scriptOld 500 and 1000 rupee notes remained lying in Jalore | नोटबंदी के 5 साल बाद भी जालोर में पड़े रह गए पुराने 500 व 1000 रुपए के नोट | Patrika News

नोटबंदी के 5 साल बाद भी जालोर में पड़े रह गए पुराने 500 व 1000 रुपए के नोट

- मालगढ़ में 24 लाख व घाणा में 14 लाख रुपए पड़े
- बैंक में जमा नहीं कराने से अब सोसायटी के होगा घाटा

जोधपुर

Published: November 28, 2021 06:38:58 pm

जोधपुर. प्रदेश में जालोर जिले की दो ग्राम सेवा सहकारी समितियों (जीएसएस) में पुराने 500 और 1000 रुपए के नोट के 40 लाख रुपए पड़े रह गए। नोटबंदी को पांच साल हो गए हैं लेकिन दोनों जीएसएस ने अभी तक अपने पास पुराने नोट रखे हुए हैं। बाड़मेर और सिरोही की कुछ जीएसएस में भी पुराने नोट होने के समाचार हैं। अब पुराने नोट के बदले नए नोट लेना काफी मुश्किल रहेगा। यह घाटा अब सोसायटी के सदस्यों के ऊपर आएगा। उधर रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया (आरबीआई) ने हाल ही में स्पष्ट किया है कि पुराने नोट रखना, उनको जलाना, पानी में बहाना और लेकर घूमना अपराध है। ऐसे व्यक्ति के विरुद्ध कार्यवाही की जाएगी।
नोटबंदी के 5 साल बाद भी जालोर में पड़े रह गए पुराने 500 व 1000 रुपए के नोट
नोटबंदी के 5 साल बाद भी जालोर में पड़े रह गए पुराने 500 व 1000 रुपए के नोट
केंद्र सरकार ने 8 नवम्बर 2016 को नोटबंदी लागू की थी। प्रदेश में सहकारी समितियों ने 10 नवम्बर के बाद पुराने नोट लेना बंद कर दिया। आरबीआई ने देश के विभिन्न बैंकों और संस्थाओं से अंतिम रूप से पैसे लेने के लिए 31 मार्च 2017 का समय दिया था। इतना समय होने के बावजूद जालोर की मालगढ़ और घाणा जीएसएस ने समय पर पैसे जमा नहीं कराए। मालगढ़ जीएसएस के पास 24 लाख और घाणा जीएसएस के पास 14 लाख रुपए के पुराने नोट पड़े हैं।
जीएसएस का तर्क बैंक में खाता नहीं खुलवाया
जालोर के केंद्रीय सहकारी बैंक का तर्क है कि दोनों जीएसएस ने बैंक में खाता नहीं खुलवाया था इसलिए पुराने नोट उनके पास पड़े रह गए, जबकि बैंक में खाता खुलवाना बड़ी बात नहीं है। अन्य जीएसएस ने भी पैसे जमा करवाया है। सूत्रों के मुताबिक कुछ अन्य लोगों की ब्लैक मनी को एडजस्ट करने के लिए जीएसएस ने अपने पास पुराने नोट इकठ्ठा कर लिए। यह अब जांच का विषय है। वैसे दोनों जीएसएस की 2017, 2018 और 2019 की ऑडिट रिपोर्ट में भी पुराने नोटों का जिक्र है।
......................
सरकार को बता दिया
हमने राज्य सरकार को इस बात से अवगत करा दिया है। जीएसएस ने बताया कि वे समय पर बैंक में खाता खुलवाना भूल गए इसलिए पुराने नोट पड़े रह गए।
केके मीणा, महाप्रबंधक, केंद्रीय सहकारी बैंक जालोर

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

Video Weather News: कल से प्रदेश में पूरी तरह से सक्रिय होगा पश्चिमी विक्षोभ, होगी बारिशVIDEO: राजस्थान में 24 घंटे के भीतर बारिश का दौर शुरू, शनिवार को 16 जिलों में बारिश, 5 में ओलावृष्टिदिल्ली-एनसीआर में बनेंगे छह नए मेट्रो कॉरिडोर, जानिए पूरी प्लानिंगश्री गणेश से जुड़ा उपाय : जो बनाता है धन लाभ का योग! बस ये एक कार्य करेगा आपकी रुकावटें दूर और दिलाएगा सफलता!पाकिस्तान से राजस्थान में हो रहा गंदा धंधाइन 4 राशि वाले लड़कों की सबसे ज्यादा दीवानी होती हैं लड़कियां, पत्नी के दिल पर करते हैं राजहार्दिक पांड्या ने चुनी ऑलटाइम IPL XI, रोहित शर्मा की जगह इसे बनाया कप्तानName Astrology: अपने लव पार्टनर के लिए बेहद लकी मानी जाती हैं इन नाम वाली लड़कियां

बड़ी खबरें

Corona Vaccine: वैक्सीन के लिए नई गाइडलाइंस, कोरोना से ठीक होने के कितने महीने बाद लगेगा टीकाGood News: प्रियंका चोपड़ा और निक जोनस बने माता-पिता, एक्ट्रेस ने पोस्ट शेयर कर फैंस को बताया- बेबी आया है...यूपी की हॉट विधानसभा सीट : गुरुओं की विरासत संभालने उतरे योगी आदित्यनाथ और अखिलेश यादवक्या चुनावी रैलियों पर खत्म होंगी पाबंदियां, चुनाव आयोग की अहम बैठक आजदेश विरोधी कंटेंट के खिलाफ सरकार की बड़ी कार्रवाई, 35 यूट्यूब चैनल किए ब्लॉकमंत्री ने किया दावा कहा- राज्य की खनन नीति देश में बनेगी मिसालभिलाई में ईंट से सिर कुचलकर युवक की हत्या, रातभर ठंड में अकड़ा शव, पास में मिली शराब की बोतल और पर्चीथाने से सौ मीटर दूरी पर युवक की चाकू से गोदकर हत्या, इधर पत्नी का गला घोंट स्वयं फांसी पर झूल गया पति
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.