scriptUP Kanpur's waste number one in making electricity and compost | शोध में खुलासा, बिजली बनाने में कानपुर का कचरा नम्बर वन | Patrika News

शोध में खुलासा, बिजली बनाने में कानपुर का कचरा नम्बर वन

UP News: उत्तर प्रदेश के कानपुर का कचरा बड़े ही काम का है। यहां का कचरा खाद के लिए तो बेहतर ही है लेकिन साथ ही बिजली के लिए भी नंबर वन है।

कानपुर

Updated: August 01, 2022 11:07:05 am

कानपुर भले ही दूषित शहरों में अव्वल रहता हो पर यहां का कचरा भी काम का है। अंतरराष्ट्रीय मानकों के अनुरूप खाद और बिजली बनाने के लिए इसे काफी उपयुक्त माना गया है। ऐसा हम नहीं कह रहे बल्कि एचबीटीयू के प्रोफेसर दीपेश सिंह, रिसर्च स्कॉलर अभिषेक दीक्षित, एडिथ काउन यूनिवर्सिटी, ऑस्ट्रेलिया के संजय शुक्ला ने शहर के सॉलिड वेस्ट मैनेजमेंट पर पिछले 14 वर्षों में हुए कार्यों का अध्ययन कर अंतरराष्ट्रीय स्तर पर तुलना की है। इसका प्रकाशन इंटरनेशनल शोध पत्रिका जर्नल ऑफ मटेरियल साइकिल एंड वेस्ट मैनेजमेंट जापान में प्रकाशित हुआ है। शोध में स्पष्ट किया गया है कि जो मानक निर्धारित हैं, कानपुर का कचरा उस पर पूरी तरह खरा उतरा है। अध्ययन के मुताबिक ठोस अपशिष्ठ यानी सॉलिड वेस्ट का कार्बन/नाइट्रोजन का रिजल्ट 27.64 है, जबकि आदर्श सीमा 26 से 31 तक मानी जाती है।
UP Kanpur's waste number one in making electricity and compost
UP Kanpur's waste number one in making electricity and compost
संस्कृति बताता है यहां का कचरा

शोध पत्र में बताया गया है कि शहर से निकलने वाला कचरा यहां की संस्कृति भी बताता है। ऐसा इसलिए क्योंकि जो कचरा निकलता है वह मुख्य रूप से घरों का है। शेष इंडस्ट्री का कचरा होता है जो खतरनाक श्रेणी में होता है। कचरा शहर की क्षेत्रीय गतिविधियां, खानपान, सांस्कृतिक परंपराएं, सोशियो इकोनॉमिक गतिविधियां, मौसमी उतार-चढ़ाव पर भी आधारित होता है। कचरे में 40 फीसदी बायोडिग्रेबल, प्लास्टिक, लेदर, रबर, ग्लास आदि शामिल है। वर्ष 2021 के आंकड़ों के आधार पर 50 रुपये प्रति किचन की दर बताई गई है। इस बात पर ध्यान देना होगा कि शहर का लिट्रेसी रेट 79.65 है और 26 फीसदी आबादी स्लम एरिया में रहती है। वहीं, इसकी औसत कैलोरिफिक वैल्यू 2288 किलो कैलोरी प्रति किलोग्राम है जो बिजली उत्पादन के लिए भी सही है।
यह भी पढ़ें

शिवपाल यादव बोले, भाजपा से किया जा सकता तालमेल, सपा ने कर दिया स्वतंत्र

शहर में कूड़े के आंकड़े

1600 टन कूड़े का रोजाना उत्पादन

1200 टन कूड़े का रोजाना प्लांट के जरिए होता निस्तारण

500 टन प्लास्टिक कचरे का रोजाना उत्पादन

50 टन प्लास्टिक कचरे का प्लांट में बनता एमआरएफ
150 टन कचरा होता है रीसाइकिल

200 टन प्लास्टिक कचरा रोजाना नाले-नालियों में जा रहा

100 टन प्लास्टिक कचरा कूड़ा बीनने वाले रोजाना उठा रहे

देश में 10वें स्थान पर है कानपुर
शोध पत्र के अनुसार देश के सर्वाधिक ठोस अपशिष्ठ पैदा करने वाले 46 शहरों में कानपुर दसवें स्थान पर है। वर्ष 2020 तक के आंकड़ों पर अप्रैल 2022 में प्रकाशित इस शोध पत्र में शामिल वैज्ञानिकों का कहना है कि अब मात्रा अधिक हो गई है।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

Monsoon Alert : राजस्थान के आधे जिलों में कमजोर पड़ेगा मानसून, दो संभागों में ही भारी बारिश का अलर्टमुस्कुराए बांध: प्रदेश के बांधों में पानी की आवक जारी, बीसलपुर बांध के जलस्तर में छह सेंटीमीटर की हुई बढ़ोतरीराजस्थान में राशन की दुकानों पर अब गार्ड सिस्टम, मिलेगी ये सुविधाधन दायक मानी जाती हैं ये 5 अंगूठियां, लेकिन इस तरह से पहनने पर हो सकता है नुकसानस्वप्न शास्त्र: सपने में खुद को बार-बार ऊंचाई से गिरते देखना नहीं है बेवजह, जानें क्या है इसका मतलबराखी पर बेटियों को तोहफे में देना चाहता था भाई, बेटे की लालसा में दूसरे का बच्चा चुरा एक पिता बना किडनैपरबंटी-बबली ने मकान मालिक को लगाई 8 लाख रुपए की चपत, बलात्कार के केस में फंसाने की दी थी धमकीराजस्थान में ईडी की एन्ट्री, शेयर ब्रोकर को किया गिरफ्तार, पैसे लगाए बिना करोड़ों की दौलत

बड़ी खबरें

बिहारः कांग्रेस ने बुलाई विधायकों की बैठक, नीतीश कुमार के साथ जाने पर बन सकती है सहमति!Maharashtra Cabinet Expansion: कल 15 मंत्री लेंगे शपथ, देवेंद्र फडणवीस को मिलेगा गृह विभाग? जानें शिंदे कैबिनेट के संभावित मंत्रियों के नाम'इनकी पुरानी आदत है पूरे सिस्टम पर हमला करने की', कपिल सिब्बल के बयान पर बोले कानून मंत्री किरेण रिजिजूअरविंद केजरीवाल ने कहा- देश की राजनीति में परिवारवाद और दोस्तवाद खत्म कर भारतवाद लाएंगेAmit Shah Visit To Odisha: अमित शाह बोले- ओडिशा में अच्छे दिन अनुभव कर रहे लोग, सीएम नवीन पटनायक की तारीफ भी की'नीतीश BJP का साथ छोड़े तो हम गले लगाने को तैयार', बिहार में मचे सियासी घमासान पर बोले RJD नेता शिवानंद तिवारीगालीबाज भाजपा नेता पर रखा गया 25 हजार का इनाम, 40 टीमें तलाश में जुटीTET घोटाले में हुआ बड़ा खुलासा, शिंदे गुट के विधायक अब्दुल सत्तार की बेटियों के नाम आए सामने, शिवसेना ने बोला हमला
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.