बरबरी ब्रैंड ने शान बचाने को 800 करोड़ के कपड़ों और श्रृंगार के सामान को किया स्वाहा

ब्रांड बरबरी ने बीते कुछ सालों में 9 करोड़ पाउंड (807 करोड़ रुपए) के सामानों को जला दिया।

By: Saurabh Sharma

Published: 20 Jul 2018, 06:14 PM IST

नर्इ दिल्ली। दुनिया का जानामाना ब्रिटेन का ब्रांड बरबरी ने बीते कुछ सालों में 9 करोड़ पाउंड (807 करोड़ रुपए) के सामानों को जला दिया। ताज्जुब की बात तो ये है कि वो सामान था जो बिल्कुल भी यूज नहीं हुआ था आैर बिका भी नहीं था। खास बात ये है कि पिछले साल ही कंपनी की आेर से 2 करोड़ 80 लाख पाउंड (251 करोड़ रुपये) से ज्यादा के अनचाहे कपड़े और श्रृंगार के सामान (कॉस्मेटिक्स) जलाए थे। आपको बता दें कि भारत में बरबरी का पहला स्टोर 2008 में खुला था।

ताकि बची रहे शान
जानकारी के अनुसार कंपनी ने इतना नुकसान इसलिए झेला है ताकि उसके ब्रैंड की शान बनी रहे और इन उत्पादों की कोर्इ नकल ना कर सके। बरबरी अपने अनोखे ट्रेंच कोर्ट, चेक वाले स्कार्फ एवं बैगों के लिए मशहूर है। दुनियाभर में फैले खरबों के जाली कारोबार में कथित तौर पर सबसे ज्यादा इसी कंपनी की डिजाइन कॉपी की जाती है। आपको बता दें कि भारत में भी बरबरी के कपड़ों को उतना ही पसंद किया जाता है जितना दुनिया के बाकी हिस्सों में। एेसे में अपने ब्रांड की साख को बचाने के लिए कंपनी को यह कदम उठाने को मजबूर होना पड़ा।

90 करोड़ रुपए के परफ्यूम जलाए
बरबरी के ताजा बुक्स ऑफ अकाउंट्स में उत्पादों को जलाने का खुलासा हुआ है। बीते साल 251 करोड़ रुपए के जलाए हुए उत्पादों में करीब 90 करोड़ रुपए के परफ्यूम्स और कॉस्मेटिक्स थे, जिन्हें कंपनी को 2017 में अमेरिकी कंपनी कॉटी के साथ नई डील करने के बाद बर्बाद करने पड़े।

अंदाज से किया जाता है स्टाॅक तैयार
जानकारों की मानें तो शानो-शौकत के सामान वाले कारोबार में उत्पादों को बर्बाद करना आम बात है। ऐसा अपनी इंटेलेक्चुअल प्रॉपर्टी के अलावा ब्रैंड वैल्यू को संरक्षित करने के लिए किया जाता है। समस्या यह है कि कितनी बिक्री होगी, यह जाने बिना अंदाजा लगाना होता है कि अडवांस में कितना स्टॉक तैयार किया जाए। इसलिए, गलत आंकलन से कई बार सामान बच जाते हैं और कॉस्मेटिक्स एक वक्त के बाद खराब हो जाते हैं।

Show More
Saurabh Sharma
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned