कोरोनावायरस का आतंक : अब जेल में परिजनों से नहीं मिल पाएंगे बंदी, यह रहेगी सुविधा

कोरोना वायरस के संक्रमण को फैलने से रोकने के लिए जोधपुर सैन्ट्रल जेल में बंदी व परिजन की मुलाकात पर रोक लगा दी गई है। जेल के उप महानिरीक्षक कैलाश त्रिवेदी के अनुसार जेल में बंदियों से मुलाकात अग्रिम आदेश तक स्थगित कर दी गई है। जेल महानिदेशक कार्यालय के आदेश पर यह व्यवस्था की गई है।

विकास चौधरी/जोधपुर. कोरोना वायरस के संक्रमण को फैलने से रोकने के लिए जोधपुर सैन्ट्रल जेल में बंदी व परिजन की मुलाकात पर रोक लगा दी गई है। अब कोई भी परिजन जेल में बंद अपने परिचित से आगामी आदेश तक नहीं मिल सकेगा। परिजन अब जेल में लगे एसटीडी के माध्यम से बंदी से बात कर सकेंगे।

जेल के उप महानिरीक्षक कैलाश त्रिवेदी के अनुसार जेल में बंदियों से मुलाकात अग्रिम आदेश तक स्थगित कर दी गई है। जेल महानिदेशक कार्यालय के आदेश पर यह व्यवस्था की गई है। अब यदि किसी बंदी को परिजन से बात करनी है तो वह जेल में लगे एसटीडी के मार्फत बात कर सकेगा। बंदी एक बार में पांच मिनट बात कर सकता है।

सम्पूर्ण जेल परिसर में सैनेटाइज
जेल व बंदियों को कोरोना वायरस के संक्रमण से बचाने के लिए स्वास्थ्य विभाग के साथ मिलकर जेल प्रशासन सम्पूर्ण परिसर को सैनेटाइज करवा रहा है। प्रतिदिन जेल के हर क्षेत्र में सैनेटाइज किया जा रहा है। बंदियों को मास्क दिए जा रहे हैं। इसके अलावा बाहर से आने वाले नए बंदियों के स्वास्थ्य की पूरी जांच की जा रही है। तीन दिन तक अलग वार्ड में रखा जा रहा है। पूरी तरह स्वस्थ्य होने पर ही उसे सामान्य बंदियों के साथ रखा जाता है।

बंदी तीसरे दिन भी भूख हड़ताल पर
कोरोना वायरस के संक्रमण में आने से बचने का तर्क बताकर जेल के बंदी गुरुवार को तीसरे दिन भी भूख हड़ताल पर रहे। करीब एक हजार से अधिक बंदियों ने मंगलवार से खाना छोड़ रखा है। बंदी कोरोना वारयस से बचने के लिए पैरोल या जमानत पर छोडऩे की मांग कर रहे हैं।

coronavirus COVID-19
Show More
Harshwardhan bhati Desk
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned