scriptIllegal Auto Taxi Stand Will not Operate after 30 April in UP | 30 अप्रैल के बाद सड़कों पर नहीं दिखेंगे ऑटो-टैक्सी स्टैंड, संचालकों के खिलाफ गैंगस्टर एक्ट के तहत कार्रवाई | Patrika News

30 अप्रैल के बाद सड़कों पर नहीं दिखेंगे ऑटो-टैक्सी स्टैंड, संचालकों के खिलाफ गैंगस्टर एक्ट के तहत कार्रवाई

योगी सरकार ने 30 अप्रैल तक पूरे प्रदेश में ऐसे सभी अवैध टैक्सी स्टैंड को खत्म करने के निर्देश दिए हैं। साथ ही इन्हें संचालित करने वालों को माफिया के रूप में चिन्हित कर उनके खिलाफ गुंडा, गैंगस्टर व अन्य गंभीर धाराओं के तहत कार्रवाई की जाएगी।

लखनऊ

Published: April 24, 2022 01:19:47 pm

उत्तर प्रदेश की सड़कों से अवैध ऑटो और टैक्सी स्टैंड हटाए जाएंगे। योगी सरकार ने 30 अप्रैल तक पूरे प्रदेश में ऐसे सभी अवैध टैक्सी स्टैंड को खत्म करने के निर्देश दिए हैं। साथ ही इन्हें संचालित करने वालों को माफिया के रूप में चिन्हित कर उनके खिलाफ गुंडा, गैंगस्टर व अन्य गंभीर धाराओं के तहत कार्रवाई की जाएगी। सरकार के निर्देश के अनुसार 30 अप्रैल के बाद जिस भी इलाके में अवैध बस स्टैंड पाए जाएंगे वहां के अधिकारियों के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी। अपर मुख्य सचिव गृह अवनीश अवस्थी ने इस संबंध में निर्देश जारी किए हैं। उन्होंने सभी पुलिस कमिश्नर, डीएम और पुलिस कप्तानों को निर्देश जारी किए हैं। इसके अनुसार, न सिर्फ प्रदेश में अवैध स्टैंड हटेंगे बल्कि संचालकों को प्रमाणपत्र भी देना होगा कि उनके यहां कोई अवैध स्टैंड नहीं है।
Illegal Auto Taxi Stand Will not Operate after 30 April in UP
Auto Taxi Stand File Photo
हादसे की वजह बन सकते हैं अवैध स्टैंड

जारी किए गए निर्देश में कहा गया है कि इस तरह के अवैध स्टैंड हादसों की वजह बन सकते हैं। ऐसे में कहा गया है कि पुलिस, जिला प्रशासन संबंधित विभागों के अधिकारियों के साथ मिलकर एक सप्ताह का विशेष अभियान चलाएं और ऐसे सभी अवैध स्टैंड बंद करवाएं। पुलिस, प्रशासन, नगर निगम व आरटीओ द्वारा तय किए गए स्थानों से ही वाहन चलें और सवारियां बैठाएं और उतारें।
यह भी पढ़ें

गर्मी से राहत नहीं, 25 अप्रैल के बाद हीट वेव का पूर्वानुमान, तापमान पहुंचेगा 44 पार

प्रमाणपत्र देना होगा जरूरी

अपर मुख्य सचिव गृह ने कहा कि 30 अप्रैल तक सभी पुलिस आयुक्त, पुलिस कप्तान और डीएम संयुक्त हस्ताक्षर से अभियान के दौरान की गई कार्रवाई की रिपोर्ट भेजें। साथ ही संचालकों को प्रमाण पत्र भी भेजना होगा कि उनके यहां कोई भी अवैध स्टैंड संचालित नहीं हो रहा। अफसरों को सभी इलाकों का निरीक्षण करना होगा। अवैध स्टैंड संचालित की सूचनाएं आने पर कार्रवाई की जाएगी।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

बड़ी खबरें

राजस्थान में इंटरनेट कर्फ्यू खत्म, 12 जिलों में नेट चालू, पांच जिलों में सुबह खत्म होगी नेटबंदीनूपुर शर्मा पर डबल बेंच की टिप्पणियों को वापस लिया जाए, सुप्रीम कोर्ट के चीफ जस्टिस के समक्ष दाखिल की गई Letter PettitionENG vs IND Edgbaston Test Day 1 Live: ऋषभ पंत के शतक की बदौलत भारतीय टीम मजबूत स्थिति मेंMaharashtra Politics: महाराष्ट्र बीजेपी अध्यक्ष चंद्रकांत पाटिल ने देवेंद्र फडणवीस के डिप्टी सीएम बनने की बताई असली वजह, कही यह बातजंगल में सर्चिंग कर रहे जवानों पर नक्सलियों ने की फायरिंगपंचायत चुनाव: दो पुलिस थानों ने की कार्रवाई, प्रत्याशी का चुनाव चिन्ह छाता तो उसने ट्राली भर छाता बंटवाने भेजे, पुलिस ने किए जब्तMonsoon/ शहर में साढ़े आठ इंच बारिश से सडक़ों पर सैलाब जैसा नजारा, जन जीवन प्रभावित2 जुलाई को छ.ग. बंद: उदयपुर की घटना का असर छत्तीसगढ़ में, कई दलों ने खोला मोर्चा
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.