सबकी उम्मीदें जगाने वाला होगा योगी सरकार का दूसरा बजट, जानें- UP Budget की खास बातें

सबकी उम्मीदें जगाने वाला होगा योगी सरकार का दूसरा बजट, जानें- UP Budget की खास बातें

Hariom Dwivedi | Publish: Feb, 15 2018 08:03:24 PM (IST) | Updated: Feb, 16 2018 10:22:51 AM (IST) Lucknow, Uttar Pradesh, India

योगी आदित्यनाथ सरकार 16 फरवरी को अपना दूसरा बजट पेश करने जा रही है, जानें- कैसा होगा मुख्यमंत्री का ये बजट...

लखनऊ. उत्तर प्रदेश सरकार 16 फरवरी को अपना दूसरा बजट पेश करने जा रही है। सदन में जब मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ अपना दूसरा बजट पेश कर रहे होंगे तो उनके जेहन में जनता से किये तमाम चुनावी वादे भी होंगे, जो भाजपा ने विधानसभा चुनाव के दौरान किये थे। साथ ही नजर आगामी लोकसभा चुनाव पर भी होगी। मतलब साफ है कि सरकार अपने दूसरे बजट में युवा, किसान, मजदूर, शिक्षा, स्वास्थ्य, रोजगार और महिला सुरक्षा जैसे तमाम मुद्दों पर फोकस करेगी।

सरकार इस बजट के जरिये आम चुनावों में पहले विभिन्न वर्गों को साधकर भाजपा के पक्ष में माहौल बनाने की कोशिश करेगी। इस बजट में सरकार खेती-किसानी, सड़क-बिजली-पानी और नहरों के विकास जैसे कामों पर फोकस करेगी। साथ ही इस बजट के जरिये पूर्वांचल और बुंदेलखंड एक्सप्रेस-वे परियोजनाओं को रफ्तार मिल सकती है।

ऐसा होगा योगी सरकार का बजट!
योगी सरकार का दूसरा बजट कैसा होगा? मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ पहले ही साफ कर चुके हैं कि उनका ये बजट युवाओं को समर्पित होगा। मतलब इस बजट में जहां युवाओं को नौकरी की बात होगी, वहीं सरकार स्टार्ट अप और मुख्यमंत्री खादी ग्रामोद्योग रोजगार योजना जैसी योजनाओं के जरिये युवाओं को लुभाने की कोशिश करेगी। योगी सरकार वर्ष 2018-19 को युवा वर्ष घोषित कर सकती है। लेकिन इसके चांसेज कम हैं कि सरकार हाल-फिलहाल युवाओं को लैपटॉप का गिफ्ट देने जैसी योजनाओं पर पैसा देगी।

खेती-किसानी पर रहेगा सरकार का फोकस
अपने पहले बजट में योगी सरकार ने मुख्य रूप से किसानों पर फोकस किया था। किसान कर्जमाफी के लिए सरकार को खजाने के 36 हजार करोड़ रुपये खर्च करने पड़े थे। किसान कर्जमाफी पर इतनी बड़ी रकम खर्च हो जाने के बाद सरकार अन्य योजनाओं के लिये पैसे का इंतजाम नहीं कर पाई थी। माना जा रहा है कि लोकसभा चुनाव से करीब साल भर पहले पेश होने वाले योगी सरकार के इस बजट में सभी वर्गों को साधने की पुरजोर कोशिश होगी। भले ही सरकार इस बार किसान कर्जमाफी जैसी खर्चीली योजना न लाये, लेकिन फिर भी खेती-किसानी पर सरकार का फोकस बरकरार रहेगा।

Ad Block is Banned