संत रविदास मंदिर गिराये जाने पर भड़कीं मायावती, केंद्र और राज्य सरकार से कर दी बड़ी मांग

- बसपा प्रमुख मायावती ने कहा कि केंद्र सरकार और दिल्ली सरकार की मिलीभगत से गिराया गया दिल्ली के तुगलकाबाद क्षेत्र स्थित संत रविदास मंदिर

By: Hariom Dwivedi

Published: 14 Aug 2019, 12:59 PM IST

लखनऊ. बसपा सुप्रीमो मायावती (Mayawati) ने संत रविदास मंदिर गिराये जाने को लेकर केंद्र (Modi Sarkar) और राज्य सरकार (Delhi Sarkar) पर निशाना साधा है। बसपा प्रमुख ने ट्वीट करते हुए कहा कि दिल्ली के तुगलकाबाद क्षेत्र में बना सन्त रविदास मन्दिर (Sant Ravidas Mandir) केन्द्र व दिल्ली सरकार की मिली-भगत से गिरवाये जाने का बहुजन समाज पार्टी सख्त विरोध करती है। इससे इनकी आज भी हमारे सन्तों के प्रति हीन व जातिवादी मानसिकता साफ झलकती है। एक ट्टवीट में मायावती ने कहा कि बसपा की मांग है कि इस मामले में यह दोनों सरकारें कोई बीच का रास्ता निकालें और अपने खर्चे से ही मन्दिर का फिर से निर्माण करवायें। गौरतलब है कि सुप्रीम कोर्ट के आदेश के बाद दिल्ली के तुगलकाबाद इलाके में संत रविदास का मंदिर ढहा दिया गया। इसके बाद देश के कई हिस्सों में दलित समुदाय के लोग गुस्से में हैं और विरोध कर रहे हैं।

सोनभद्र मामले पर घड़ियाली आंसू न बहाएं सपा-कांग्रेस : मायावती
कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी (Priyanka Gandhi) के दूसरी बार सोनभद्र ( Sonbhadra Case) जाने पर मायावती ने कहा कि सोनभद्र काण्ड के पीड़ित आदिवासियों के मुताबिक, पहले कांग्रेस व फिर सपा के भू-माफियाओं ने इनकी जमीन हड़प ली, जिसका विरोध करने पर, इनके कई लोगों को मौत के घाट उतार दिया गया। अब मामले में समाजवादी पार्टी (Samajwadi Party) और कांग्रेस (Congress) को घड़ियाली आंसू बहाने की बजाय, पीड़िता आदिवासियों की जमीन वापस दिलाने के लिए आगे आना चाहिए। एक और ट्वीट में मायावती ने कहा कि अब बसपा मांग करती है कि भारतीय जनता पार्टी की सरकार मामले में सख्त कदम उठाकर, आदिवासियों की जमीन वापस करे।

Congress
Show More
Hariom Dwivedi
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned