पुरातत्व चीजों को देखने के साथ उनका अनुभव भी कर पाएंगे। गेम बेस्ड प्लेटफॉर्म से ऐतिहासिक उत्खनन स्थलों और स्मारकों के बारे में जानने में मदद मिलेगी। हालांकि अभी तक उन स्मारको के बारे में जानकारी नहीं दी गई है, जिनको डिजिटल संग्राहलय में स्थान दिया जाएगा।
अभी तक गूगल के साथ इमर्सिव वीआर अनुभव
एएसआइ ने आगरा के ताजमहल, दिल्ली में हुमायूं का मकबरा, महाराष्ट्र की अजंता-एलोरा गुफाएं और उत्तर प्रदेश में सारनाथ सहित पांच ऐतिहासिक स्थलों पर एक इमर्सिव वीआर अनुभव प्रदान करने के लिए गूगल के कला और संस्कृति विभाग के साथ एमओयू किया था। जिसके बाद गूगल ने विशेष टेक्नोलॉजी की मदद से इनमें वीआर एक्सपीरियंस दिया है। इसे गूगल कार्ड बोर्ड वीआर हैंडसेट का उपयेाग करके स्मार्टफोन पर भी देखा जा सकता है।
30 अरब डॉलर का बाजार
वर्चुअल टेक्रोलॉजी का बाजार तेजी से बढ़ रहा है। एआर, वीआर और एमआर उत्पादों के लिए वैश्विक बाजार वर्तमान में करीब 30 अरब डॉलर का है। अगले दो साल में इसके दस गुना तक बढऩे की उम्मीद है। भारत का एआर/वीआर बाजार वर्तमान में लगभग 1.8 अरब डॉलर का है।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

Monsoon Alert : राजस्थान के आधे जिलों में कमजोर पड़ेगा मानसून, दो संभागों में ही भारी बारिश का अलर्टमुस्कुराए बांध: प्रदेश के बांधों में पानी की आवक जारी, बीसलपुर बांध के जलस्तर में छह सेंटीमीटर की हुई बढ़ोतरीराजस्थान में राशन की दुकानों पर अब गार्ड सिस्टम, मिलेगी ये सुविधाधन दायक मानी जाती हैं ये 5 अंगूठियां, लेकिन इस तरह से पहनने पर हो सकता है नुकसानस्वप्न शास्त्र: सपने में खुद को बार-बार ऊंचाई से गिरते देखना नहीं है बेवजह, जानें क्या है इसका मतलबराखी पर बेटियों को तोहफे में देना चाहता था भाई, बेटे की लालसा में दूसरे का बच्चा चुरा एक पिता बना किडनैपरबंटी-बबली ने मकान मालिक को लगाई 8 लाख रुपए की चपत, बलात्कार के केस में फंसाने की दी थी धमकीराजस्थान में ईडी की एन्ट्री, शेयर ब्रोकर को किया गिरफ्तार, पैसे लगाए बिना करोड़ों की दौलत

बड़ी खबरें

Bilkis Bano Gang Rape: आजीवन कारावास की सजा काट रहे सभी 11 दोषी रिहा, राज्य सरकार की माफी योजना के तहत जेल से आए बाहरIndependence Day 2022: भारत की आजादी के 75 साल पूरे होने पर इन देशों ने दी बधाईयां और कही ये बातKarnataka News: शिवमोग्गा में सावरकर के पोस्टर को लेकर बढ़ा विवाद, धारा 144 लागूसिंगर राहुल जैन पर कॉस्ट्यूम स्टाइलिस्ट के साथ रेप का आरोप, मुंबई पुलिस ने दर्ज की एफआईआरशख्स के मोबाइल पर गर्लफ्रेंड ने भेजा संदिग्ध मैसेज, 6 घंटे लेट हुई इंडिगो की फ्लाइट, जाने क्या है पूरा मामलासिर्फ 'हर घर' ही नहीं, 'स्पेस' में भी लहराया 'तिरंगा', एस्ट्रोनॉट राजा चारी ने अंतरिक्ष स्टेशन पर लहराते झंडे की शेयर की तस्वीरबिहार : नीतीश कुमार का बड़ा ऐलान, 20 लाख युवाओं को देंगे नौकरी और रोजगारIndependence Day 2022 : अगले 25 सालों का क्या है प्लान, पीएम मोदी के भाषण की 10 बड़ी बातें
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.