लाखों की लागत से स्वीमिंग पूल तैयार, अब कोरोना का पहरा

- गौशाला मैदान का स्वीमिंग पूल इस बार भी खुलने पर संशय

- पिछले वर्ष भी कोरोना की भेंट चढ़ा था

By: Amit Dave

Published: 08 Apr 2021, 08:38 PM IST

जोधपुर।

पिछले वर्ष मार्च से जोधपुर सहित राज्य के स्वीमिंग पूल बंद पड़े है। तैराकों को अप्रेल माह में स्वीमिंग पूल खुलने की आशा थी। हाल ही में, राज्य सरकार द्वारा गाइडलाइन जारी कर स्वीमिंग पूल और जिम बंद रखने के निर्देश दिए गए है। वर्तमान में कोरोना के केस बढऩे के कारण राज्य के सभी पूल 19 अप्रेल तक बंद रखने के निर्देश दिए गए है। कोरोना संक्रमण के बढऩे से आगे भी स्वीमिंग पूल खुलेंगे या नहीं, अभी संशय बना हुआ है और तैराकों को चिंता सताने लगी है।

--

लाखों रुपए खर्च कर तैयार कराया

पिछले करीब 1 वर्ष से तैराक अभ्यास के लिए और प्रतियोगिता की तैयारी के लिए स्वीमिंग पूल खुलने की आस लगाए बैठे है लेकिन कोरोना ने स्वीमिंग पूल पर पहरा लगा दिया है। शिक्षा विभाग के अंतर्गत आने वाले शाला क्रीड़ा संगम गौशाला मैदान का स्वीमिंग पूल भी लाखों रुपए की लागत से तैयार करवाया गया है और पानी भरकर तैयार कर दिया गया लेकिन कोरोना गाइडलाइन के तहत तैराकों को अभी स्वीमिंग पूल की सुविधा नहीं मिल पाएगी।

---

लाखों का राजस्व देता पूल

गौशाला मैदान के पूल में तैराक अभ्यास कर राज्य व राष्ट्रीय स्तर की प्रतियोगिताओं में जोधपुर का नाम रोशन कर चुके है। साथ ही, गौशाला के स्वीमिंग पूल से प्रतिवर्ष शिक्षा विभाग को लाखों रुपए का राजस्व भी प्राप्त होता है। जोधपुर में अन्य स्वीमिंग पूल भी 19 अप्रेल तक बंद रहेंगे, जिसके कारण तैराकों में मायूसी है। शिक्षा विभाग के अनुसार कोरोना के बढ़ते प्रकोप के कारण इस वर्ष होने वाली तैराकी प्रतियोगिताओं पर भी आशंका के बादल मंडराने लगे हैं कि प्रतियोगिताएं होगी या नहीं। कोरोना समाप्त हो तो स्वीमिंग पूल खोले जाएंगे व प्रतियोगिताएं हो सकेगी।

--

Amit Dave Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned