प्रॉपर्टी जब्त वाले सीएम योगी के बयान पर यूपी में राजनीतिक उबाल, विपक्षी दलों की आई तीखी प्रतिक्रिया

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि जिसको जब्त करवानी हो प्रॉपर्टी, वह करे गलत काम, विपक्षी दलों ने सीएम योगी की भाषा पर उठाये सवाल

By: Hariom Dwivedi

Updated: 22 Jul 2021, 05:50 PM IST

पत्रिका न्यूज नेटवर्क
लखनऊ. मुख्‍यमंत्री योगी आदित्‍यनाथ ने अपराधियों और कालाबाजारियों को चेताते हुए कहाकि, यूपी में जिसे अपनी प्रॉपर्टी जब्‍त करवानी हो, वह गलत काम करे। सीएम योगी के इस बयान के बाद सियासी घमासान छिड़ गया है। कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी ने कहाकि जायज मांगों के लिए आवाज उठाने वालों को डराने और धमकाने के लिए सत्ता का दुरुपयोग करना घोर अपराध है। समाजवादी पार्टी ने सीएम योगी पर मुख्यमंत्री पद की गरिमा को गिराने का आरोप लगाया। सुहेलदेव भारतीय समाज पार्टी और आम आदमी पार्टी ने भी योगी के बयान पर निशाना साधा।

आबकारी निरीक्षक के नियुक्ति पत्र बांटने के दौरान बुधवार को मुख्‍यमंत्री योगी आदित्‍यनाथ ने अपराधियों और कालाबाजारियों को चेताते हुए कहा था कि यूपी में जिसे अपनी प्रॉपर्टी जब्‍त करवानी हो, वह गलत काम करे। युवा कोई ऐसे गलत काम न करें, जिससे उन्हें नुकसान हो। उनको किसी के बहकावे में नहीं आना चाहिए। कहाकि यूपी में किसी को भी अन्याय करने की छूट नहीं है। युवाओं को चाहिए कि वह खुद की मेहनत पर भरोसा करे और वसूली गैंग के बहकावे में न आएं। वसूली गैंग से हम सख्ती से निपटेंगे।

जनता हमारी मालिक है, हम नहीं : सीएम योगी
मुख्यमंत्री ने कहा कि हम जनता के मालिक नहीं है, जनता हमारी मालिक है। जनता के टैक्स से ही हमारी सैलरी आती है। ऐसे में हमारी जिम्मेदारी है कि हम अपने मालिक के साथ ईमानदारी बरतें। कोई भी ऐसा काम नहीं होना चाहिए कि वह प्रताड़ित होकर व्यवस्था को कोसे। उन्होंने कहा कि अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता है.. इसलिए केवल विरोध के लिए विरोध करेंगे, ऐसा नहीं हो सकता है। भ्रष्टाचार की कहीं कोई गुंजाइश नहीं है।

यह भी पढ़ें : आगामी सात माह का संघर्ष यूपी कांग्रेस के शानदार भविष्य के लिए महत्वपूर्ण व निर्णायक- प्रियंका गांधी

योगी जिस 'प्रॉपर्टी' पर बैठे हैं, जनता उसे जब्त कर सकती है : प्रियंका गांधी
कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी ने ट्वीट करते हुए कहा, 'इस देश में अपनी आवाज उठाना, प्रदर्शन करना और अपनी मांगों के लिए आंदोलन करना एक संवैधानिक अधिकार है। जायज मांगों के लिए आवाज उठाने वालों को डराने और धमकाने के लिए सत्ता का दुरुपयोग करना एक घोर अपराध है। जिस 'प्रॉपर्टी' पर मुख्यमंत्री बैठे हैं, वह उनकी नहीं… देश की जनता की है। याद रखें कि वह 'प्रॉपर्टी' भी एक दिन जनता जब्त कर सकती है।'

मुख्यमंत्री की भाषा पद की गरिमा गिरा रही : सपा प्रवक्ता
मुख्यमंत्री के बयान पर समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय प्रवक्ता डॉ. आशुतोष वर्मा पटेल ने कहा कि संविधान पद पर बैठे व्यक्ति की इस तरह की भाषा नहीं हो सकती है। समाजवादी पार्टी पहले भी उनकी भाषा पर सवाल उठाती रही है। उनकी भाषा मुख्यमंत्री के पद की गरिमा को लगातार गिराता चला जा रहा है। जनता भगवान होती है, उसे इस तरह से डराना ठीक नहीं है। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ पर गंभीर धाराओं में आरोप लगे थे, जिन्हें स्वत: संज्ञान लेकर हटा देते हैं और अब दूसरे को नसीहत देते हैं। कहा कि भाजपा नेताओं की यह परिपाटी हो गई है कि वह अपने अंदर झांककर नहीं देखते और दूसरे को नसीहत देते हैं।

यह भी पढ़ें : हिंदुत्व, राष्ट्रवाद व विकास के मुद्दे पर चुनाव लड़ेगी भाजपा, संघ और संगठन चमकाएगा सरकार की छवि

धमकी से खामोश नहीं होंगे नौजवान: पूर्व मंत्री ओम प्रकाश राजभर
सुहेलदेव भारतीय समाज पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष व पूर्व मंत्री ओम प्रकाश राजभर ने ट्वीट करते हुए कहा, 'मुख्यमंत्री युवाओं को डराने की कोशिश कर रहे हैं। उनकी प्रॉपर्टी जब्त करने की धमकी दे रहे हैं। मुख्यमंत्री जी 69000 शिक्षक भर्ती में 5844 पद पिछड़े, दलित का हक क्यों लूटा? यूपी के नौजवान अपने हक की आवाज भी न उठा सके, इसलिए धमकी देकर उनकी आवाज को खामोश करना चाहते हैं। कहाकि आप चिंता न कीजिए भागीदारी संकल्प मोर्चा आपको दोबारा सीएम की कुर्सी पर बैठने नहीं देगा। धमकी का जबाब 2022 में जरूर मिलेगा। प्रदेश का युवा आपकी जमानत जब्त कराने के लिए बूथ पर तैयार बैठा है।

आवाज का दमन कर रही भाजपा सरकार : आम आदमी पार्टी
आम आदमी पार्टी के उत्तर प्रदेश मीडिया प्रभारी महेंद्र सिंह ने कहा कि भाजपा सरकार अपने खिलाफ उठने वाली हर आवाज का दमन कर रही है। 69000 शिक्षक भर्ती में पिछड़ों, एससी और एसटी के आरक्षण का हक मारा गया है। हर वर्ग के अलावा नौजवानों, किसानों, पत्रकारों पर जोर, जुल्म और ज्यादती की जा रही है। 2022 के विधानसभा चुनाव में जनता इन्हें सबक सिखाएगी।

यह भी पढ़ें : 15 साल बाद मिली पहली जीत, पूर्वांचल की 100 सीटों पर 'राजभर' का प्रभाव

Show More
Hariom Dwivedi
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned