जेएनवीयू के दीक्षांत समारोह में नहीं मिलेगी पीएचडी डिग्री, 250 डिग्रियां पड़ी हैं पेंडिंग

जयनारायण व्यास विश्वविद्यालय का दीक्षांत समारोह नौ दिसम्बर को एमबीएम इंजीनियरिंग कॉलेज सभागार में होगा। समारोह में विवि से पीएचडी और डी. लिट करने वाले विद्यार्थियों को उपाधियां नहीं बांटी जाएंगी। एक अनुमान के मुताबिक करीब 250 पीएचडी विद्यार्थियों की डिग्रियां पेंडिंग है।

By: Harshwardhan bhati

Published: 03 Dec 2019, 04:20 PM IST

जोधपुर. जयनारायण व्यास विश्वविद्यालय का दीक्षांत समारोह नौ दिसम्बर को एमबीएम इंजीनियरिंग कॉलेज सभागार में होगा। समारोह में विवि से पीएचडी और डी. लिट करने वाले विद्यार्थियों को उपाधियां नहीं बांटी जाएंगी। एक अनुमान के मुताबिक करीब 250 पीएचडी विद्यार्थियों की डिग्रियां पेंडिंग है। दीक्षांत समारोह में विवि की सबसे बड़ी डिग्री की अवहेलना देखकर शोधार्थियों में रोष है। इसको लेकर सोमवार को पीएचडी छात्र-छात्राओं ने विवि प्रशासन के समक्ष विरोध प्रकट किया। विवि दीक्षांत समारोह में वर्ष 2017 और 2018 में स्नातक और स्नातकोत्तर परीक्षा उत्तीर्ण करने वाले छात्र छात्राओं को उपाधियां दी जाएंगी।

इनका कहना है
‘हम इस संबंध में विवि प्रशासन से वार्ता करेंगे। अगर हमें डिग्री नहीं मिलती है तो शोधार्थी दीक्षांत समारोह का बहिष्कार करेंगे।’
- सवाई सिंह राठौड़, शोध प्रतिनिधि, जेएनवीयू जोधपुर

लुभावने ऑफर देकर देशभर में कर डाली 35 करोड़ रुपए की ठगी, झांसे का आइडिया सुनकर चौंक पड़ेगे आप

जेएनवीयू: नियमित विद्यार्थियों के परीक्षा आवेदन पत्र शुरू
जोधपुर. जयनारायण व्यास विश्वविद्यालय के नियमित विद्यार्थियों के परीक्षा आवेदन सोमवार से शुरू हो गए। स्नातक कक्षाओं के सभी विद्यार्थी विवि की वेबसाइट पर ऑनलाइन आवेदन कर सकेंगे। जोधपुर के अलावा पाली, जालोर, जैसलमेर और बाड़मेर में विवि से सम्बद्ध कॉलेज के विद्यार्थियों को 31 दिसम्बर तक आवेदन करना होगा। इसके बाद विलंब शुल्क लगेगा। इंजीनियरिंग और सेमेस्टर प्रणाली के विद्यार्थी इसमें शामिल नहीं है।

देश और राज्य में बढ़ रही बलात्कार की घटनाओं पर जोधपुर की गल्र्स का फूटा आक्रोश, निकाली आक्रोश रैली

बीकॉम, बीए, बीएससी, बीसीए, बीबीए, एलएलबी सहित वार्षिक परीक्षा पद्धति की परीक्षाओं के नियमित परीक्षा आवेदन पत्र सोमवार से विवि के वेब पॉर्टल पर शुरू हो गए। ऑनलाइन परीक्षा आवेदन पत्र की हार्डकॉपी संबंधित महाविद्यालय अथवा संबंधित संकाय में जमा करवानी होगी। परीक्षा के लिए शुल्क ऑनलाइन और ऑफलाइन जमा करवाया जा सकेगा। नेट बेकिंग व डेबिट कार्ड के जरिए परीक्षा शुल्क जमा हो सकेगा। परीक्षा शुल्क की कॉपी भी संबंधित संकाय में जमा करवानी होगी।

आरसीए अध्यक्ष वैभव गहलोत पहुंचे जोधपुर, भारत बचाओ आंदोलन रैली में भाग लेने का किया आह्वान

जनवरी में विलम्ब शुल्क
एक जनवरी से आवेदन करने पर पचास रुपए विलम्ब शुल्क लगेगा। इस प्रकार 15 जनवरी तक आवेदन कर सकते हैं। इसके बाद 22 जनवरी तक दोगुने परीक्षा शुल्क के साथ आवेदन किया जा सकेगा। 22 से 29 जनवरी तक चार गुणा परीक्षा शुल्क के साथ आवेदन जमा होगा, इसके बाद आवेदन प्रक्रिया बंद कर दी जाएगी।

रेजीडेंट चिकित्सकों ने किया कार्य का बहिष्कार, विरोध के चलते मरीज हो रहे परेशान

स्वयंपाठी परीक्षार्थियों के लिए भी मौका
विवि में स्वयंपाठी परीक्षार्थियों की आवेदन प्रक्रिया भी अभी चल रही है। स्वयंपाठी परीक्षा आवेदन पत्र एक अक्टूबर से शुरू हुए थे। एक से तीस नवम्बर तक पचास रुपए विलम्ब शुल्क के साथ आवेदन हो रहा था। अब 16 दिसम्बर तक दोगुने परीक्षा शुल्क के साथ आवेदन किया जा सकता है। इसके बाद आवेदन करने पर चार गुणा परीक्षा शुल्क लगेगा। स्वयंपाठी परीक्षार्थियों के आवेदन की पूरी प्रक्रिया 31 दिसम्बर को समाप्त हो जाएगी।

Harshwardhan bhati
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned