script समाजवादी इत्र बनाने वाला पीयूष जैन सपा एमएलसी का भाई, अखिलेश ने कहा छापेमारी को पार्टी से न जोड़ा जाये | Samajwadi perfume maker Piyush Jain is brother of SP MLC | Patrika News

समाजवादी इत्र बनाने वाला पीयूष जैन सपा एमएलसी का भाई, अखिलेश ने कहा छापेमारी को पार्टी से न जोड़ा जाये

locationकानपुरPublished: Dec 24, 2021 11:00:29 pm

Submitted by:

Amit Tiwari

समाजवादी इत्र बनाने वाले कानपुर के इत्र कारोबारी पीयूष जैन के प्रतिष्ठान एवं कानपुर स्थित घर पर गुरुवार को आयकर एवं जीएसटी की टीम ने छापा मारा था। इस पर एक बार फिर कारोबारी को सपा से जोड़े जाने की चर्चाएं तेज हुई तो समाजवादी पार्टी के प्रमुख अखिलेश यादव ने ट्विटर पर सफाई देनी पड़ी है। पीयूष जैन ने एक माह पहले समाजवादी इत्र की लॉन्चिंग लखनऊ में सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव ने की थी।

 

photo6210585730527375194.jpg
कानपुर में समाजवादी इत्र लॉन्च करने वाले पान मसाला व इत्र कारोबारी पीयूष जैन समाजवादी पार्टी के एमएलसी पम्पी जैन का भाई बताया जा रहा है। हालांकि समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष अखिलेश यादव ने ट्विटर पर रिट्वीट कर कहा है कि छापेमारी को सपा से न जोड़ा जाये। अखिलेश ने कहा कि पीयूष जैन का सपा एमएलसी पम्मी जैन से कोई संबंध नहीं है। वहीं समाजवादी इत्र बनाने वाले कारोबारी पीयूष जैन के यहा जीएसटी और आयकर विभाग की कार्रवाई में करीब 160 करोड़ की नकदी और कई अहम दस्तावेज जब्त किये जाने की खबर है। कारोबारी के यहां नोटों के बंडल को रखने का तरीका देख छापेमारी करने आये अफसर भी देख कर हतप्रभ रह गये। छापे में बरामद हुई नकदी को एक कंटनेर में भरकर आरबीआई पहुंचा दिया गया है।
एक माह पहले लॉन्च हुआ था समाजवादी इत्र

जानकारी के अनसार गुरुवार को कन्नौज के इत्र कारोबारी पीयूष जैन के प्रतिष्ठान एवं कानपुर स्थित घर पर आयकर एवं जीएसटी की टीम ने छापा मारा था। इस पर एक बार फिर कारोबारी को सपा से जोड़े जाने की चर्चाएं तेज हुई तो समाजवादी पार्टी के प्रमुख अखिलेश यादव ने ट्विटर पर सफाई देनी पड़ी है। बताया जाता है कि पीयूष जैन ने एक माह पहले समाजवादी इत्र की लॉन्चिंग लखनऊ में सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव ने की थी।
समाजवाद की खुशबू का किया गया था दावा

लॉन्चिंग के दौरान अखिलेश ने कहा था कि 2022 के चुनावों को देखते हुए यह इत्र 22 फूलों से बनाया गया है। इसकी खुशबू देश ही नहीं, विदेश तक फैलेगी। सपा एमएलसी पम्पी जैन ने कहा था कि यह इत्र ऐसा है, जिसके इस्तेमाल से समाजवाद की खुशबू आएगी और 2022 में नफरत खत्म कर सभी में प्रेम बढ़ाएगी।
ये भी पढ़े: यूपी में 17 हजार प्राइमरी शिक्षकों की होगी भर्ती, जनवरी में मिल जायेगा नियुक्त पत्र

आरबीआई भेजी गई करीब 160 करोड़ की नकदी

कन्नौज में पीयूष जैन की इत्र की फैक्टरी, कोल्ड स्टोरेज और पेट्रोल पंप है। इत्र कंपनी का हेड ऑफिस मुंबई में है और वहां एक घर भी है। इत्र कारोबारी पीयूष जैन के घर से आयकर विभाग को करीब 160 करोड़ रुपए से ज्यादा की रकम मिली है। डीजीजीआई की टीम पीयूष के बेटे प्रत्यूष को उनके कन्नौज के मकान में लेकर पहुंची थी। मकान की जांच करने के बाद अधिकारियों ने उसे सील कर दिया है। कानपुर वाले मकान में नोटों की गिनती पूरी हो चुकी है। यहां से जब्त किये गये रुपयों को कंटेनर में भरकर आरबीआई पहुंचा दिए गए हैं।
नोट रखने का तरीका देख दंग रह गये अफसर

छापेमारी के दौरान जो फोटो सामने आई है, उनमें दिख रहा है कि अलमारी में कर्टन में भरकर नोट रखे गए थे। 500 रुपए के नोटों की गडि्डयों के बंडल बनाकर पूरा कैश रखा गया था। इन बंडलों को ऐसे पैक कर रखा गया था कि इन्हें आराम से कहीं भी कोरियर किया जा सके। नोट रखने का यह तरीका देख छापेमारी करने आये अफसर भी हैरान रह गये।
सपा एमएलसी पम्पी जैन का पीयूष जैन से कोई लेना-देना नहीं

वहीं इत्र कारोबारी पीयूष जैन सपा एमएलसी पम्पी जैन का भाई बताया जा रहा है। हालांकि सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव ने ट्विटर पर रिट्वीट कर सफाई दी है। अखिलेश ने लिखा है कि छापेमारी को सपा से न जोड़ा जाये और सपा एमएलसी पम्पी जैन का पीयूष जैन से कोई लेना-देना नहीं है।

ट्रेंडिंग वीडियो