scriptCollector got angry to see hostel condition, suspended suprintendent | हॉस्टल की ये हालत देख भडक़ गए कलेक्टर, बोले- अधीक्षक को सस्पेंड करो, प्राचार्य को थमाया नोटिस | Patrika News

हॉस्टल की ये हालत देख भडक़ गए कलेक्टर, बोले- अधीक्षक को सस्पेंड करो, प्राचार्य को थमाया नोटिस

locationकोरीयाPublished: Feb 10, 2024 07:22:51 pm

Collector angry: कलेक्टर ने एकलव्य आवासीय विद्यालय का औचक निरीक्षण, बालक छात्रावास में अव्यवस्था को देखकर भडक़े, लापरवाही बरतने वाले छात्रावास अधीक्षक पर होगी निलंबन की कार्रवाई

हॉस्टल की ये हालत देख भडक़ गए कलेक्टर, बोले- अधीक्षक को सस्पेंड करो, प्राचार्य को थमाया नोटिस
Collector reached in hostel
बैकुंठपुर. Collector angry: कलेक्टर विनय कुमार लंगेह ने एकलव्य आवासीय विद्यालय सोनहत और बालक छात्रावास का औचक निरीक्षण किया। इस दौरान छात्रावास के बच्चों से पढ़ाई और छात्रावास की व्यवस्थाओं के बारे में जानकारी ली। वहीं छात्रावास में अव्यवस्था को देखकर उन्होंने गहरी नाराजगी जताई और छात्रावास अधीक्षक को निलंबित करने निर्देश दिए। वहीं प्राचार्य को भी नोटिस थमाया गया।

कलेक्टर लंगेह को छात्रावास में फैली गंदगी, कमरों में अव्यवस्था, बच्चों के माध्यम से भोजन एवं सामग्री वितरण को लेकर कई शिकायत मिली। मामले में छात्रावास अधीक्षक और मंडल संयोजक को जमकर फटकार लगाई। साथ ही प्रभारी डीईओ को छात्रावास अधीक्षक को निलंबित करने निर्देश दिए।
कलेक्टर ने मंडल संयोजक को एक सप्ताह के अंदर छात्रावास की सारी अव्यवस्थाओं को ठीक करने सख्त निर्देश दिए। कलेक्टर ने कहा कि छात्रावास के बच्चों की शैक्षणिक गुणवत्ता में कमियां है। उन्होंने सहायक आयुक्त आदिवासी विकास को एकलव्य विद्यालय के प्राचार्य मोहिलाल कुर्रे को कारण बताओ नोटिस जारी किया है।
कलेक्टर ने विद्यालय एवं छात्रावास में पेयजल की समस्या का निराकरण करने लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी विभाग को पाइप लाइन बिछाकर जलापूर्ति करने निर्देश दिए हैं।

साथ ही उन्होंने आगामी बोर्ड परीक्षाओं की अच्छी तैयारी करने प्रोत्साहित किया और परीक्षा को लेकर शुभकामनाएं दी। इस दौरान एसडीएम सोनहत राकेश कुमार साहू सहित उपस्थित थे।
यह भी पढ़ें
लिफाफे में लिखा था- आप किस्मत के धनी निकले हैं, कूपन स्क्रैच किया तो निकली कार, फिर ऐसे हुआ ठगी का शिकार


मिल रही थीं कई शिकायतें
स्थानीय नागरिकों के अनुसार छात्रावास अधीक्षक सहित कोई स्टाफ रात में नहीं रहते थे। बच्चों से कैंपस के बाहर से मिट्टी खुदवा कर ढुलवाने की भी बात कहते हैं। वहीं छात्रावास में छात्र कभी-कभी रात में अधीक्षक व स्टाफ की गैर मौजूदगी में स्टंट करते देखे जाते थे। मामले में शिकायत भी हो चुकी है।

ट्रेंडिंग वीडियो