धारा-370 हटाने के बाद पाकिस्तान के गले नहीं उतर रहे भारत के लड्डू

गणतंत्र दिवस पर सीमा सुरक्षा बल (बीएसएफ) की ओर से सीमा पार पाकिस्तानी रेंजर्स को मिठाई नहीं खिलाई जाएगी। पाकिस्तान द्वारा बार-बार भारत की मिठाई ठुकराने के कारण इस बार गृह मंत्रालय ने मिठाई नहीं भेजने का निर्णय किया है।

By: Jay Kumar

Updated: 26 Jan 2021, 02:32 PM IST

गजेन्द्र सिंह दहिया/जोधपुर। गणतंत्र दिवस पर सीमा सुरक्षा बल (बीएसएफ) की ओर से सीमा पार पाकिस्तानी रेंजर्स को मिठाई नहीं खिलाई जाएगी। पाकिस्तान द्वारा बार-बार भारत की मिठाई ठुकराने के कारण इस बार गृह मंत्रालय ने मिठाई नहीं भेजने का निर्णय किया है। अगस्त 2019 में जम्मू कश्मीर में धारा-370 हटाने के बाद पाकिस्तान अब तक भारत से मुंह फुलाए बैठा है और यहां से भेजे जाने वाले लड्डू उसके गले नहीं उतर रहे हैं। दोनों देशों ने अंतिम बार 5 जून 2019 को बकरा ईद पर सीमा पर एक दूसरे को मिठाई का आदान-प्रदान किया था।

होली, दिवाली, ईद, गणतंत्र दिवस व स्वतंत्रता दिवस जैसे पर्व पर भारत की ओर से सीमा पार ड्यूटी दे रहे पाकिस्तानी सैनिकों को मिठाई दी जाती है। बीएसएफ के जवान जम्मू कश्मीर, पंजाब, राजस्थान व गुजरात सीमा पर पाकिस्तानी रेंजर्स को मुंह मीठा करवाते हैं। पाकिस्तान भी अपने स्वतंत्रता दिवस और ईद पर भारतीय जवानों को मिठाई खिलाता है। पिछले कुछ समय से दोनों देशों की सीमा के मध्य तनाव अधिक रहने से कई बार अब यह परंपरा टूटती नजर आ रही है।

बकरा ईद पर भेजी थी अंतिम मिठाई
पांच जून 2019 को बकरा ईद पर पाक रेंजर्स ने बीएसएफ को मिठाई भेजी थी लेकिन दो महीने बाद 5 अगस्त को जम्मू कश्मीर में धारा-370 हटाने के बाद मीठी ईद, स्वतंत्रता दिवस, दिवाली पर मिठाई का आदान-प्रदान नहीं हुआ। मामला कुछ ठंडा होने पर 26 जनवरी 2020 को भारत ने मिठाई भेजी लेकिन पाकिस्तान ने इनकार कर दिया।

लगातार चौथा गणतंत्र दिवस सूखा
भारत व पाक के मध्य लगातार तनाव रहने के कारण अब एक दूसरे के त्योहरों व पर्वों पर मुंह मीठा करवाने की परंपरा खत्म होती जा रही है। भारत ने 26 जनवरी 2017 को अपने गणतंत्र दिवस पर अंतिम बार पाक का मुंह मीठा करवाया था। इस साल लगातार चौथा गणतंत्र दिवस सूखा जाएगा।

कब-कब खटाई में पड़ी परंपरा
- 26 जनवरी 2018 से पहले पाक गोलाबारी में भारत के 13 जवान मारे गए, तब मुंह मीठा नहीं हुआ।
- 16 जून 2018 को ईद-उल-फितर से पहले तनाव के कारण फिर से एक दूसरे को मिठाई नहीं भेजी।
- वर्ष 2018 में होली, स्वतंत्रता दिवस और दिवाली पर मिठाई का आदान-प्रदान हुआ।
- 26 जनवरी 2019 से पहले कश्मीर में पाक के स्नाइपर हमले में एक भारतीय जवान शहीद। बदले की कार्रवाही में पांच पाक सैनिक मारे गए और मिठाई नहीं भेजी गई।
- वर्ष 2019 में होली से पहले पाक ने पुलवामा हमला करवा दिया। मिठाई बंद।
- वर्ष 2019 में 15 अगस्त से पहले धारा-370 हटाने के कारण भारत ने मिठाई नहीं भेजी।
- 26 जनवरी 2020 को भारत ने मिठाई भेजी लेकिन पाक ने नहीं ली।
- वर्ष 2020 में बॉर्डर पूरा सूखा रहा।

इस बार हम पाकिस्तान को मिठाई नहीं भेज रहे हैं। हम भेजते हैं लेकिन वे बार-बार लौटा देते हैं।
गुरपाल सिंह, उप महानिरीक्षक, बीएसएफ बाड़मेर

Jay Kumar
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned