scriptBJP leader raised questions on police in his own government | BJP नेता ने अपनी ही सरकार में पुलिस पर उठाए सवाल, कहा 'पुलिस सपा की मानसिकता पर कर रही काम’ | Patrika News

BJP नेता ने अपनी ही सरकार में पुलिस पर उठाए सवाल, कहा 'पुलिस सपा की मानसिकता पर कर रही काम’

बर्रा थाना क्षेत्र स्थित रामगोपाल चौराहा के पास बीते बुधवार को हिंदूवादी संगठन धर्मांतरण के मामले में हंगामा कर रहे थे।

कानपुर

Published: August 14, 2021 09:39:34 pm

कानपुर. यूपी के कानपुर में युवकी की पिटाई के मामले ने राजनीतिक रंग ले लिया है। बीजेपी के बर्रा मंडल अध्यक्ष संजय पासी ने वीडियो वायरल कर अपनी ही सरकार में पुलिस पर सवाल उठाए हैं। मंडल अध्यक्ष ने कहा है कि कानपुर की पुलिस सपा मानसिकता के आधार पर कार्रवाई कर रही है। उन्होंन डीसीपी साउथ रवीना त्यागी पर एकतरफा कार्रवाई कर माहौल खराब करने का आरोप लगाया है। इसके साथ ही कहा कि बर्रा थाने के कुछ पुलिसकर्मी कूटरचित तरीके से सरकार और हिंदूवादी संगठन को बदनाम करने का काम कर रही है। दलित बेटी के साथ छेड़छाड़ और धर्म परिवर्तन का दबाव बनाया जा रहा था।
kanpur_1.jpg
यह भी पढ़ें

पश्चिमी यूपी : कहीं बाप ने घोंट दिया बेटियों का गला तो कहीं प्रेमी ने कर दी प्रेमिका और उसकी सहेली की हत्या

बर्रा थाना क्षेत्र स्थित रामगोपाल चौराहा के पास बीते बुधवार को हिंदूवादी संगठन धर्मांतरण के मामले में हंगामा कर रहे थे। इस दौरान कुछ लोगों ने ई-रिक्शा चालक की जमकर पिटाई की थी। जिसका वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल है। वीडियो में देखा जा सकता है कि ई-रिक्शा चालक को कुछ लोग बेरहमी से पीट रहे थे, रिक्शा चालक की मासूम बेटी पिता को पिटता देख रो रही थी, बच्ची पिता को छोड़ने की मिन्नतें कर रही थी। पुलिस युवक को बचाने का प्रयास कर रही थी, इसके बाद भी भीड़ में मौजूद लोग उसकी पिटाई कर रहे थे। इस मामले में पुलिस छह आरोपियों की गिरफ्तारी कर चुकी है।
पुलिस पर माहौल बिगाड़ने का आरोप

भाजपा मंडल अध्यक्ष संजय पासी के मुताबिक बर्रा में बुधवार को जो घटना घटी है। उसमें कानपुर डीसीपी रवीना त्यागी ने इस मामले को तूल देकर एकतरफा कार्रवाई की है। एक पक्ष पर मुकादमा करा कर कानपुर में माहौल खराब करने का काम कर रही हैं। यह सिर्फ हिदूत्व को दबाने का काम कर रही है। जबकि एक दलित परिवार की बेटी के साथ छेड़छाड़ और धर्म परिवर्तन का दबाव बनाया जा रहा था। दलित बेटी के साथ ऐसा बर्ताव किया गया, जिसमें पुलिस ने सिर्फ 354 का मुकदमा दर्ज किया।
पुलिस पर उठाए सवाल

बीजेपी नेता ने कहा कि मैं डीसीपी साउथ रवीना त्यागी और उच्चाधिकारियों से पूछना चाहता हूं। यदि इस घटना को संज्ञान में ले लिया गया होता, तो हिंदूवादी संगठनों को इस मामले में कूदने की जरूरत नहीं पड़ती। थानों में भ्रष्टाचार चल रहा है। मैं धर्म की बात नहीं करता हूं, सभी धर्म आपस में भाईचारे का संदेश देते हैं। प्रशासन सरकार के खिलाफ षड्यंत्र रच रहा है। एकपक्ष पर कार्रवाई कर के उन्हे उकसाने का काम कर रही हैं।
पुलिस की कार्रवाई को बताया सपा की मानसिकता से प्रेरित

बर्रा में रहने वाले एक समुदाय ने दलित बेटी के गंदा बर्ताव किया है। बेटियों को जान से मारने की धमकी, धर्मांतरण का दबाव बनाया। पीड़ित परिवार की कहीं सुनवाई नहीं हुई, तब जाकर हिंदूवादी सगंठन ने विरोध प्रदर्शन किया है। थाने के कुछ पुलिस कर्मियों ने समाजवादी पार्टी जैसा कूटरचित तरीके से हमारी पार्टी और हिंदूवादी संगठन को बदनाम करने का काम कर रही है।
एसपी के प्रतिनिधि ने पीड़ित परिवार से की मुलाकात

शनिवार को एसपी के महानगर अध्यक्ष डॉक्टर इमरान के नेृतत्व में एक प्रतिनिधि मंडल ने पीड़ित परिवार से मुलाकात की है। इसके बाद प्रतिनिधी मंडल ने एडीसीपी अनिल कुमार से मुलाकात की है। एसपी के प्रतिनिधि मंडल ने पुलिस से पीड़ित परिवार के सुरक्षा की गुहार लगाई है। इसके साथ पुलिस पर आरोप लगाया है कि आरोपियों के खिलाफ मामूली धाराओं में मुकदमा दर्ज किया गया है। यदि गंभीर धाराओं में कार्रवाई की गई होती, तो भविष्य में ऐसी घटनाएं दोबारा नहीं होती। वहीं एसपी के प्रतिनिधि मंडल ने पीड़ित परिवार को हर संभव मदद करने का भरोसा दिलाया है।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

कोरोना: शनिवार रात्री से शुरू हुआ 30 घंटे का जन अनुशासन कफ्र्यूशाहरुख खान को अपना बेटा मानने वाले दिलीप कुमार की 6800 करोड़ की संपत्ति पर अब इस शख्स का हैं अधिकारजब 57 की उम्र में सनी देओल ने मचाई सनसनी, 38 साल छोटी एक्ट्रेस के साथ किए थे बोल्ड सीनMaruti Alto हुई टॉप 5 की लिस्ट से बाहर! इस कार पर देश ने दिखाया भरोसा, कम कीमत में देती है 32Km का माइलेज़UP School News: छुट्टियाँ खत्म यूपी में 17 जनवरी से खुलेंगे स्कूल! मैनेजमेंट बच्चों को स्कूल आने के लिए नहीं कर सकता बाध्यअब वायरल फ्लू का रूप लेने लगा कोरोना, रिकवरी के दिन भी घटेCM गहलोत ने लापरवाही करने वालों को चेताया, ओमिक्रॉन को हल्के में नहीं लें2022 का पहला ग्रहण 4 राशि वालों की जिंदगी में लाएगा बड़े बदलाव

बड़ी खबरें

यूएई के अबू धाबी एयरपोर्ट पर बड़ा हमला, दो भारतीयों समेत तीन की मौतवैक्सीनेशन को लेकर बड़ा ऐलान, 12 से 14 साल तक के बच्चों को मार्च से लगेंगे टीकेPunjab Election 2022: पंजाब में चुनाव की तारीख टली, अब 20 फरवरी को होगी वोटिंग'किसी को जबरदस्ती नहीं लगाई कोरोना वैक्सीन ', केंद्र ने सुप्रीम कोर्ट में बतायाचुनाव आयोग का बड़ा फैसला, पत्रकारों सहित इन लोगों को मिलेगी पाँच राज्यों के चुनावों में पोस्टल बैलेट की सुविधाविधायक ने खड़े होकर कराई सड़कों की जांच, नमूने रखवा दिए एसडीएम ऑफिस मेंआखिर क्या है दलबदल कानून और क्यों पड़ी इसकी जरूरत, जानिए सब कुछCovid-19 से मरने वालों को पारसी तरीके से अंतिम संस्‍कार की अनुमति फिलहाल नहीं
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.