UP Panchayat Election Results 2021 : अखिलेश और शिवपाल के गठबंधन का कमाल, इटावा में टूटा बीजेपी की जीत का सपना

UP Panchayat Election Results 2021 : समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव और प्रगतिशील समाजवादी पार्टी लोहिया प्रमुख शिवपाल यादव को क्या करीब लाएंगे यूपी पंचायत चुनाव के नतीजे?

By: Hariom Dwivedi

Updated: 03 May 2021, 02:45 PM IST

पत्रिका न्यूज नेटवर्क
लखनऊ/इटावा. UP Panchayat Election Results 2021. यूपी पंचायत चुनाव (UP Panchayat Chunav 2021) में चाचा (शिवपाल यादव)-भतीजे (अखिलेश यादव) की जोड़ी एक बार बार फिर सुपरहिट साबित हुई है। इटावा में जिला पंचायत का चुनाव समाजवादी पार्टी और प्रगतिशील समाजवादी पार्टी लोहिया ने मिलकर लड़ा, जिसके चलते बीजेपी को हार का सामना करना पड़ा। बीते यूपी विधानसभा चुनाव और लोकसभा चुनाव में भारतीय जनता पार्टी ने इटावा में समाजवादी पार्टी को करारी शिकस्त दी थी, जिसके चलते बीजेपी पंचायत चुनाव में बड़ी जीत का दावा कर रही थी। अखिलेश यादव (Akhilesh Yadav) के चचेरे भाई अभिषेक यादव का कहना है कि गठबंबधन के कारण ही इटावा में 20 जिला पंचायत सदस्य जीत की ओर हैं। खुद चुनाव जीत चुके अभिषेक ने दावा किया कि इटावा में एक बार फिर से जिला पंचायत अध्यक्ष पद पर समाजवादी पार्टी का ही कब्जा रहेगा।

2017 के विधानसभा चुनाव से पहले चाचा-भतीजे के मध्य वर्चस्व की जंग छिड़ी थी। इसके बाद दोनों की राहें जुदा हो गईं। हालांकि, तबसे अब तक अखिलेश यादव और शिवपाल यादव (Shivpal Yadav) में सुलह की तमाम कोशिशें नाकाम रहीं। अखिलेश यादव बार-बार एडजेस्टमेंट की बात कर रहे हैं, जबकि चाचा शिवपाल यादव सपा से गठबंधन के पक्षधर हैं। अब इटावा की जीत से गदगद सपाई फिर से शिवपाल-अखिलेश को साथ लाने की कोशिश करेंगे और चाहेंगे कि दोबारा यह प्रयोग आजमाया जाये।

यह भी पढ़ें : पिघल रही है चाचा-भतीजे के रिश्तों पर जमीं बर्फ, मुलायम लाएंगे सुलह का अंतिम फॉर्मूला

32 साल से है मुलायम परिवार का कब्जा
वर्ष 1989 से इटावा जिला पंचायत अध्यक्ष की सीट पर मुलायम परिवार (Mulayam Family) का कब्जा बरकरार है। सपा के राष्ट्रीय महासचिव व राज्यसभा सदस्य रामगोपाल यादव और प्रसपा अध्यक्ष शिवपाल सिंह यादव सहित कई दिग्गज इटावा से जिला पंचायत सदस्य रहे हैं। वर्ष 2015 में शिवपाल यादव के बड़े भाई राजपाल यादव के बेटे अभिषेक यादव समाजवादी पार्टी से जिला पंचायत सदस्य का चुनाव जीत कर आए थे। इस बार भी उन्होंने ही बाजी मारी है।

यह भी पढ़ें : क्या वाकई योगी को हरा देगी चाचा-भतीजे की जोड़ी?

Hariom Dwivedi
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned