Ril-Future Deal : किशोर बियानी के निजी कर्ज की वजह से फंसा है पूरा मामला

  • मीडिया रिपोर्ट के अनुसार आने वाले दस दिनों में हो सकती है करीब 23 हजार करोड़ रुपए की डील
  • डील के पूरा होते ही मुकेश अंबानी बन जाएंगे भारत के सबसे बड़े रीटेल बिजनेसमैन

By: Saurabh Sharma

Updated: 09 Aug 2020, 05:57 PM IST

नई दिल्ली। बीते दो महीने से रिलायंस फ्यूचर ग्रुप डील ( Ril-Future Deal ) को लेकर खबरों का बाजार गर्म है। वैसे डील अभी फाइनल नहीं हुई है, मामला लास्ट स्टेज में अटका हुआ है। मीडिया रिपोर्ट के अनुसार दोनों के बीच आने वाले दिनों में 10 दिनों में डील फाइन हो सकती है। जानकारी के अनुसार यह डील फ्यूचर ग्रुप ( Future Group ) के मालिक किशोर बियानी के निजी कर्ज ( Kishore Biyani Debt ) की वजह से फंसी हुई है। उन पर 2000 करोड़ रुपए का कर्ज है। दोनों कंपनियों के बीच डील को लेकर बातचीत चल रही है।

यह भी पढ़ेंः- Kotak और Axis Bank का Cox And Kings पर 1200 रुपए की धोखाधड़ी का आरोप

करीब 23 हजार करीब रुपए की डील
मीडिया रिपोर्ट के अनुसार रिलायंस इंडस्ट्रीज फ्यूचर ग्रुप के रिटेल कारोबार को अपने नाम करने का मन बना चुकी है। जिसकी इंटरप्राइज वैल्यू करीब 23 हजार करोड़ रुपए की है। जिसमें कंपनी का कर्ज शामिल है। मीडिया रिपोर्ट के अनुसार मुकेश अंबानी फ्यूचर ग्रुप के एफएमसीजी बिजनेस फ्यूचर कंज्यूमर में भी 10 से 15 फीसदी हिस्सेदारी खरीदने की प्लानिंग कर रहे हैं।

यह भी पढ़ेंः- बाढ़ के बावजूद Bihar और Kerala में खूब बंटा मुफ्त अनाज, Punjab और West Bengal में नहीं बंटा एक भी दाना

डेढ़ हफ्ते में हो सकती है डील
मीडिया रिपोर्ट के अनुसार फ्यूचर ग्रुप पर 30 सितंबर 2019 तक कुल 12,778 करोड़ का कर्ज था। 31 मार्च 2019 को यह यह कर्ज 10,951 करोड़ रुपए पर आ गया था। जानकारों की मानें तो रिलायंस इंडस्ट्रीज और फ्यूचर ग्रुप के बीच यह डील डेढ़ हफ्ते यानी 10 दिनों पूरी हो सकती है। जिसके बाद बाद मुकेश अंबानी भारत के सबसे बड़े रीटेल कारोबारी बन जाएंगे। जिसके बाद वो रिलायंस रीटेल डिसइंवेस्टमेंट का प्रोसेस शुरू कर देंगे।

यह भी पढ़ेंः- PM Modi के Booster Dose से Agriculture Sector में कैसे होगा सुधार, जानिए यहां

Show More
Saurabh Sharma
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned