किसानों के रोजाना की आफत अब बनेगी सुगम

किसानों के रोजाना की आफत अब बनेगी सुगम

Pawan Kumar Pareek | Publish: Sep, 09 2018 11:55:47 PM (IST) Jodhpur, Rajasthan, India

नौसर (जोधपुर). जो भी राहगीर इस सडक़ मार्ग से गुजरता शायद वापस उस राह से निकलना पसंद नहीं करता। लोहावट पंचायत समिति के नौसर से राडिया बेरा निकलने वाली डामर सडक़ पिछले कई सालों से राहगीरों को दर्द दे रही थी। अब विभाग द्वारा वित्तीय स्वीकृति जारी हो गई। जल्द ही कार्य शुरू किया जाना है।

नौसर (जोधपुर). जो भी राहगीर इस सडक़ मार्ग से गुजरता शायद वापस उस राह से निकलना पसंद नहीं करता। लोहावट पंचायत समिति के नौसर से राडिया बेरा निकलने वाली डामर सडक़ पिछले कई सालों से राहगीरों को दर्द दे रही थी। अब विभाग द्वारा वित्तीय स्वीकृति जारी हो गई। जल्द ही कार्य शुरू किया जाना है।

साथ ही नौसर से हरलायां की टूटी सडक़ मार्ग को नवीनीकरण करने का वर्क ऑर्डर जारी कर दिया है। इन सडक़ों के सुधार से किसानों, वाहन चालकों व राहगीरों को राहत मिलेगी। ग्रामीणों ने कार्य के वित्तीय स्वीकृ ति की भनक लगने पर खुशी जताई।
पत्रिका ने उठाया मुद्दा : जगह-जगह बने गड्ढों से आमजन को हो रही परेशानी को लेकर राजस्थान पत्रिका में समय-समय पर खबरें प्रकाशित की गई। विशेषकर किसानों के लिए ये सड़क़ें रोजाना की आफत बनी हुई थी। नई सडक़ बनने से निंबो का तालाब, पल्ली, जेरिया, उनावड़ा,देणोक, बापिणी, बालेसर, चामूं, ओसियां, जोधपुर व नागौर के रूट मेंसंचालित वाहनों की राह सुगम होगी।


इन्होंने कहा
राडिया बेरा सडक़ का कार्य सप्ताह भर में शुरू कर दिया जाएगा। साथ ही हरलायां-नौसर सडक़ का भी वर्क ऑर्डर जारी कर दिया है। दोनों सडक़ें तैयार कर दी जाएगी।
दीपाराम चौधरी, एक्सईएन, सानिवी, जोधपुर।

 

इधर दो माह दो माह बाद भी नहीं खुला कटाणी रास्ता

देणोक. बरसिगों का बास ग्राम पंचायत के राजस्व ग्राम तेजासरा के खसरा नम्बर 2077 से उनावड़ा सरहद तक गुजरने वाले कटाणी रास्ते से दो माह पूर्व राजनैतिक रसूख के चलते ग्रेवल सडक़ मार्ग को जेसीबी से उखाड़ फेंकने के दो माह बाद शनिवार को कटाणी रास्ते की पैमाइश करने के लिए पहुंचे भू-निरीक्षक अधिकारी कन्हैयालाल छीपा द्वारा पूरे दिन सडक़ मार्ग की स्थिति साफ करने के लिए पैमाइशी करने का कार्य किया लेकिन स्थिति देर शाम तक साफ नहीं होने के कारण उन्हें वापस लौटना पड़ा।
इस दौरान मौके पर उपस्थित ग्रामीण पूर्व सैनिक गणपत सिंह माहेचा, गुमानाराम गोदारा, स्वरूप सिंह चम्पावत, मोहन सिंह सिन्धल, बलवन्त सिंह सांखला, मंगलाराम देवासी, सुमेर सिंह माहेचा ने बताया कि कटाणी रास्ते का विवाद उत्तर एवं दक्षिणी दिशा की ओर लेकिन विभागीय अधिकारी पैमाइश पूर्व-पश्चिमी दिशाओं की ओर से करके आरोपी द्वारा दूसरी जगह से अपनी मर्जी से बनाई सडक़ को सही बता रहे है। वहीं ग्रामीणों ने आरोप लगाया यदि चार साल पूर्व पंचायत द्वारा बिछाई गई ग्रेवल सडक़ मार्ग को एक स्थान से बदलने के बाद पूरे तीन किलोमीटर सडक़ मार्ग का स्थान बदलना पड़ेगा। एेसे में कई कई परिवारों की आवाजाही बंद हो जाएगी। वर्तमान में इस रास्ते से देवासी, पंवारों, चौहाणों एंव बरसिगों का बास से तेजासरा एवं उनावड़ा से निम्बों का तालाब के बीच का सम्पर्क भी टूट जाएगा।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

Ad Block is Banned