सर्दी से बचने को जलाई थी अंगीठी, जिंदा जले दो मासूम

मकान मालिक ने घर के बेसमेंट को क्षेत्र में रहने वाले चंद्र पाल सिंह को किराए पर दे रखा था। सिंह इसे टेंट के गोदाम के रूप में इस्तेमाल कर रहे थे और उसकी देखरेख के लिए उन्होंने मजदूर सनी को रख रखा था।

By: Abhishek Gupta

Published: 23 Jan 2021, 04:43 PM IST

लखनऊ. राजधानी लखनऊ में ठंड का सिलसिला बदस्तूर जारी है। इससे बचने के लिए यहां एक घर में अंगीठी जलाई गई थी, लेकिन यह दो बच्चों की मौत का कारण बन जाएगा, ऐसा किसी ने न सोचा था। घटना लखनऊ के कृष्णानगर की है। प्रभारी निरीक्षक कृष्णानगर महेश दुबे के मुताबिक, विराट नगर के निवासी आशुतोष सचिवालय के कर्मी हैं। विराट नगर में उनका मकान है, जहां मां शांति, पत्नी और बेटे घर के प्रथम तल पर रहते हैं। इन्होंने ने ही अपने घर के बेसमेंट को क्षेत्र में रहने वाले चंद्र पाल सिंह को किराए पर दे रखा था। सिंह इसे टेंट के गोदाम के रूप में इस्तेमाल कर रहे थे और उसकी देखरेख के लिए उन्होंने मजदूर सनी को रख रखा था। सनी गोदाम में ही अपनी पत्नी खुशबू व दो बच्चों- रितिक और शांतनु - के साथ रहता था।

ये भी पढ़ें- UP Weather: भीषण ठंड से दोपहर में भी कंपकपाए लोग, पांच दिनों में बढ़ेगी गलन, होगी बूंदाबांदी

ठंड से बचने के लिए जलाई थी अंगीठी-

शनिवार सुबह करीब आठ बजे गोदाम से आग की तेज लपटें उठनी लगी। पड़ोसियों ने यह देखा तो पुलिस को फोन किया। आनन फानन में पुलिस अग्निशमन टीम के साथ पहुंची। घर से इन पांचों लोगों को छट काटकर किसी तरह बाहर निकाला गया। सभी को सिविल अस्पताल पहुंचाया गया, जहां चार साल का रितिक व एक साल के शांतनु की मौत हो गई। बताया जा रहा है कि दोनों बच्चों की मौत दम घुटने और झुलसने से हुई है। दोनों के शवों को मर्चुरी भेज दिया गया है।

ये भी पढ़ें- यूपी में टीकाकरण जारी है, 1477 बूथ पर 1.48 लाख स्वास्थ्यकर्मियों को लगाई गई कोरोना वैक्सीन

पुलिस के मुताबिक, ज्यादा ठंड होने के कारण सनी के परिवार ने अंगीठी जलाई थी। इसकी आग की चिंगारी वहां रखें टेंट के सामान में जा गिरी, जिससे सारा सामान पर जल गया। आग के लपटें और धुएं के कारण सभी फंस गए। और बच्चों की मौत हो गई।

Abhishek Gupta
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned