जिस अस्पताल में की चौकीदारी, मरने के बाद वहीं नेत्रदान कर गया

मंगलवार को बस से ड्यूटी से घर जाते समय दोपहर 3 बजे बस के अचानक ब्रेक लगा देने से वह गेट से बाहर गिर गया।

By: shailendra tiwari

Updated: 15 Nov 2018, 07:44 PM IST

कोटा. एमबीएस अस्पताल में तैनात चौकीदार कैलाश का निधन के बाद गुरुवार को नेत्रदान हुआ। पुलिस, रिश्तेदार व दोस्तों को साथ लेकर परिजनों से चार घंटे तक समझाइश की। उसके बाद नेत्रदान हो सका। बारां जिले के अंता निवासी कैलाश वैष्णव (24) पिछले आठ साल से गार्ड की नौकरी कर रहा था। वह प्रतिदिन रोडवेज बस से डेली अपडाउन करता था। मंगलवार को बस से ड्यूटी से घर जाते समय दोपहर 3 बजे बस के अचानक ब्रेक लगा देने से वह गेट से बाहर गिर गया। सिर पर चोट लगने से वह बेहोश हो गया। उसके इलाज के लिए एमबीएस अस्पताल लाया गया। परंतु सिर में गहरी चोट लगने के कारण कैलाश को बचाया नहीं जा सका। उसकी गुरुवार सुबह मृत्यु हो गई। अस्पताल स्टाफ ने गहरा दुख व्यक्त किया। शाइन इंडिया फ ाउंडेशन के सदस्यों ने एमबीएस अस्पताल में नेत्रदान लिया।

Prev Page 1 of 2 Next
shailendra tiwari Desk
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned