यूपी में अब 17 मई सुबह तक कोरोना कर्फ्यू, पाबंदियां तोड़ी तो खैर नहीं

Curfew Extended In Uttar Pradesh : कोरोना वायरस पर लगाम लगाने के लिए एक बार फिर लॉकडाउन या आंशिक कोरोना कर्फ़्यू को 17 मई सुबह सात बजे तक बढ़ा दिया गया है।

By: Mahendra Pratap

Published: 09 May 2021, 06:40 PM IST

पत्रिका न्यूज नेटवर्क

लखनऊ. Curfew Extended In Uttar Pradesh : कोरोना वायरस पर लगाम लगाने के लिए एक बार फिर लॉकडाउन या आंशिक कोरोना कर्फ़्यू को 17 मई सुबह सात बजे तक बढ़ा दिया गया है। इस दौरान आंशिक कोरोना कर्फ़्यू गाइडलाइन का सख्ती से पालन किया जाएगा। नियम तोड़ने वालों पर कड़ी कार्रवाई की जाएगी। सरकार ने सभी जिला प्रशासन को गांवों में वैक्सीनेशन और सैनिटाइजेशन को तेज करने का निर्देश दिया है। इस दौरान आवश्यक वस्तुओं, दवा की दुकान समेत ई-कॉमर्स आपूर्ति जारी रहेगी।

यूपी सरकार कोविड ड्यूटी पर मरने वालों के आश्रितों को देगी 50 लाख रुपए

उत्तर प्रदेश में संपूर्ण लॉकडाउन के फैसले पर योगी सरकार अभी हिचक रही है। और कोरोना संक्रमण की चेन तोड़ने के लिए धीरे-धीरे कदम उठा रही है। पहले शनिवार-रविवार की साप्ताहिक बंदी से शुरुआत करने के बाद फिर इसे मंगलवार, गुरुवार और फिर दस मई यानी सोमवार तक बढ़ाया गया। अब योगी सरकार ने फिर से कोरोना कर्फ्यू 17 मई तक बढ़ा दिया है।

कोरोना कर्फ्यू पास में सख्तियां बढ़ेंगी :- बताया जा रहा है कि 10 मई के बाद जो कोरोना कर्फ्यू बढ़ाया जाएगा उसमें कुछ सख्तियां भी बढ़ाई जा सकती हैं। बिना कोरोना कर्फ्यू पास के अनाधिकृत रुप से घर से निकलने वालों के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी। यूपी में 30 अप्रैल के बाद से ही आंशिक कोरोना कर्फ्यू है। ऐसा कहा जा रहा है कि कोरोना कर्फ्यू का असर आ रहा है। कोरोना के सक्रिय मामलों कमी रही है।

एक समय में 33 फीसदी कर्मचारी :- मुख्य सचिव राजेंद्र कुमार तिवारी के जारी शासनादेश में कहा गया है कि, सरकारी कार्यालयों की नई व्यवस्था में 50 फीसदी कार्मिक कार्यालय में आएंगे तो जरूर, लेकिन एक समय में 33 फीसदी कर्मचारी ही उपस्थित रहेंगे। अस्वस्थ कर्मचारी घर से काम करें। शारीरिक रूप से दिव्यांग कार्मिकों व गर्भवती महिलाओं को घर से काम करने की सुविधा दी गई है।

कोविड ड्यूटी पर मरने वालों के आश्रितों को मिलेंगे 50 लाख

कोविड-19 में ड्यूटी करने वालों के मनोबल को बढ़ाने के लिए योगी सरकार ने एक कदम बढ़ाया है। योगी सरकार कोविड-19 की रोकथाम, उपचार तथा उससे बचाव की ड्यूटी में संक्रमित होने से मृत्यु होने पर ग्राम्य विकास विभाग के कर्मियों को एकमुश्त अनुग्रह राशि 50 लाख रुपए देगी। आयुक्त ग्राम्य विकास ने मुख्य विकास अधिकारियों को निर्देश दिए हैं कि कोविड ड्यूटी में संक्रमित होने से मृत कर्मियों के आश्रितों को अनुग्रह राशि दिलाने का प्रस्ताव जिले के जिलाधिकारी को भेजें। विभाग में कार्यरत सरकारी कर्मियों के साथ ही अर्द्धसरकारी, संविदाकर्मी, दैनिक वेतनभोगी, आउटसोर्स, स्वायत्तशासी संस्था के कर्मियों इससे आच्छादित होंगे। अपर मुख्य सचिव, ग्राम्य विकास मनोज कुमार सिंह ने बताया कि अनुग्रह राशि के लिए संबंधित कर्मियों को कोविड-19 ड्यूटी में लगाए जाने का प्रमाणपत्र कार्यालयाध्यक्ष देंगे। मुख्य चिकित्साधिकारी मृत कर्मियों के संबंध में यह प्रमाण पत्र देंगे कि मृत्यु कोविड-19 के संक्रमण से हुई है। अनुग्रह धनराशि की स्वीकृति के लिए संबंधित जिलाधिकारी अधिकृत होंगे।

यूपी में अब 17 मई तक कोरोना कर्फ्यू, पाबंदियां तोड़ी तो खैर नहीं

आज से तेज होगा टीकाकरण अभियान

कोरोना वायरस संक्रमण के खिलाफ योगी सरकार ने अभियान छेड़ दिया है। सोमवार से टीकाकरण अभियान और तेजी पकड़ेगा। शनिवार दोपहर कोविशील्ड वैक्सीन की साढ़े तीन लाख डोज का कंसाइनमेंट राजधानी लखनऊ पहुंचा गया है। उम्मीद है कि सोमवार तक 18 जिलों में यह वैक्सीन पहुंच जाएगी। सोमवार से 18 से 44 वर्ष आयु वर्ग के लोगों के वैक्सीनेशन की प्रक्रिया का दायरा भी बढ़ा दिया गया है। अब यह इस वर्ग के 18 जिलों के लोगों को कवर करेगी। सूबे में लखनऊ, प्रयागराज, वाराणसी, कानपुर, मेरठ, गोरखपुर और बरेली के बाद अब इन 11 जिलों अलीगढ़, आगरा, गाजियाबाद, झांसी, मुरादाबाद, सहारनपुर, फिरोजाबाद, मथुरा, अयोध्या, शाहजहांपुर और गौतमबुद्धनगर को शामिल किया गया है। योगी आदित्यनाथ सरकार की मंशा है की जुलाई तक यूपी की अधिकतम आबादी को वैक्सीन लगवा दिया जाए। जिसका खाका तैयार किया गया है। इसके तहत कोविशील्ड और कोवैक्सिन की एक करोड़ डोज का ऑर्डर दिया गया है जिसका एडवांस पेमेंट भी किया जा चुका है।

coronavirus
Mahendra Pratap
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned