सोनभद्र पहुंचने से पहले प्रियंका के ट्वीट ने मचाई खलबली, कहा- उम्भा में करने जा रही हूं यह काम, बीजेपी ने बताया पॉलिटिकल स्टंट

सोनभद्र पहुंचने से पहले प्रियंका के ट्वीट ने मचाई खलबली, कहा- उम्भा में करने जा रही हूं यह काम, बीजेपी ने बताया पॉलिटिकल स्टंट

Hariom Dwivedi | Updated: 13 Aug 2019, 01:39:02 PM (IST) Lucknow, Lucknow, Uttar Pradesh, India

- फिर सुर्खियों में है कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा का सोनभद्र दौरा
- डिप्टी सीएम दिनेश शर्मा बोले- प्रियंका का सोनभद्र विजिट महज पॉलिटिकल स्टंट

लखनऊ. कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा (Priyanka Gandhi) का सोनभद्र दौरा एक बार सुर्खियों में है। भारतीय जनता पार्टी ने इसे पॉलिटिकल स्टंट करार दिया है तो प्रियंका गांधी का कहना है कि वह अपना वादा पूरा करने आई हैं। मंगलवार को प्रियंका गांधी वाड्रा सोनभद्र दौरे पर हैं। घोरावल तहसील के उभ्भा गांव में जमीनी विवाद में हुए नरसंहार (Sonbhadra Narsanhar) के पीड़ित परिजनों से मुलाकात करेंगी। इससे पहले भी उन्होंने 19 जुलाई को पीड़ित परिजनों से मुलाकात की थी और 10-10 लाख रुपए की आर्थिक सहायता दी थी।

सोनभद्र पहुंचने से पहले कांग्रेस महासचिव ने ट्वीट करते हुए कहा कि सोनभद्र जिले चुनार के किले पर मिलने आए उभ्भा गांव के पीड़ित परिवारों के सदस्यों से मैंने वादा किया था कि उनके गांव आऊंगी। आज मैं उभ्भा गांव के बहनों-भाइयों और बच्चों से मिलने, उनका हालचाल सुनने-देखने, उनका संघर्ष साझा करने सोनभद्र जा रही हूं।

यह भी पढ़ें : 24 घंटे में प्रियंका ने कांग्रेस में फूंक दी जान, सभी कांग्रेसी हुए सक्रिय

डिप्टी सीएम बोले- पॉलिटिकल स्टंट
प्रियंका के सोनभद्र दौरे पर उत्तर प्रदेश उपमुख्यमंत्री डॉ. दिनेश शर्मा (Dinesh Sharma) ने कहा कि मुझे लगता है कि उनका यह दौरा मीडिया ट्रायल या राजनीतिक स्टंट का हिस्सा मात्र है। डिप्टी सीएम ने कहा कि प्रियंका को पश्चाताप की भावना के साथ सोनभद्र जाना चाहिए, क्योंकि यह घटना सत्ता में रह चुके कांग्रेसी नेताओं द्वारा किए गए भूमि अधिग्रहण से जुड़ी है।

सोनभद्र कांड में हुई थी 10 लोगों की हत्या
बीती 17 जुलाई को सोनभद्र जिले के उम्भा गांव में जमीनी विवाद को लेकर नरसंहार हुआ था, जिसमें 10 लोगों की हत्या कर दी गई थी और कई लोग घायल हुए थे। सोनभद्र कांड के बाद प्रियंका पीड़ित परिवार से मिलने जा रही थीं, लेकिन पुलिस ने उन्हें रोक लिया, इसके बाद वह धरने पर बैठ गईं। इसके बाद उन्हें पीड़ित परिवार से मिलने दिया गया। सीएम योगी भी उम्भा गांव पहुंचे थे। जांच रिपोर्ट आने के बाद सोनभद्र के डीएम और एसपी को हटा दिया। मामले में 28 लोगों के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया गया है। एसआइटी पूरे मामले की जांच कर रही है।

यह भी पढ़ें : सोनभद्र हत्याकांड पर अखिलेश और प्रियंका गांधी का आया बहुत बड़ा बयान

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned