Purvanchal Expressway अप्रैल के अंत तक हो जाएगा पूरा, दाैड़ने लगेंगी गाड़ियां

लखनऊ से बलिया तक बन रहा Purvanchal Expressway का काम तेजी से चल रहा है और यह इसी अप्रैल महीने के अंत तक इस पर गाड़ियां दौड़ने लगेंगी। Bundelkhand Expressway का भी एक हिस्सा फरवरी 2022 में चालू हो जाएगा। Gorakhpur Link Expressway का काम भी काफी तेजी से चल रहा है।

पत्रिका न्यूज नेटवर्क

लखनऊ. योगी सरकार का महत्वकांक्षी प्रोजेक्ट पूर्वांचल एक्सप्रेस इस महीने से शुरू हो सकता है। लखनऊ से बलिया तक बनने वाला 340 किलोमीटर का यह एक्सपेसवे पूर्वांचल के लिये विकास के द्वार खोलेगा। योगी आदित्यनाथ के मुख्यमंत्री बनने के बाद इसका निर्माण कार्य शुरू हुआ था। साथ ही इससे जुड़ने वाले गोरखपुर लिंक एक्सप्रेस वे का काम भी बेहद तेजी से हो रहा है। इसी तरह बुदेलखंड एक्सप्रेसवे को लेकर भी कहा जा रहा है कि इसका निर्माण बेहद तेजी से जारी है और 28 फरवरी 2022 तक इसके मुख्य कैरिज वे का एक साइड यातायात के लिये खोल दिया जाएगा।

 

Purvanchal Expressway
पूर्वांचल एक्सप्रेसवे मैप IMAGE CREDIT:

 

प्रोजेक्ट माॅनिटरिंग ग्रुप की बैठक में मुख्य सचिव राजेन्द्र कुमार तिवारी ने यूपी में चल रहे पूर्वांचल एक्सप्रेस-वे, गोरखपुर-आजमगढ़ लिंक एक्सप्रेस-वे, गंगा एक्सप्रेस-वे, बुन्देलखण्ड एक्सप्रेस-वे, डिफेन्स कारीडोर और जेवर इंटरनेशनल एयरपोर्ट के निर्माण कार्य की प्रगति की समीक्षा की। इसमें बताया गया कि Purvanchal Expressway वे के सभी निर्माण कार्य अब पूरा होने की ओर हैं। जिससे अप्रैल महीने के अंत तक एक्सप्रेस वे के मुख्य कैरिज वे का निर्माण कार्य पूरा कर लिया जाएगा। इसके बाद एक्सप्रेस वे पर यातायात शुरू हो जाएगा।

 

 

Gorakhpur Link Expressway
गोरखपुर लिंक एक्सप्रेसवे का अपने तय टाइम टेबल से अधिक तेजी से चल रहा काम IMAGE CREDIT:

 

गोरखपुर लिंक एक्सप्रेस वे

91.35 किलोमीटर लंबा चार लेन का Gorakhpur Link Expressway गोरखपुर बाईपास NH- 27 स्थित जैतपुर गांव के नजदीक से शुरू होकर आजमगढ़ के पास पूर्वांचल एक्सप्रेस-वे से जुड़ेगा। इसे चार से बढ़ाकर छह लेन किया जा सकेगा। इसका निर्माण काफी तेजी से चल रहा है जिसके चलते लक्ष्य के सापेक्ष करीब डेढ़गुना काम हुआ है। यह अपने टाइम टेबल से भी तेज चल रहा है। इसके माइल स्टोन एक के पैकेज वन के 10 प्रतिशत लक्ष्य के सापेक्ष 16.13 प्रतिशत, पैकेज दो के लक्ष्य 8.60 के सापेक्ष 16.37 प्रतिशत भौतिक प्रगति हासिल की गई है।

 

Bundelkhand Expressway
बुन्देलखंड एक्सप्रेसवे मैप IMAGE CREDIT:

 

फरवरी 2022 में शुरू होगा बुंदेलखंड एक्सप्रेसवे

297 किलोमीटर लंबा Bundelkhand Expressway बांदा, महोबा, हमीरपुर से जालौन होते हुए इटावा के कुदरौल गांव के पास लखनऊ-आगरा एक्सप्रेसवे (Lucknow-Agra Expressway) से मिलेगा। इसका 29 फरवरी 2020 को प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने इसकी नींव रखी थी। 15 हजार करोड़ रुपये की लागत से बुंदेलखंड एक्सप्रेसवे तीन साल में बनकर पूरा होना है। प्रोजेक्ट माॅनिटरिंग ग्रुप की बैठक में जानकारी दी गई है कि बुंदेलखंड एक्सप्रेसवे की भौतिक प्रगति करीब 51 प्रतिशत है और काम बेहद तेजी से चल रहा है। 28 फरवरी 2022 तक इसके मुख्य कैरिज वे के एक साइड को खोल दिये जाने की बात कही गई। जबकि 30 अप्रैल 2022 तक दोनों साइड के शुरू हो जाने की संभावना जतायी गयी है। कहा गया है कि इस परियोजना के सभी काम 30 सितंबर 2022 तक पूरे हो जाएंगे।

रफतउद्दीन फरीद
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned