धार्मिक मेलों पर मंडराया कोरोना का साया, नूतन संवत्सर पर घरों में दीप प्रज्ज्वलित करने की अपील

विभिन्न समाजों-समुदायों की ओर से परम्परागत आयोजन स्थगित करने का निर्णय

By: Jay Kumar

Published: 12 Apr 2021, 06:30 PM IST


जोधपुर. कोरोना महामारी को देखते हुए विभिन्न समाजों की ओर से आगामी एक माह तक होने वाले सभी प्रमुख पर्व और त्योहारों पर शोभायात्रा व अन्य सभी धार्मिक कार्यक्रम स्थगित कर दिए गए है। भारतीय नववर्ष विक्रम संवत २०७८ आगमन के उपलक्ष्य में सभी बड़े आयोजन इस बार नहीं होंगे। गवर पूजन वाली तीजणियों की ओर से सामूहिक उद्यापन कार्यक्रम भी नहीं होंगे। सिख समाज की ओर से वैसाखी पर्व पर गुरुद्वारों में लंगर सेवा व संध्याकालीन कीर्तन कार्यक्रम स्थगित किए जा चुके है। सिंधी समाज ने भी चेटीचंड पर शोभायात्रा स्थगित कर दी है।

शोभायात्रा व अन्य सभी कार्यक्रम स्थगित
भारतीय नूतन वर्ष चैत्र शुक्ल प्रतिपदा १३ अप्रेल को मनाया जाएगा। नववर्ष महोत्सव समिति व विश्व हिंदू परिषद जोधपुर महानगर की ओर से हर प्रखंड के प्रत्येक घर मे भगवा ध्वज व शाम को दीप प्रज्ज्वलित का आग्रह किया जाएगा। विहिप मंत्री पण्डित राजेश दवे ने बताया कि कोरोना महामारी को देखते हुए शोभायात्रा व अन्य सभी कार्यक्रम स्थगित कर दिए गए है। विहिप प्रान्त अध्यक्ष डॉ राम गोयल ने बताया कि नववर्ष आयोजन के तहत महेन्द्र सिंह राजपुरोहित संजय अग्रवाल , महेन्द्र गहलोत सहित कार्यकर्ताओ की टोली शहर में दीपमालिका सजाने का कार्य करेगी ।

इस बार नहीं होंगी लंगर सेवा, रात्रिकालीन कार्यक्रम स्थगित
सिख समाज जोधपुर की ओर से खालसा पंथ का स्थापना दिवस वैसाखी १३ अप्रेल को मनाया जाएगा। गुरुद्वारा सिंह सभा के सचिव कुलदीपसिंह सलूजा ने बताया कि खालसा सृजना दिवस के उपलक्ष्य में रविवार से गुरुद्वारा गुरु सिंह सभा अखण्ड पाठ साहिब शुरू किया गया जिसकी समाप्ति मंगलवार सुबह 10.30 वजे होगी। कोरोना महामारी के कारण और प्रशासन की गाइड लाइन के चलते लंगर सेवा नहीं होगी। भक्तों को केवल प्रसादी पैकेट वितरित किए जाएंगे। रात्रि के समय होने वाले सभी धार्मिक कार्यक्रम कफ्र्यू के कारण स्थगित रहेंगे।

चेटीचंड १३ को, सभी बड़े आयोजन निरस्त
सिंधी समाज के आराध्य भगवान झूलेलाल का अवतरण दिवस चेटीचंड सादगी से मनाया जाएगा। सभी प्रमुख झूलेलाल मंदिरों में सुबह केवल सीमित पदाधिकारियों की मौजूदगी में ध्वजारोहण की रस्म होगी। विभिन्न सिंधी समाज की पंचायतों के पदाधिकारियों की ओर से समाज के लोगों से बढ़ते कोरोना मामलों को देखते हुए घरों में ही चेटीचंड उत्सव मनाने को कहा गया है। चौपासनी हाउसिंग बोर्ड स्थित झूलेलाल महल व सिन्धी पंचायत भवन सेक्टर16 में सुबह 9.30 बजे सादगीपूर्ण ध्वजारोहण किया जाएगा। सिंधी सेण्ट्रल पंचायत अध्यक्ष राम तोलानी व महासचिव लक्ष्मण खेतानी ने बताया कि सम्मान समारोह,शोभायात्रा सहित सभी बड़े आयोजन निरस्त किये गए है। सोजती गेट झूलेलाल मन्दिर में बाबा नारूमल मंडली की ओर से सुबह 10 बजे ध्वजारोहण होगा।

दर्शनार्थियों के लिए नहीं खुलेंगा मां चामुंडा का दरबार
चैत्र शुक्ल प्रतिपदा 13 अप्रेल को घर-घर घट स्थापना के साथ चैत्रीय नवरात्र आरंभ हो जाएंगे। इस बार चैत्रीय नवरात्र के दौरान मेहरानगढ़ के चामुण्डा मंदिर में दर्शनार्थियों का प्रवेश निषेध रहेगा। राज्य सरकार की गाइडलाइन, पुलिस व जिला प्रशासन के निर्देशानुसार कोरोना वायरस के बढ़ते प्रभाव के मद्देनजर दर्शनार्थियों एवं श्रद्धालुओं के हितों को ध्यान में रखते हुए यह निर्णय लिया गया है।

गवर शोभायात्रा पर भी साया
चैत्र शुक्ला तीज १५ अप्रेल को गणगौरी तीज पर सामूहिक रूप से होने वाले गवर उद्यापन इस बार नहीं होंगे। कोविड -19 के तहत सरकारी निर्देशों के चलते सिरे बाजार गणगौर की सवारी निकालने की प्रशासनिक स्वीकृति अभी तक नहीं मिली है। आयोजन समिति के अशोक लोहिया चार्ली ने बताया कि गवर शोभायात्रा के स्थान पर सीमित सदस्यों के साथ केवल गवर सवारी निकालने की स्वीकृति प्रदान करने का जिला प्रशासन से निवेदन किया गया है।

माहे रमजान की तैयारियां
चांद नजर आने के आधार पर रहमतों व बरकतों का महीना रमजान शुरू होने की घोषणा की जाएगी। सोमवार को चांद की २८ वीं रात है और संभवत: मंगलवार को चांद नजर आता है तो बुधवार को पहला रोजा शुरू होगा। रात्रिकालीन कफ्र्यू के कारण अकीदतमंदों की ओर से मस्जिदों में होने वाली इबादत घरों में होगी।

Jay Kumar
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned