आईईटी के तीन दिवसीय तकनीकी महोत्सव 'पराक्रम' का आगाज

आईईटी के तीन दिवसीय तकनीकी महोत्सव 'पराक्रम' का आगाज

Prashant Srivastava | Publish: Apr, 13 2018 08:43:31 PM (IST) Lucknow, Uttar Pradesh, India

आईईटी के तीन दिवसीय तकनीकी महोत्सव 'पराक्रम' का आगाज शुक्रवार को हुआ।

लखनऊ. आईईटी के तीन दिवसीय तकनीकी महोत्सव 'पराक्रम' का आगाज शुक्रवार को हुआ। इस अवसर पर मुख्य अतिथि के रूप में प्रो. वीके. सिंह (हेड ,स्टार्टअप आई.ई.टी.) विशिष्ट अतिथि के रूप में अब्दुल कलाम प्राविधिक विश्विद्यालय के प्रतिकुलपति प्रो कैलाश नारायण अपर्णा मिश्रा जी(ceo & फाउंडर, cafebiz), संस्थान के निदेशक प्रो एच.के. पालीवाल जी, प्रो ओ.पी. सिंह (चेयरमैन,ISSACC ), डॉ पुष्कर त्रिपाठी (मेंबर स्टार्टअप IET), डॉ पवन कुमार तिवारी (मेंबर, स्टार्टअप IET) उपस्थित रहे।

अपर्णा शर्मा जी ने अपने वक्तव्य में दर्शकों को उद्यमशीलता के गुण सिखाये और अपने अनुभव साझा किये तथा सफलता के लिए उन्हें Dream,Dare,Passion का मंत्र दिया।संस्थान के निदेशक प्रो एच.के.पालीवाल ने उद्यमशीलता को बढ़ावा देने के लिए निवेश हेतु बेहतर माहौल बनाने तथा लाइसेंस राज के खात्मे पर जोर दिया।उन्होंने प्रो सृजन पाल सिंह(कलाम सेंटर फॉर इन्क्यूबेशन) का उद्यमशीलता को बढ़ावा देने के लिए धन्यवाद दिया। कार्यक्रम को सफल बनाने में फैकल्टी संयोजक डॉ पवन कुमार तिवारी जी तथा डॉ पारुल यादव जी का मार्गदर्शन महत्वपूर्ण रहा।

इसके बाद मोटिवेशनल स्पीकर 'ओमकार खुल्लर' जी ने अपनी प्रस्तुति से युवा दर्शकों में जोश भरा। साथ ही साथ विभिन्न प्रकार के प्रैंक द्वारा दर्शको का मनोरंजन किया।इसी क्रम में संतोष राय जी (सी. ई.ओ. एंड मैनेजिंग डायरेक्टर LSS pvt Ltd), शआज़म सिद्दीकी जी( चीफ मेंटर , masterslab.in) व सौरव सिंह जी(कंसल्टेंट,kciis) ने दर्शको से अपने उद्यमशीलता के विचार साझा किए।


आयोजन के क्रम में आगे संस्थान के विभिन्न क्लब सम्मिलित हुए तथा अपने विषय मे दर्शको को बताया।इनमे fractal(कोडिंग क्लब),नक्षत्र(एस्ट्रोनॉमी क्लब), रोबोटिक्स क्लब, तथा SAE क्लब प्रमुख थे।इसके बाद AKTU परिक्रमा कार्यक्रम का आयोजन हुआ जिसमे विभिन्न टीमो ने अपने बिज़नेस आईडिया की प्रस्तुति दी। इसके निर्णायक मंडल में आजम सिद्दीकी, डॉ पुष्कर त्रिपाठी एवं सौरव सिंह सम्मिलित थे। छात्रों के मनोरंजन के लिए पेंटबॉल खेल का भी आयोजन हुआ। कार्यक्रम को सफल बनाने में छात्र संयोजक आयुष निरंजन तथा नीलम का महत्वपूर्ण योगदान रहा।

Ad Block is Banned