आगोलाई हादसे में गंभीर रूप से घायल शारदा की तीसरे दिन मौत, हादसे में अगले दिन दम तोड़ चुका था पति

मायरा भरने आ रही कार बाबूराम चला रहा था। दो बच्चों सहित छह अभी भी अस्पताल में भर्ती हैं।

जोधपुर. जोधपुर से करीब 40 किलोमीटर दूर आगोलाई के पास बीते सोमवार देर रात दो एसयूवी की आमने-सामने की भिड़ंत में 12 लोगों की मौत हो चुकी है। वहीं इस हादसे में गंभीर रूप से घायल शारदा पत्नी बाबूलाल बिश्नोई ने शुक्रवार को दम तोड़ दिया। उसके पति की हादसे में ही मौत हो चुकी थी। मरने वालों की संख्या कुल 13 हो गई है। हादसे के दौरान 10 लोगों की मौके पर ही मौत हो गई थी। वहीं अन्य दो गंभीर घायलों ने मंगलवार को दम तोड़ा था। मायरा भरने आ रही कार बाबूराम चला रहा था। दो बच्चों सहित छह अभी भी अस्पताल में भर्ती हैं।

दर्दनाक था हादसा
हादसा इतना दर्दनाक था कि एक पुरुष और एक वृद्ध महिला का सिर एसयूवी में फंसने के कारण धड़ों को अन्य शवों के साथ अस्पताल लेकर आए। हादसे में गंभीर छह घायलों को एमडीएम अस्पताल में भर्ती करवाया गया है। दोनों एसयूवी में करीब 18 से 20 लोग सवार थे। दोनों गाडिय़ां टकराने के बाद चार से पांच बार पलटी खाई। इससे वाहन में सवार लोग क्षतिग्रस्त वाहनों में फंस गए। हादसे की सूचना मिलते ही पुलिस ने ग्रामीणों की मदद से घायलों व शवों को बाहर निकाला। घायलों को एमडीएम अस्पताल लाया गया। दुर्घटना की सूचना मिलते ही बालेसर व झंवर थाना पुलिस ने मौके पर पहुंच ग्रामीणों की मदद से शवों व घायलों को बाहर निकाल एमडीएम अस्पताल ले गए।

इनकी हो चुकी है मौत
हादसे में भोजाकोर के बिश्नोई समाज की निशा पुत्री भगवानाराम, सुआ देवी, प्रेमी पत्नी राजूराम, उसकी पुत्री सीमा, बीकानेर के बज्जू निवासी धाई पत्नी पाबूराम, भलमति पत्नी जेताराम, बाबूलाल और उसकी पत्नी शारदा की मौत हो गई। वहीं दूसरी एसयूवी में सवार शेरगढ़ में सोमेसर के सोनी परिवार के गौतम पुत्र देवराज सोनी, नारायणसिंह पुत्र खींवसिंह, नारायणसिंह का भतीजा देरावर सिंह और उसका दोस्त सन्नी प्रजापत व हिंगोली के शेख नजमल इस्माइल सहित हादसे में 10 लोगों की मौत हो गई। वहीं हादसे में घायल मनीष पुत्र गौतम सोनी, मोहिनी पत्नी ओमप्रकाश बिश्नोई, पुष्पा पत्नी संतोष बिश्नोई, शिणधारी पत्नी गिरधारी, इंद्रा पत्नी जगदीश का एमडीएम अस्पताल में इलाज चल रहा है।

दो के सिर धड़ से अलग हो गए

हादसा इतना भीषण था कि एसयूवी में सवार एक पुरुष और एक महिला शख्स का सिर धड़ से अलग हो गया। ग्रामीणों ने सिर नहीं निकलने पर धड़ को अन्य शवों के साथ मोर्चरी भिजवाया।


शादी में मायरा भरने जा रहा था एक परिवार

एक कार में बिश्नोई समाज के लोग सवार थे जो भोजाकोर से जोलियाली गांव शादी में मायरा भरने आ रहे थे। दूसरी कार में सोमेसर पाली के सोनी समाज के लोग सवार थे जो जैसलमेर की तरफ जा रहे थे।

Harshwardhan bhati
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned