script चार संजीवनी क्लीनिक अधूरे, दो पूर्ण होने के बावजूद नहीं हो पा रहे हैंडआेवर | Four Sanjeevani clinics are incomplete, despite two being completed | Patrika News

चार संजीवनी क्लीनिक अधूरे, दो पूर्ण होने के बावजूद नहीं हो पा रहे हैंडआेवर

locationखरगोनPublished: Dec 08, 2023 04:03:53 pm

Submitted by:

Amit Bhatore

दो विभागों के तालमेल के अभाव में नागरिकों को नहीं मिल पा रहा संजीवनी क्लीनिक का लाभ

खरगोन। छोटी मोहन टॉकीज क्षेत्र में संजीवनी क्लीनिक बन रहा है।
चार संजीवनी क्लीनिक अधूरे, दो पूर्ण होने के बावजूद नहीं हो पा रहे हैंडआेवर
पत्रिका पड़ताल

चार संजीवनी क्लीनिक अधूरे, दो पूर्ण होने के बावजूद नहीं हो पा रहे हैंडआेवर

-दो विभागों के तालमेल के अभाव में नागरिकों को नहीं मिल पा रहा संजीवनी क्लीनिक का लाभ

खरगोन. शहर के नागरिकों को बेहतर स्वास्थ्य सेवाएं उपलब्ध कराने के लिए बनाए जा रहे संजीवनी क्लीनिक अधूरे हैं। ााशहर में अलग-अलग बस्तियों में छह संजीवनी क्लीनिंग पिछले कई माह से बन रहे हैं। संजीवनी क्लीनिक का क्रियान्वयन स्वास्थ्य विभाग के माध्यम से किया जाना है। परंतु इनके निर्माण का कार्य नगर पालिका के माध्यम से कराया जा रहा है। इस प्रक्रिया में दोनों विभागों का तालमेल नहीं होने से संजीवनी क्लीनिक समय पर शुरू नहीं हो पा रहे हैं। स्वास्थ्य विभाग के अनुसार उन्हें संजीवनी क्लीनिक हैंडओवर नहीं हुए हैं। जबकि नगर पालिका का कहना है कि दो संजीवनी क्लीनिक पूर्ण हो चुके हैं। उन्हें हैंडआेवर के लिए स्वास्थ्य विभाग को सूचना दी गई है। गौरतलब है कि जिला अस्पताल पर मरीजों का दबाव अधिक है। यही वजह नागरिकों को स्थानीय स्तर पर उपचार उपलब्ध कराने के लिए संजीवनी क्लीनिक खोले जा रहे हैं। क्लीनिक में मरीजाें की साधारण बीमारियों का इलाज हो सकेगा। जिससे काफी हद तक जिला अस्पताल में मरीजों का दबाव कम हो पाएगा। साथ ही स्वास्थ सुविधा में सुधार होगा।
चार संजीवनी क्लीनिक का काम अधूरा

शहर में एक स्थान पर नवीन भवन निर्माण हो रहा है। जबकि पांच स्थानों पर पुराने भवनों को रिनोवेट कर संजीवनी क्लीनिक शुरू करने की योजना है। छोटी मोहन टाॅकीज में संजीवनी क्लीनिक का नया भवन बन रहा है। यह भवन अब तक आधा ही बन पाया है। इस भवन को बनने में अभी एक से दो माह लग सकते हैं। इसके अलावा मोतीपुरा में भवन में ताला लगा हुआ है। भवन के आसपास गंदगी पसरी है। इसी प्रकार रहीमपुरा, पुराना अस्पताल कंपाउंड, बीटीआई परिसर और डीआरपी लाइन परिसर में क्लीनिक अब तक शुरू नहीं हो सके हैं।

वर्शन

छह संजीवनी क्लीनिक बनना है। दो क्लीनिक पूर्ण हो चुके हैं। हैंडओवर के लिए सूचना दी गई है। एक भवन का काम आधा हुआ है। शेष भवन में कुछ कार्य बाकी है। -एमआर निगवाल, मुख्य नगर पालिका अधिकारी, खरगाेन

वर्शन

शहर में छह संजीवन क्लीनिक का निर्माण नगर पालिका के माध्यम से हो रहा है। इस संबंध में नगर पालिका से जानकारी ली जाएगी। -डॉ. एमएस सिसौदिया, मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी, खरगोन

ट्रेंडिंग वीडियो