scriptPower cut: Crisis on cotton sowing, Annadata upset | power cut : कपास बुवाई पर संकट, अन्नदाता परेशान | Patrika News

power cut : कपास बुवाई पर संकट, अन्नदाता परेशान

- प्रदेश में 8 लाख हैक्टेयर में बुवाई का अनुमान
- जिले में 80 हज़ार हेक्टेयर में होनी है बुवाई

जोधपुर

Published: May 04, 2022 06:57:40 pm

जोधपुर।

प्रदेश में सिंचित क्षेत्र में खरीफ सीजन की कपास की बुवाई 15 अप्रेल से शुरू हो गई थी। प्रदेश में बिजली कटौती के कारण ट्यूबवेल से सिंचाई होने वाली बुवाई प्रभावित हो रही है। सरकार ने बिजली संकट के चलते कृषि क्षेत्र में 6–7 घंटे से कम करके 5 घंटे विद्युत सप्लाई के आदेश जारी किए है। हालांकि सरकार की ओर से घोषित समय से किसानों को विद्युत सप्लाई कम मिल रही है। ऐसे में किसानों को कपास बुवाई को लेकर परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। इंदिरा गांधी नहर क्षेत्र में जून से पहले सिंचाई का पानी मिलने की उम्मीद नहीं है। इससे उक्त क्षेत्र में नहरी सिंचाई पर निर्भर किसान बुवाई को लेकर आशंकित है। ऐसे में किसान दोहरे संकट में है। बिजली संकट के बीच जोधपुर, बीकानेर, नागौर जिले में अगले 10 दिन में कपास बुवाई शुरू होगी। प्रदेश में मई माह पूरा होने तक लगभग 8 लाख हैक्टेयर में बुवाई होने का अनुमान है।
power cut : कपास बुवाई पर संकट, अन्नदाता परेशान
power cut : कपास बुवाई पर संकट, अन्नदाता परेशान
------

कपास में तेजी से किसानों का बुवाई पर रुझान
गत सीजन में कपास के भावों में तेजी के चलते किसानों का कपास बिजाई को लेकर इस बार रुझान बढ़ा है। गत वर्ष जिले में 70 हजार हैक्टेयर व प्रदेश में 6 लाख हैक्टेयर में बुवाई हुई थी। इस बार जिले में 80 हजार हैक्टेयर में व प्रदेश में 8 लाख हैक्टेयर कपास की बुवाई का अनुमान है।
-----
सरकार से पर्याप्त विद्युत सप्लाई की मांग

भारतीय किसान संघ के प्रदेश मंत्री तुलछाराम सिंवर व संभाग अध्यक्ष नरेश व्यास ने बताया कि बिजली संकट के कारण किसान कपास बुवाई को लेकर आशंकित है। इंदिरा गांधी नहर मरम्मत के चलते बुवाई समय में पानी मिलने की उम्मीद कम है। वहीं ट्यूबवेल सिंचित क्षेत्र में बिजली सप्लाई संकट बनी हुई है। सरकार कृषि सिंचाई के लिए पर्याप्त विद्युत सप्लाई दे, ताकि किसानों को कपास की फसल का फायदा मिल सके ।
----
प्रदेश में कपास बुवाई का अनुमान (हैक्टेयर में)

जिला-- बुवाई अनुमान

हनुमानगढ़ -- 2.40 लाख

श्रीगंगानगर-- 1.85 लाख

जोधपुर-- 0.80 लाख

नागौर-- 0.50 लाख

भीलवाड़ा-- 0.35 लाख

अलवर-- 0.26 लाख
बीकानेर-- 0.28 लाख

झुंझुनूं-- 0.17 लाख

चुरू-- 0.11 लाख

अन्य जिलें-- 1.28 लाख

-----------------------------------------------------------

कुल 8.00 लाख
----------------------------------------------------------

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

नाम ज्योतिष: अपनी पत्नी पर खूब प्रेम लुटाते हैं इस नाम के लड़केबगैर रिजर्वेशन कर सकेंगे ट्रेन में यात्रा, भारतीय रेलवे ने जारी की सूचीनाम ज्योतिष: इन 3 नाम की लड़कियां जहां जाती हैं वहां खुशियों और धन-धान्य के लगा देती हैं ढेरजून का महीना किन 4 राशियों की चमकाएगा किस्मत और धन-धान्य के खोलेगा मार्ग, जानेंधन के देवता कुबेर की इन 4 राशियों पर हमेशा रहती है कृपा, अच्छा बैंक बैलेंस बनाने में रहते है कामयाबआपके यहां रहता है किराएदार तो हो जाएं सावधान, दर्ज हो सकती है एफआईआर24 हजार साल ठंडी कब्र में दफन रहा फिर भी निकला जिंदा, बाहर आते ही बना दिए अपने क्लोनअंक ज्योतिष अनुसार इन 3 तारीख में जन्मे लोगों के पास खूब होती है जमीन-जायदाद

बड़ी खबरें

अमरनाथ यात्रा से पहले आतंकी साजिश नाकाम, ड्रोन को गिराया, स्टिकी बम बरामदMansoon Update:समय से तीन पहले केरल में मानसून की एंट्री, हो रही बारिश, जानिए आपके यहां कब बदलेगा मौसमIPL 2022 Final मुकाबले में बन सकते हैं ये खास रिकॉर्ड, अश्विन, चहल, शमी, बटलर सभी के पास सुनहरा मौकासावधान कोई सुन रहा है आपको, फोन पर बातें सुन दिखाए जा रहे विज्ञापनMann ki baat: केदारनाथ पर गंदगी फैला रहे श्रद्धालु , प्रधानमंत्री मोदी ने कहा- तीर्थ सेवा के बिना तीर्थ यात्रा अधूरी1 जून से बदल जाएंगे ये बड़े 5 न‍ियम, आपकी जेब पर होगा सीधा असरमानापाथी हिमालय के निचले इलाके में दिखा लापता नेपाली विमान, मुस्टांग में क्रैश होने की आशंका, सवार थे 22 लोगUEFA Champions League 2022: विनिसियस जूनियर के गोल से रियाल मैड्रिड ने रचा इतिहास, लिवरपूल को हरा 14वीं बार जीता खिताब
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.