scriptMonsoon 2021 heavy rain in many districts UP Weather Mausam Vibhag | UP Weather Updates: यूपी में अब इतने दिनों तक लगातार होगी बारिश, इस बार मानसून तोड़ेगा पिछले कई सालों का रिकॉर्ड, मौसम विभाग ने की भविष्यवाणी | Patrika News

UP Weather Updates: यूपी में अब इतने दिनों तक लगातार होगी बारिश, इस बार मानसून तोड़ेगा पिछले कई सालों का रिकॉर्ड, मौसम विभाग ने की भविष्यवाणी

UP Weather Update: मौसम विभाग के निदेशक जेपी गुप्ता ने मानसून (Monsoon 2021 Update) को लेकर बताया कि राज्य के 30 जिलों में ऑरेंज अलर्ट (Orange Alert) जारी किया गया है। इन जिलों में 7.5 से 15 मिमी तक बारिश होने की संभावना है।

लखनऊ

Updated: June 14, 2021 05:00:40 pm

लखनऊ. UP Weather Updates : उत्तर प्रदेश में मानसून ने जोरदार एंट्री की है। पूर्वांचल समेत मध्य उत्तर प्रदेश में जोरदार बारिश (UP Weather Forecast) का सिलसिला जारी है। वहीं पश्चिम यूपी में मानसून (Monsoon 2021) के अगले 24 घंटे में पहुंचने की संभावना है। अमूमन प्रदेश में मानसून का आगमन 20 जून के आसपास होता है, लेकिन इस बार यह एक हफ्ते पहले ही आया है। वहीं मौसम विभाग का अनुमान (UP Weather Update) है कि अगले पांच दिनों तक पूरब से पश्चिम लगभग पूरे यूपी में मध्यम से भारी बारिश होती रहेगी। लखनऊ स्थित मौसम विभाग (Mausam Vibhag) के निदेशक जेपी गुप्ता (JP Gupta) ने बताया कि राज्य के 30 जिलों (Heavy Rain in Many Districts) में ऑरेंज अलर्ट जारी किया गया है। इन जिलों में 7.5 से 15 मिमी तक बारिश होने की संभावना है। मौसम विभाग ने बताया कि उत्तर प्रदेश में मानसून (Monsoon 2021 Update) की गति सामान्य है और बारिश के मामले में इस बार यह पिछले कई सालों का रिकॉर्ड भी तोड़ सकता है। वहीं पूर्वांचल और मध्य यूपी में दो दिनों से लगातार बरसात जारी है। लखनऊ, बाराबंकी, अयोध्या, सुल्तानपुर आदि जिलों में रुक-रुक बारिश (Rain) हो रही है। हालांकि बुंदेलखंड इलाके में सोमवार सुबह तेज धूप रही। वहीं समय से पहले मानसून के सक्रिय होने से पूर्वांचल में धान की खेती करने वाले कुछ किसान खुश हैं। जबकि कुछ किसानों के लिए बारिश बड़ी दिक्कत बनकर आई है। इसके अलावा बारिश से संक्रामक बीमारियों का खतरा भी बढ़ गया है।

up_monsoon_2021.jpg

इन जिलों में ऑरेंज अलर्ट

जिन जिलों नें मौसम विभाग (Mausam Vibhag) ने ऑरेंज अलर्ट जारी किया है उनमें लखनऊ, देवरिया, गोरखपुर, कुशीनगर, महाराजगंज, मिर्जापुर, संत रविदास नगर, प्रयागराज, प्रतापगढ़, फतेहपुर, अमेठी, रायबरेली, बाराबंकी बस्ती, गोंडा, बहराइच, लखीमपुर खीरी, सीतापुर, उन्नाव कानपुर नगर, कानपुर देहात, हरदोई, कन्नौज, शाहजहांपुर, पीलीभीत, रामपुर, बरेली, फर्रुखाबाद और बदायूं शामिल हैं। लगभग इन सभी जिलों में रविवार से ही बारिश का सिलसिला जारी है। समय से लगभग एक हफ्ते पहले तेरह जून को मॉनसून की सूबे में आमद हुई है। बंगाल की खाड़ी से चली मॉनसूनी हवाओं ने पूर्वांचल से लेकर रूहेलखंड तक के जिलों में रिमझिम बारिश का सिलसिला शुरू कर दिया है। बंगाल, ओडिशा, झारखंड और बिहार की सीमा को पार करने के बाद पूर्वांचल के रास्ते प्रदेश में इसका आगमन हुआ है।

पांच दिनों तक ऐसा ही रहेगा मौसम

लखनऊ स्थित मौसम विभाग के निदेशक जे.पी गुप्ता के मुताबिक मॉनसून (Monsoon 2021 Update) की चाल सामान्य है। अगले पांच दिनों तक मौसम का ऐसा ही मिजाज बना रहेगा। गर्मी से राहत रहेगी और लोग बरसात का आनंद उठा पाएंगे। आपको बता दें कि इस साल बुंदेलखंड के कुछ जिलों को छोड़कर बाकी किसी भी जिले में तापमान ज्यादा नहीं चढ़ा है, लेकिन जल्द ही यहां के अन्य जिलों को भी गर्मी से राहत मिलेगी। मॉनसून की वजह से तापमान में गिरावट आएगी। हालांकि कई जिलों में कुछ समय के लिए उमस की समस्या से दो-चार होना पड़ेगा। आपको बता दें कि इस साल गर्मियों में अभी तक प्रदेश के किसी भी शहर का तापमान 45 डिग्री सेल्सियस दर्ज नहीं किया गया है। झांसी और बांदा में दिन का अधिकतम तापमान 42 से 43 डिग्री सेल्सियस के आसपास पहुंचा था। मॉनसून के दस्तक देने से अब दिन और रात दोनों के तापमान में कमी दर्ज की जाएगी।

पशोपेश में किसान

वहीं मॉनसून के पांच दिन पहले आने से धान की खेती करने वाले कुछ किसान तो खुश हैं। जबकि ज्यादातर किसान पशोपेश में हैं। कई जिलों में धान की नर्सरी अभी तैयार नहीं है। ऐसे में बुवाई के लिए कुछ और दिन का इंतजार करना पड़ेगा। किसानों को इस बात की चिंता है कि मॉनसूनी बारिश के पहले ही हो जाने से कहीं ऐसा ना हो की बुवाई के समय बरसात ना हो।

नदियों का जलस्तर बढ़ने से तटवर्ती गांवों में कटान का खतरा

बीते दो दिनों से लगातार हो रही बारिश के चलते नदियों का जलस्तर ऊपर गया है और तटवर्ती गांवों में कटान का खतरा बढ़ गया है। बाराबंकी, गोंडा, अंबेडकरनगर और बलरामपुर समेत कई जिलों में बीते 48 घंटों से हो रही मूसलाधार बारिश से नदियों का जलस्तर लगातार बढ़ता जा रहा है, तो वही पहाड़ी नाले उफान पर हैं। सरयू, राप्ती जैसी नदियों का जलस्तर बढ़ने से जहां जिले के दर्जनों गांवो में नदी के कटान का खतरा बढ़ गया है। वहीं कटान और बाढ़ के कहर से लोगो को बचाने से लिए जिला प्रशासन अलर्ट पर है। बाढ़ और कटान से निपटने के जिला प्रशासन ने पूरी तैयारियों कर ली है। बाढ़ (Flood) और कटान की विभीषिका से काफी धन, जनहानि हो जाती है। ऐसे में अगर पहले से सावधान रहे तो नुकसान को कम किया जा सकता है।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

17 जनवरी 2023 तक 4 राशियों पर रहेगी 'शनि' की कृपा दृष्टि, जानें क्या मिलेगा लाभज्योतिष अनुसार घर में इस यंत्र को लगाने से व्यापार-नौकरी में जबरदस्त तरक्की मिलने की है मान्यतासूर्य-मंगल बैक-टू-बैक बदलेंगे राशि, जानें किन राशि वालों की होगी चांदी ही चांदीससुराल को स्वर्ग बनाकर रखती हैं इन 3 नाम वाली लड़कियां, मां लक्ष्मी का मानी जाती हैं रूपबंद हो गए 1, 2, 5 और 10 रुपए के सिक्के, लोग परेशान, अब क्या करें'दिलजले' के लिए अजय देवगन नहीं ये थे पहली पसंद, एक्टर ने दाढ़ी कटवाने की शर्त पर छोड़ी थी फिल्ममेष से मीन तक ये 4 राशियां होती हैं सबसे भाग्यशाली, जानें इनके बारे में खास बातेंरत्न ज्योतिष: इस लग्न या राशि के लोगों के लिए वरदान साबित होता है मोती रत्न, चमक उठती है किस्मत

बड़ी खबरें

कांग्रेस के बाद अब 20 मई को जयपुर में भाजपा की राष्ट्रीय बैठक, ये रहा पूरा कार्यक्रमTRAI के सिल्वर जुबली प्रोग्राम में PM मोदी ने लॉन्च किया 5G टेस्ट बेड, बोले- इससे आएंगे सकारात्मक बदलावपूर्व केंद्रीय मंत्री पी चिंदबरम के बेटे के घर पर CBI की रेड, कार्ति बोले- कितनी बार हुई छापेमारी, भूल चुका हूं गिनतीकुतुब मीनार और ताजमहल हिंदुओं को सौंपे भारत सरकार, कांग्रेस के एक नेता ने की है यह मांगकोर्ट में ज्ञानवापी सर्वे रिपोर्ट पेश होने में संशय, दूसरी ओर सुप्रीम कोर्ट में एक बजे सुनवाई, 11 बजे एडवोकेट कमिश्नर पहुंचेंगे जिला कोर्टपूनियां हत्याकांड में बड़ा अपडेट : चौथे दिन भी नहीं हुआ पोस्टमार्टम, शव उठाने को लेकर मृतक के भाई के घर पर चस्पा किया नोटिसहरियाणा: हरिद्वार में अस्थियां विसर्जित कर जयपुर लौट रहे 17 लोग हादसे के शिकार, पांच की मौत, 10 से ज्यादा घायलConstable Paper Leak: राजस्थान कांस्टेबल परीक्षा रद्द, आठ गिरफ्तार, 16 मई के पेपर पर भी लीक का साया
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.