उन्नाव गैंगरेप केस में सीबीआई का बड़ा एक्शन, MLA कुलदीप सिंह सेंगर समेत 10 लोगों के खिलाफ दर्ज किया केस

उन्नाव गैंगरेप केस में सीबीआई का बड़ा एक्शन, MLA कुलदीप सिंह सेंगर समेत 10 लोगों के खिलाफ दर्ज किया केस

Nitin Srivastva | Updated: 31 Jul 2019, 11:37:04 AM (IST) Lucknow, Lucknow, Uttar Pradesh, India

- CBI ने MLA Kuldeep Singh Sengar समेत 10 के खिलाफ दर्ज किया मुकदमा

- उन्नाव गैंगरेप पीड़ित (Unnao Gangrape Victim) लखनऊ ट्रामा सेंटर में लड़ रही जिंदगी-मौत की जंग

- सीबीआई ने माखी दुष्कर्म कांड (Makhi Gangrape Case) में दर्ज किये अब तक पांच केस

लखनऊ. उन्नाव गैंगरेप कांड (Unnao Gangrape Case) की पीड़ित के एक्सीडेंट मामले में भारतीय जनता पार्टी (Bhartiya Janta Party) के निलंबित विधायक कुलदीप सिंह सेंगर (Kuldeep Singh Sengar) समेत 10 लोगों के खिलाफ सीबीआइ (CBI) ने मुकदमा दर्ज कर लिया है। प्रदेश की योगी आदित्यनाथ सरकार (Yogi Adityanath Governmant) की संस्तुति पर केंद्र ने 24 घंटे के अंदर ही सीबीआइ जांच (CBI Investigation) की अधिसूचना जारी कर दी थी। जिसके बाद सीबीआई (CBI) ने मंगलवार देर रात केस दर्ज करने की तैयारी शुरू कर दी थी। जानकारी के मुताबिक आज किसी भी समय सीबीआई (CBI) घटनास्थल जाकर वहां का निरीक्षण करेगी। आपको बता दें कि उन्नाव गैंगरेप पीड़ित रविवार को अपनी चाची, मौसी और वकील के साथ कार से रायबरेली जिला जेल में बंद अपने चाचा से मिलने जा रही थी। तभी उनकी कार सामने से आ रहे अनियंत्रित तेज रफ्तार ट्रक के पिछले हिस्से से टकरा गई थी। हादसे में पीड़िता की चाची और मौसी की मौत हो गई थी। चाची दुष्कर्म मामले में सीबीआइ की गवाह थीं, जबकि गंभीर रूप से घायल पीड़िता और वकील का लखनऊ स्थित ट्रॉमा (KGMU Trauma Center) सेंटर में इलाज चल रहा है, जहां दोनों की हालत अभी गंभीर बताई जा रही है।

 

यह भी पढ़ें: सीबीआई करेगी उन्नाव गैंगरेप पीड़ित के साथ हुए हादसे की जांच, योगी सरकार की सिफारिश को केंद्र की मंजूरी


सीबीआई ने दर्ज की एफआईआर

सीबीआइ (CBI) ने लखनऊ (Lucknow) में दर्ज किये गये मुकदमे में पुलिस द्वारा रायबरेली (Raebareli) के गुरुबख्शगंज थाने (Gurubakshganj Thana) में दर्ज हत्या के मुकदमे को आधार बनाया है। रायबरेली के गुरुबख्शगंज थाने में भाजपा विधायक कुलदीप सिंह सेंगर (BJP MLA Kuldeep Singh Sengar) समेत 10 नामजद और 15-20 अज्ञात के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया गया था। यह एफआइआर सोमवार को रायबरेली जेल में बंद पीड़ित किशोरी के चाचा की तहरीर पर दर्ज की गई थी। पुलिस ने इस मामले में 302 (हत्या), 307 (जानलेवा हमला), 506 (जान से मारने की धमकी) और 120-बी (आपराधिक षड्यंत्र) धाराओं में मुकदमा दर्ज किया था। सीबीआई ने इसी मुकदमे को आधार बनाया है। रायबरेली जेल में बंद पीड़ित किशोरी के चाचा की कारागार अधीक्षक (Raebareli Jail Superintendent) के जरिये दी गई तहरीर का आधार पर पुलिस ने मुकदमा दर्ज किया था। इस मुकदमे में बांगरमऊ (उन्नाव) से भाजपा विधायक कुलदीप सेंगर के अलावा उसके भाई मनोज सिंह सेंगर (Manoj Singh Sengar), विनोद मिश्र, हरिपाल सिंह, नवीन सिंह, कोमल सिंह, अरुण सिंह, ज्ञानेंद्र सिंह, रिंकू सिंह और अधिवक्ता अवधेश सिंह आरोपित हैं।


सीबीआई ने दर्ज किये अबतक पांच केस

सीबीआई माखी दुष्कर्म कांड (Makhi Gangrape Case) में अब तक पांच केस दर्ज कर चुकी है। इनमें पीड़ित किशोरी से सामूहिक दुष्कर्म (Gangrape), पॉक्सो एक्ट (POCSO ACT), पीड़ित के पिता को पीटने और झूठे मुकदमे में फंसाकर जेल भेजने के मामले भी शामिल हैं। सीबीआइ (CBI) इनमें तीन केस में आरोपपत्र (Chargesheet) भी दाखिल कर चुकी है। सामूहिक दुष्कर्म के केस में आरोपपत्र (Unnao Gangrape Case Chargesheet) अभी दाखिल नहीं किया गया है। अब सीबीआइ (CBI) ने माखी दुष्कर्म कांड की पीड़ित (Unnao Gang Rape Victim Accident) के साथ रायबरेली में हुई दुर्घटना मामले में भी केस दर्ज किया है। सीबीआइ ने आरोपित विधायक कुलदीप सिंह सेंगर (Kuldeep Singh Sengar) को 13 अप्रैल, 2018 को गिरफ्तार किया था, जिसके बाद से वह सीतापुर जेल में है।

 

यह भी पढ़ें: उन्नाव गैंगरेप पीड़ित के एक्सीडेंट केस में ट्रक को लेकर बहुत बड़ा खुलासा, सपा के इस नेता का नाम आया सामने

 

Show More
खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned