Microsoft के प्रपोजल पर Tiktok का इनकार, Oracle को मिल सकती है कमान

  • बाइटडांस ने टिकटॉक बिकवाली की समयसीमा खत्म होने के चंद दिन पहले ठुकराया माइक्रोसॉफ्ट का ऑफर
  • ट्रंप ने किया था दावा, चीन का टिकटॉक का कॉर्पोरेट जासूसी करने में कर सकता है इस्तेमाल

By: Saurabh Sharma

Updated: 14 Sep 2020, 09:26 AM IST

नई दिल्ली। टिकटॉक ( Tiktok ) अमरीकी ऑपरेशंस की बिकवाली की समयसीमा में ज्यादा वक्त नहीं बचा है। अगर जल्द ही टिकटॉक को किसी अमरीकी कंपनी के हाथों में नहीं बेचा गया तो अमरीका से इस ऐप का अस्तित्व समाप्त हो सकता है। खास बात तो ये है इस बारे में पूरी जानकारी होने के बाद भी बाइटडांस ने माइक्रोसॉफ्ट ( Microsoft ) के उस प्रस्ताव को ठुकरा दिया है जिसमें टिकटॉक को खरीदने के लिए दिश गया था। इस बात की जानकारी खुद दुनिया की टेक दिग्गज कंपनी ने दी है। आपको बता दें कि माइक्रोसॉफ्ट को इसका प्रबल दावेदार माना जा रहा था। वो अमरीका की पहली ऐसी कंपनी थी जिसने सबसे पहले टिकटॉक को खरीदने की बात कही थी। अब Oracle को टिकटाॅक का प्रबल दावेदार माना जा रहा है।

एमएस को टिकटॉक नहीं बेचेगा बाइटडांस
अमरीका की ही नहीं दुनिया की सबसे बड़ी टेक कंपनियों में से एक माइक्रोसॉफ्ट ने टिकटॉक के मालिक बाइटडांस का जिक्र करते हुए कहा कि उन्होंने हमारा प्रस्ताव ठकराते हुए अमरीकी ऑपरेशंस माइक्रोसॉफ्ट को बेचने से इनकार कर दिया है। बाइटडांस का कहना है कि वो अपना ऐप एमएस को नहीं बेच रहे हैं। माइक्रोसॉफ्ट का कहना है कि उनका प्रपोजल टिकटॉक यूजर्स के लिए काफी अच्छा और नेशनल सिक्योिरटी को देखते हुए काफी अच्छा है। इससे किसी को नुकसान नहीं होगा।

यह भी पढ़ेंः- फिर सस्ता हुआ Petrol और Diesel, जानिए आपके शहर में कितने हो गए हैं दाम

ट्रंप ने किया था दावा
जब से चीन और अमरीका के बीच तनाव बढ़ा है तब से अमरीकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप की आंखों में चीनी वीडियो एप टिकटॉक काफी खटक रहा है। जिसके बाद बाद डोनाल्ड ट्रंप ने अमरीकी कंपनियों को टिकटॉक की मूल कंपनी बाइटडांस के साथ कारोबार रोकने के लिए समयसीमा निर्धारित कर दिया था। ट्रंप की ओर से दावा किया गया था कि चीन टिकटॉक का यूज सरकारी कर्मचारियों की लोकेशन ट्रैक करने, ब्लैकमेल करने के लिए डॉजियर बनाने और कॉर्पोरेट जासूसी करने में कर सकता है। जिससे अमरीकी नेशनल सिक्योरिटी को खतरा होने के साथ अमरीकी लोगों की निजी जानकारी चीन के पास पहुंच जाएगी। जिसका इस्तेमाल चीन अमरीका के खिलाफ कर सकता है। जिसके बाद से अमरीकी कंपनियों की ओर से टिकटॉक को खरीदने की रेस शुरू हो गई थी।

अमरीका में 17.5 करोड़ डाउनलोड
अमरीका में भले ही भारत से भी कम 17.5 करोड़ बार टिकटॉक को डाउनलोड किया गया हो, लेकिन बाइटडांस और अमरीका के लिए टिकटॉक कारोबारी लिहाज से काफी अहम है। इसका कारण है अमरीका में टिकटॉक की वजह से बाइटडांस का रेनेव्यू। टिकटॉक की वजह से बाइटडांस को सालाना रेवेन्यू भारत के मुकाबले वित्त वर्ष 2019-20 में 6 गुना ज्यादा था। मतलब साफ है कि टिकटॉक का कारोबार रेवेन्यू के लिहाज से अमरीका में काफी बड़ा है। आपको बता दें कि बाइटडांस का कहना है कि कंपनी ने चीन के साथ डाटा शेयर नहीं करती है।

Show More
Saurabh Sharma
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned