धर्मसभा से पहले विहिप लोगों को बांट रही संकल्प पत्र, अयोध्या में राम मंदिर निर्माण के लिए बनाया मास्टर प्लान

25 नवम्बर को विश्व हिंदू परिषद अयोध्या में विराट धर्मसभा आयोजित कर रही है, साथ ही सभी 543 सांसदों से समर्थन जुटाने का
प्रयास...

By: Hariom Dwivedi

Published: 15 Nov 2018, 04:22 PM IST

लखनऊ. अयोध्या में राम मंदिर निर्माण के लिए विश्व हिंदू परिषद ने तैयारियां तेज कर दी हैं। 25 नवम्बर को राम नगरी में विहिप विराट धर्मसभा आयोजित कर रही है, जिसमें एक लाख राम भक्तों के आने का दावा किया जा रहा है। लोगों को आमंत्रित करने के लिए बाकायदा संकल्प पत्र बांटे जा रहे हैं। इसके अलावा आगामी शीतकालीन सत्र से पहले देश के सभी 543 सांसदों से राम मंदिर निर्माण मुद्दे पर समर्थन लेने की रणनीति भी विहिप ने बनाई है।

संकल्प पत्र में सबसे ऊपर अयोध्या चलो नारे के साथ श्रीराम जन्मभूमि पर भव्य मंदिर का संकल्प लिखा है। नीचे मंदिर के सामने एक संत को शंखनाद करते हुए दर्शाया गया है। संकल्प पत्र में भगवार श्रीराम का चित्र है, जिसमें वह उग्र रूप में हैं। इसके अलावा परमहंस जी महाराज, अवैद्यनाथ जी महाराज और स्वर्गीय अशोक सिंघल की तस्वीर लगी है। संकल्प पत्र के माध्यम से लोगों को विराट धर्मसभा के लिए आमंत्रित किया गया है।

विहिप के प्रांतीय मीडिया प्रभारी शरद शर्मा ने कहा कि भगवान राम हिंदुओं की आस्था और श्रद्धा के प्रतीक हैं। सभी की इच्छा है कि अयोध्या में भव्य राम मंदिर का निर्माण हो। इसके लिए विहिप संकल्प पत्र के जरिये लोगों से मिल रही है और उन्हें विराट सम्मेलन के लिए आमंत्रित कर रही है। उन्होंने दावा करते हुए कहा कि 25 नवम्बर को विराट धर्मसभा में एक लाख राम भक्त पहुंचेंगे, जो राम मंदिर निर्माण का संकल्प लेंगे।

 

vhp sankalp patra

राष्ट्र विरोधी तत्वों का विनाश करेंगे श्रीराम
संकल्प पत्र में राम के उग्र रूप वाली तस्वीर पर संत समिति के अध्यक्ष कन्हैया दास ने कहा कि प्रभु श्रीराम ने धनुष-बाण से ही दुष्ट रावण का वध किया था। अब रावण रूपी राष्ट्र द्रोही लोग राम जन्मभूमि का बंटवारा कर भारत का विभाजन करना चाहते हैं। भगवान श्रीराम इन राष्ट्र विरोधी तत्वों का विनाश कर राम मंदिर निर्माण का मार्ग प्रशस्त करेंगे।

राम मंदिर पर सांसदों का समर्थन मांगेगी विहिप
जानकारी के मुताबिक, 11 दिसम्बर से पहले संसद का शीतकालीन सत्र शुरू होने जा रहा है। ऐसे में विहिप 9 दिसंबर तक विश्व हिंदू परिषद के पदाधिकारी राम मंदिर निर्माण पर समर्थन के लिए देश के सभी 543 सांसदों से मुलाकात करेंगे और अयोध्या मामले में समर्थन मांगेंगे। विहिप चाहती है कि आगामी शीतकालीन सत्र में राम मंदिर निर्माण पर सांसदों के समर्थन से कानून पास किया जाये। इस बीच विहिप ने राम मंदिर को लेकर अध्यादेश लाने और कानून बनाने की मांग तेज कर दी है। सांसदों से मुलाकात की कार्ययोजना तैयार हो गई है। सुलतानपुर में सगरा आश्रम के पीठाधीश्वर बाल ब्रह्मचारी शिवयोगी मौनी महाराज ने बताया कि उनके पास अमेठी और सुलतानपर के साथ अन्य जिलों के सांसदों से मुलाकात की जिम्मेदारी है। उन्होंने विश्वास जताते हुए कहा कि राम मंदिर निर्माण के पक्ष में विहिप को देश भर से करीब 350 सांसदों का समर्थन हासिल होगा।

Show More
Hariom Dwivedi
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned