script'Poison' flowing in rivers here, read full news | Poison---यहां नदियों में बह रहा 'जहर', पढि़ए पूरी खबर | Patrika News

Poison---यहां नदियों में बह रहा 'जहर', पढि़ए पूरी खबर

- ट्रीटमेंट प्लांट का इंतजार, नदियों में बह रहा जहर
- रीको ने प्लांट निर्माण के लिए दी थी जमीन, अभी तक मूर्तरूप नहीं ले पाया
- सांगरिया िस्थत एक ही ट्रीटमेंट प्लांट पर ही ट्रीट हो रहा शहर की 400 इकाइयों का पानी
- अवैध भूमि पर चल रही इकाइयों का अनुपचारित पानी धड़ल्ले से जोजरी व खेतों में बहाया जा रहा

जोधपुर

Published: May 11, 2022 03:21:34 pm

जोधपुर।

औद्योगिक क्षेत्रों में टैक्सटाइल फैक्ट्रियों से निकल रहे केमिकलयुक्त रंगीन पानी को ट्रीट करने के लिए सांगरिया स्थित कॉमन एफ्लूएंट ट्रीटमेंट प्लांट (सीईटीपी) के साथ ही एक और नए सीईटीपी बनाने की घोषणा की गई थी। यह नया सीईटीपी सालावास में बनना था, तांकि दोनों सीईटीपी से टैक्सटाइल व स्टील इकाइयों का अपशिष्ट पानी उपचारित होगा। इससे जोजरी सहित आसपास की नदियों व खेतों में इकाइयों के पानी जाने पर भी रोक लगेगी और नदियां व खेत स्वच्छ रहेंगे। लेकिन सालावास में बनने वाला यह सीईटीपी मूर्तरूप नहीं ले पाया है। परिणामस्वरूप, औद्योगिक क्षेत्रों में अवैध भूमि पर संचालित हो रही करीब 300-350 इकाइयों का अनुपचारित पानी जोजरी नदी व खेतों में धड़ल्ले से बहाया जा रहा है, जिससे नदियां प्रदूषित हो रही है व खेत बर्बाद हो रहे है। इसका सर्वाधिक प्रभाव विशेषकर मानसून में धवा, डोली, अराबा आदि आसपास के गांवों में देखने को मिलता है।
------
Poison---यहां नदियों में बह रहा 'जहर', पढि़ए पूरी खबर
Poison---यहां नदियों में बह रहा 'जहर', पढि़ए पूरी खबर
रीको ने फाउंडेशन को दी थी जमीन
रीको जोधपुर ने औद्योगिक विकास के लिए जोधपुर पॉल्यूशन कंट्रोल एण्ड रिसर्च फाउंडेशन को निशुल्क भूमि का आवंटन किया था। रीको ने जोधपुर विकास प्राधिकरण को करीब ढाई करोड रुपए का भुगतान कर सालावास में 25 बीघा जमीन खरीदी थी। सभी आवश्यक औपचारिकताओं के बाद रीको प्रबंधन ने टोकन राशि मात्र 1 रुपए में यह जमीन फाउंडेशन को दी थी। गौरतलब है कि एनजीटी ने भी 1 मई 2014 को दिए अपने आदेश में नई सीईटीपी की स्थापना के निर्देश दिए थे।
------ --
350 करोड़ लागत, उद्यमियों ने सरकार से सहयोग मांगा

सालावास में बनने वाला सीईटीपी 25 एमएलडी (मिलियन लीटर प्रतिदिन) क्षमता वाला होगा। साथ ही यह अत्याधुनिक (जीरो डिस्चार्ज) जेएलडी तकनीक वाला होगा। इसकी लागत करीब 300-350 करोड़ आने की अमुमान है। सालावास में सीईटीपी स्थापित होने से सालावास, बासनी, तनावड़ा में लगी औद्योगिक इकाइयां जुड़ सकेगी। हाल ही में सरकार ने एक कॉर्पस फण्ड बनाकर सीईटीपी के लिए 50 करोड़ रुपए निर्धारित किए है। उद्यमियों का कहना है कि बड़े प्रोजेक्ट के लिए यह फण्ड बहुत कम है, इस फण्ड में सरकार को और अधिक राशि का प्रावधान करना चाहिए, तभी यह प्रोजेक्ट जल्द मूर्तरूप लेने की दिशा में आगे बढ़ेगा।
----
वर्तमान सीईटीपी 20 एमएलडी क्षमता वाला
वर्तमान में सांगरिया औद्योगिक क्षेत्र में संचालित हो रहा सीईटीपी पूरी क्षमता से कार्य कर रहा है। यह सीईटीपी 20 एमएलडी क्षमता वाला है। इस प्लांट के लिए भी रीको ने वर्ष 2003 में 10 एकड़ भूमि का निशुल्क आवंटन किया था। जिस पर जोधपुर पॉल्यूशन कंट्रोल एण्ड रिसर्च फाउंडेशन ने प्लांट स्थापित किया था। इस प्लांट से करीब 315 टैक्सटाइल और 90 स्टील री-राेलिंग इकाइयां जुड़ी हुई है। टैक्सटाइल इकाइयों का अधिकतम 18.5 एमएलडी और स्टील व अन्य इकाइयों का 1.5 एमएलडी अपशिष्ट पानी उपचारित किया जा रहा है। प्लांट से प्रतिदिन करीब 1.50 करोड़ लीटर केमिकलयुक्त पानी को उपचारित किया जा रहा है।
---------
प्रदेश का सबसे बड़ा प्लांट होगा
वर्तमान में प्रदेश में जोधपुर के अलावा भिवाड़ी, पाली, बालोतरा, सांगानेर में प्लांट लगे हुए है। चार जगहों में सबसे बड़ा एक इकाई के रूप में व्यवस्थित वर्तमान संचालित प्लांट जोधपुर का है। अब नए प्लांट के बनने पर यह प्रदेश का सबसे बड़ा प्लांट होगा, क्योंकि इसकी क्षमता 25 एमएलडी होगी।
---
यह प्लांट लगना नितान्त आवश्यक है। इसकी कम्प्लांयस रिपोर्ट भी एनजीटी में प्रस्तुत करनी है। प्लांट का कार्य जोधपुर पॉल्यूशन कंट्रोल एण्ड रिसर्च फाउंडेशन ट्रस्ट के स्तर पर लंबित है।

अमित शर्मा, क्षेत्रीय अधिकारी
राजस्थान राज्य प्रदूषण नियंत्रण मण्डल, जोधपुर
--

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

नाम ज्योतिष: ससुराल वालों के लिए बेहद लकी साबित होती हैं इन अक्षर के नाम वाली लड़कियांभारतीय WWE स्टार Veer Mahaan मार खाने के बाद बौखलाए, कहा- 'शेर क्या करेगा किसी को नहीं पता'ज्योतिष अनुसार रोज सुबह इन 5 कार्यों को करने से धन की देवी मां लक्ष्मी होती हैं प्रसन्नइन राशि वालों पर देवी-देवताओं की मानी जाती है विशेष कृपा, भाग्य का भरपूर मिलता है साथअगर ठान लें तो धन कुबेर बन सकते हैं इन नाम के लोग, जानें क्या कहती है ज्योतिषIron and steel market: लोहा इस्पात बाजार में फिर से गिरावट शुरू5 बल्लेबाज जिन्होंने इंटरनेशनल क्रिकेट में 1 ओवर में 6 चौके जड़ेनोट गिनने में लगीं कई मशीनें..नोट ढ़ोते-ढ़ोते छूटे पुलिस के पसीने, जानिए कहां मिला नोटों का ढेर

बड़ी खबरें

Gyanvapi Masjid Case: ज्ञानवापी में शिवलिंग के दावे के बीच आज सुप्रीम कोर्ट में होगी सुनवाई, वाराणसी सिविल कोर्ट में 23 मई कोExclusive: ज्ञानवापी सर्वे रिपोर्ट से मंदिर-मस्जिद के सबूतों का नया अध्याय, जानें क्या है इन सर्वे रिपोर्ट मेंGood News: AIIMS दिल्ली में अब 300 रुपए तक के टेस्ट होंगे मुफ्तIPL 2022, RCB vs GT: Virat Kohli का तूफान, RCB ने जीता मुकाबला, प्लेऑफ की उम्मीदों को लगे पंखBRICS Summit: ब्रिक्स देशों के शिखर सम्मेलन में शामिल हुए भारत के विदेश मंत्री जयशंकर ने उठाया आतंकवाद का मुद्दाअफगानिस्तान में तालिबान का नया फरमान- महिला टीवी एंकर चेहरा ढककर पढ़ें खबरअमेरिकी राष्ट्रपति Biden के लिए महाराष्ट्र और आंध्र से गिफ्ट में जाएंगे आमसीएम मान ने अमित शाह से मुलाकात के बाद कहा-पंजाब में तैनात होंगे 2,000 और सुरक्षाकर्मी
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.