लॉकडाउन ने बदली महिला पुलिसकर्मियों की दिनचर्या, परिवार की जिम्मेदारी के साथ मुस्तैदी से कर रही हैं ड्यूटी

कोरोना वायरस के चलते शहर में हुए लॉक डाउन की सख्ती से पालना करवाने के लिए इन दिनों महिला पुलिसकर्मी भी शहर के विभिन्न चौराहों पर कड़ी धूप में ड्यूटी करती नजर आ रही हैं। ड्यूटी के चलते कई महिला पुलिसकर्मियों के बच्चों की सार-संभाल की जिम्मेदारी उनके सास-ससुर व पति के जिम्मे आ गई है तो कईयों की दिनचर्या ही बदल गई।

By: Harshwardhan bhati

Updated: 06 Apr 2020, 04:19 PM IST

ओम टेलर/जोधपुर. कोरोना वायरस के चलते शहर में हुए लॉक डाउन की सख्ती से पालना करवाने के लिए इन दिनों महिला पुलिसकर्मी भी शहर के विभिन्न चौराहों पर कड़ी धूप में ड्यूटी करती नजर आ रही हैं। ड्यूटी के चलते कई महिला पुलिसकर्मियों के बच्चों की सार-संभाल की जिम्मेदारी उनके सास-ससुर व पति के जिम्मे आ गई है तो कईयों की दिनचर्या ही बदल गई। घर का आवश्यक कार्य कर फिर ड्यूटी के लिए रवाना हो रही है। सच मानें तो महिला पुलिसकर्मी इन दिनों दोहरी जिम्मेदारी निभा रही हैं। ड्यूटी के दौरान आमजन को लॉक डाउन की पालना के लिए प्रेरित करते हुए नजर आ रही है।

पीएम मोदी के चैलेंज से जगमगा उठा जोधपुर, फोटोज में देखें शहर का नजारा

अब सुबह पांच बजे उठती हूं
महिला शक्ति टीम में लगी कांस्टेबल शोभा शर्मा ने बताया कि पहले सुबह सात बजे के करीब जगती थी। अब पांच बजे जगने लगी हूं। खाना बनाकर घर का अन्य काम कर ड्यूटी के लिए रवाना हो जाती हूं। पति भी पुलिस में हैं वे भी घर के काम-काज में सहयोग कर लेते हैं।

कोरोना वायरस को लेकर भ्रामक-भड़काऊ संदेशों पर ATS-SOG की निगरानी

बच्चों को छोड़ा सासुजी के भरोसे
महिला शक्ति टीम में लगी कांस्टेबल ज्योति चौधरी ने बताया कि वह महिला शक्ति टीम में है। कोरोना वायरस के चलते इन दिनों लॉक डाउन की पालना में ट्रॉफिक ड्यूटी में लगी है। सुबह जल्दी जगकर घर का काम कर ड्यूटी के लिए रवाना होती है। सासुजी भी घर के कामों में मदद करती हैं। दिन में बच्चों की देखभाल सासुजी ही करती हैं।

coronavirus Coronavirus in india
Show More
Harshwardhan bhati Desk
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned