कवर्धा में दो समुदायों के बीच हिंसक झड़प, स्थिति बिगड़ते देख कलेक्टर ने लगाया धारा 144, शहर के चप्पे-चप्पे में बल तैनात

मामला कवर्धा शहर का ही है। लोहारा नाका के पास एक खंभे पर झंडे लगाने की बात पर कुछ युवाओं का आपस में वाद विवाद हुआ। दूसरे दिन रविवार को दोनों पक्षों के दो लोगों के साथ मारपीट हुआ।

By: Dakshi Sahu

Published: 04 Oct 2021, 02:24 PM IST

कवर्धा. खंभे पर झंडा लगाने के नाम पर उपजा विवाद कवर्धा शहर में अशांति का कारण बन गया। कुछ लोगों के बीच की लड़ाई दो समुदाय की लड़ाई में बदल गया, फिर देखते ही देखते शहर का माहौल ही बदल गया। तनाव की स्थिति को देखते हुए कलेक्टर ने शहर में धारा 144 लागू कर दिया। अब भीड़ एकत्रित होने पर सीधे गिरफ्तारी होगी।

दो समुदाय के बीच हुआ विवाद
मामला कवर्धा शहर का ही है। शनिवार की रात को लोहारा नाका के पास एक खंभे पर झंडे लगाने की बात पर कुछ युवाओं का आपस में वाद विवाद हुआ। दूसरे दिन रविवार को दोनों पक्षों के दो लोगों के साथ मारपीट हुआ। फिर दोपहर करीब दो बजे विवाद और बढ़ गया। यह मारपीट दो समुदाय के बीच का विवाद बन गया।

दोपहर 3 बजे बड़ी संख्या में लोग कार्रवाई को लेकर थाना पहुंचे। बाहर से ही नारेबाजी होने लगी। इस बीच माहौल को और बिगाडऩे के लिए कुछ लोगों द्वारा पथराव कर दिया, जिससे एक युवक के चोट लगी। खून बहने लगे, जिसे तुरंत अस्पताल में भर्ती कराया गया। इसके बाद आक्रोश और बढ़ गया। फिर युवाओं की भीड़ सीधे लोहारा नाका की ओर बढ़ चली जहां से विवाद शुरू हुआ था।

ठेलों में की गई तोडफ़ोड़
शाम 5 बजे तक बस स्टैण्ड के आसपास तनाव की स्थिति बन गई। बस स्टैण्ड के आसपास कई ठेलों में तोडफ़ोड़ किया। दुकानों को बंद करा दिया गया। किसी के साथ भी मारपीट शुरू कर दिए। इस बीच लोहारा नाका के पास बड़ी संख्या में युवा कार्रवाई की मांग को लेकर प्रदर्शन करने लगे। स्थिति को देखते हुए कलेक्टर, एसपी पुलिस फोर्स के साथ पहुंचे और समझाईश देते हुए मामले को शांत कराने का प्रयास किया। बावजूद नहीं माने तो पुलिस ने मोर्चा संभाला। फोर्स ने हल्का बल का प्रयोग करते हुए डंडे चलाए और भीड़ को खदेड़ा। वहीं पर तनाव की स्थिति को देखते हुए कलेक्टर रमेश कुमार शर्मा ने शहर में धारा 144 लागू कर दिया।

संभाला मोर्चा शहरभर में पुलिस बल तैनात
रविवार शाम को बस स्टैण्ड से लेकर लोहारा नाका और ऋषभदेव चौक तक स्थिति को संभालने के लिए जिलेभर के थानों से पुलिस बल को बुलाया। साथ ही बेमेतरा जिला से भी पुलिस बल की मदद ली गई। बस स्टैण्ड और जो संवेदनशील क्षेत्र हैं वहां पर पुलिस बल तैनात कर दिए गए, क्योंकि लोग अलग-अलग जगह पर एकत्रित हो रहे थे। वहीं पुलिस टीम लगातार शहर की गस्त कर रही है। ध्यान दिया जा रहा है कि कहीं भीड़ एकत्रित न हो।

...ताकि कहीं भी भीड़ एकत्रित न हो
कवर्धा शहर में धारा 144 लागू कर दिया गया। इस धारा पर लोगों के समूह एकत्रित होने पर बापंदी है। चूंकि गर्मागरम माहौल था तो स्थिति को देखते हुए रविवार शाम से ही दुकानों को बंद कर दिया। हालांकि सोमवार से दुकानें खुली रहेगी। इसमें कोई पाबंदी नहीं है। केवल भीड़ एकत्रित नहीं होना चाहिए।

करेंगे कार्रवाई
अब आगे उन लोगों की गिरफ्तारी होगी जो कवर्धा शहर की शांति को भंग किए। सोशल मीडिया पर कोतवाली के सामने, लोहारा नाका के पास तक और युवाओं की पिटाई करते हुए वीडियो वायरल किए गए। इन वीडियो के आधार पर ही जो लोग स्थिति को तनावपूर्ण बनाने का कारण बने उन्हें ढूंढ-ढूंढकर गिरफ्तार किया जाएगा। कलेक्टर कबीरधाम रमेश कुमार शर्मा ने बताया कि तनाव की स्थिति को देखते हुए और भीड़ एकत्रित न हो इसलिए ही धारा 144 लागू किया गया है। इसमें दुकानों को बंद नहीं कराया जाएगा। केवल लोग समूह में एकत्रित न हो इसके लिए यह किया गया। स्थिति पर नजर रखे हुए हैं।

Dakshi Sahu
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned