अब परिवारों की सेम्पलिंग नहीं करेगी आरआरटी टीमें

कोटा. कोटा मेडिकल कॉलेज की आरआरटी व एससीटी टीमें अब कोरोना पॉजिटिव मरीजों के सम्पर्क में आने वाले परिवारों की सेम्पलिंग नहीं करेगी। उसमें लगे डॉक्टर, नर्सिंग स्टाफ व लैब टेक्निशियन की कोविड अस्पताल में सेवाएं ली जाएंगी। यह निर्णय जयपुर से आए अतिरिक्त निदेशक के बैठक के बाद लिया गया।

By: Deepak Sharma

Published: 21 Sep 2020, 07:00 AM IST

कोटा. कोटा मेडिकल कॉलेज की आरआरटी व एससीटी टीमें अब कोरोना पॉजिटिव मरीजों के सम्पर्क में आने वाले परिवारों की सेम्पलिंग नहीं करेगी। उसमें लगे डॉक्टर, नर्सिंग स्टाफ व लैब टेक्निशियन की कोविड अस्पताल में सेवाएं ली जाएंगी। यह निर्णय जयपुर से आए अतिरिक्त निदेशक के बैठक के बाद लिया गया।

मेडिकल कॉलेज के प्राचार्य डॉ. विजय सरदाना ने बताया कि बैठक में अतिरिक्त निदेशक ने कहा था कि कोरोना के बढ़ते प्रसार व प्रभाव को देखते हुए कॉलेज प्रशासन पर मरीजों के परिजनों के सेम्पल व कॉन्टेंट टे्रसिंग का भार बहुत अधिक है। वर्तमान में सामुदायिक फैलाव की स्थिति को देखते हुए इन कार्यों का औचित्य नगण्य सा हो गया है। ऐसे में इन सेम्पलिंग को बंद कर दी जाए। सीएमएचओ पॉजिटिव मरीजों के परिजनों को प्रोटोकॉल के अनुसार दवाइयां उपलब्ध करवाने की व्यवस्था करें। यदि कोई कोविड मरीज भर्ती लायक है तो उसे भर्ती कराया जाए। यदि किसी को अपना सेम्पल करवाना है तो वह नए अस्पताल, एमबीएस अस्पताल व सीएचसी पर बनाए गए केन्द्रों पर सेम्पल दे सकता है।

सुधा अस्पताल की सेम्पलिंग पर भी लगाई रोक
चिकित्सा विभाग ने कोविड के लिए अधिकृत रानपुर व तलवंडी स्थित सुधा अस्पताल की सेम्पलिंग पर भी रोक लगा दी है। सीएमएचओ की ओर से जारी आदेश में बताया गया है कि चिकित्सा संस्थान कोविड-19 की गाइड लाइन व प्रोटोकॉल के तहत सेम्पलिंग नहीं की जा रही है। इसके अलावा चिकित्सालय से कोविड से संबंधित रिकॉर्ड संधारण व रिपोर्टिंग भी निर्धारित प्रपत्र में प्राप्त नहीं हो रही है। इस कारण ओपीडी में आने वाले रोगियों की कोविड-19 से संबंधित सेम्पलिंग अग्रिम आदेश तक बंद की जाती है।

Corona virus
Show More
Deepak Sharma
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned