अब कैदियों के बनाए मसालों से रसोई में लगेगा तड़का

- सेन्ट्रल जेल में बंदी बना रहे खाद्य मसाले
- संभाग के पांच जिलों की जेलों में आज से होंगे सप्लाई

By: Om Prakash Tailor

Published: 01 Jul 2020, 12:00 AM IST

जोधपुर. केन्द्रीय कारागार जोधपुर में सजा काट रहे कैदियों की मेहनत से निर्मित खाद्य मसालों से न सिर्फ सेन्ट्रल जेल बल्कि संभाग के पांच जिलों की जेलों में सब्जी का तड़का लगेगा। कैदियों के हाथों से निर्मित मिर्ची व धनिया पाउडर अब बुधवार से संभाग की जेलों में भेजा जाएगा। इसके बाद मसालों को बाजार में सप्लाई करने पर होगा।
पुलिस मुख्यालय के निर्देश पर सजायाफ्त कैदियों को आत्मनिर्भर व रोजगार देने के उद्देश्य से गत दिनों खाद्य मसाले बनाने का निर्णय किया गया था। इसके लिए बाजार से साबूत लाल मिर्ची व धनिया खरीदा गया था। जिन्हें साफ कर कैदियों की मदद से मिर्ची व धनिया पीसा जाने लगा है। जेल मुख्यालय के निर्देश पर इन्हें प्लास्टिक कट्टों में भरकर एक जुलाई से जोधपुर जेल के अधीन वाले जैसलमेर, सिरोही, बाड़मेर, जालोर व पाली जिलों में खाद्य मसाले सप्लाई किए जाएंगे। इन जेलों में कैदियों के मसाले ही खाने के काम लिए जाएंगे।
अधिक उत्पादन पर बाजार में होंगे सप्लाई
जेल अधीक्षक कैलाश त्रिवेदी का कहना है कि कैदियों को रोजगार देने के उद्देश्य से जेलों में मसाने बनाने का काम किया जा रहा है। एक जुलाई से जोधपुर रेंज या केन्द्रीय कारागार के अधीन वाले जिलों की जेलों में मसाले सप्लाई किए जाएंगे। जेलों में आपूर्ति सुनिश्चित होने के बाद अधिक उत्पादन होने की स्थिति में मुख्यालय से वार्ता के बाद बाजार में सप्लाई भी किए जा सकते हैं।

Om Prakash Tailor
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned