scriptलोकसभा चुनाव 2024; यूपी में दबंग नेताओं की ‘खाल’ खीचेंगे वरिष्ठ IPS अमिताभ यश, मिली बड़ी जिम्मेदारी | Lok Sabha Elections 2024 Update Senior IPS Amitabh Yash made nodal in-charge in UP | Patrika News

लोकसभा चुनाव 2024; यूपी में दबंग नेताओं की ‘खाल’ खीचेंगे वरिष्ठ IPS अमिताभ यश, मिली बड़ी जिम्मेदारी

locationलखनऊPublished: Mar 02, 2024 10:32:27 pm

Submitted by:

Vishnu Bajpai

Lok Sabha Elections 2024: यूपी में वरिष्ठ IPS अमिताभ यश को लोकसभा चुनाव 2024 की कमान सौंपी गई है। प्रदेश के डीजीपी प्रशांत कुमार ने निर्बाध और निष्पक्ष चुनाव के लिए उन्हें यूपी का नोडल प्रभारी बनाया है। आइए जानते हैं पूरा मामला…

senior_ips_amitabh_yash.jpg

यूपी में वरिष्ठ आईपीएस अमिताभ यश को मिली लोकसभा चुनाव 2024 की जिम्मेदारी।

Lok Sabha Elections 2024 Update: उत्तर प्रदेश में लोकसभा चुनाव के मद्देनजर लगातार तबादलों का सिलसिला जारी है। इसी क्रम में यूपी पुलिस के मुखिया यानी डीजीपी प्रशांत कुमार ने एडीजी लॉ एंड ऑर्डर की जिम्मेदारी संभाल रहे वरिष्ठ आईपीएस अमिताभ यश को यूपी में आम चुनाव 2024 का नोडल प्रभारी बनाया है। इसके बाद अब से लेकर लोकसभा चुनाव पूर्ण होने तक सभी अधिकारी वरिष्ठ आईपीएस अमिताभ यश को ही अपनी रिर्पोट देंगे। ये जिम्मेदारी उन्हें उनकी कार्यशैली की वजह से दी गई है। मीडिया रिपोर्ट की मानें तो तेज तर्रार आईपीएस अधिकारी अमिताभ यश को यह जिम्मेदारी इसलिए दी गई है। ताकि लोकसभा चुनाव 2024 में किसी भी तरह से कोई गड़बड़ी न होने पाए। यानी यूपी पुलिस ने यूपी में लोकसभा चुनाव 2024 के दौरान दबंग किस्म के लोगों पर पूरी तरह अंकुश लगाने की तैयारी कर ली है।

जानकारी के मुताबिक, वर्तमान समय में अमिताभ यश के पास स्पेशल टास्क फोर्स के साथ-साथ एडीजी लॉ एंड ऑर्डर की भी कमान है। इसके साथ उन्हें लोक सभा चुनाव के लिये बड़ी जिम्मेदारी सौंपी गई है। आज यानी कि, शुक्रवार को डीजीपी प्रशांत कुमार ने एडीजी एसटीएफ, लॉ एंड ऑर्डर अमिताभ यश को लोकसभा चुनाव का नोडल प्रभारी नियुक्त करने की घोषणा की है। मीडिया रिपोर्ट के अनुसार वरिष्ठ आईपीएस अमिताभ यश को एनकाउंटर स्पेशलिस्ट के नाम से जाना जाता है। ऐसे में कहा जा रहा है कि आईपीएस अमिताभ यश को लोकसभा चुनाव 2024 में यूपी का नोडल प्रभारी बनाए जाने के बाद दबंग किस्म के नेताओं की भी नींद उड़ी है।
यह भी पढ़ें

योगी सरकार ने जामा मस्जिद के बाद बसई मेट्रो स्टेशन का नाम बदला, शहीद कैप्टन शुभम गुप्ता के पिता ने जताई खुशी



आपको बता दें कि, बिहार के भोजपुर से आने वाले अमिताभ के पिता राम यश सिंह भी आईपीएस थे। अपनी स्‍कूली पढ़ाई दिल्‍ली के सेंट स्‍टीफेंस कॉलेज से पूरी करने के बाद उन्‍होंने UPSC की परीक्षा पास की और IPS बने। प्रदेश में अम‍िताभ यश को एनकाउंटर स्‍पेशि‍ल‍िस्‍ट के रूप में जाना जाता है। एसटीएफ के एडीजी हाल ही में अतीक अहमद के बेटे असद के एनकाउंटर के बाद सुर्खियों में आए थे।
यहां पढ़िए लखनऊ की ताजा खबरें Lucknow Latest News

उन्हीं के नेतृत्व में टीम ने असद और उसके साथी गुलाम को ढेर किया था। इसके साथ ही उनके नेतृत्व में ही चंबल घाटी में निर्भय गैंग का सफाया, ददुआ गैंग का एनकाउंटर, बिकरू कांड के मास्टरमाइंड विकास दुबे का एनकाउंटर कार पलटने के नाम से मशहूर है। अपने कार्यकाल में उन्होंने अब तक 150 से ज्यादा एनकाउंटर किए हैं। अमिताभ यश मई 2017 से यूपी एसटीएफ के चीफ हैं। वे सरकार के करीबी अफसर माने जाते हैं। उन्हें दो बार राष्ट्रपति के गैलंट्री अवॉर्ड भी मिल चुके हैं।

ट्रेंडिंग वीडियो