जानें कौन हैं रोशन जेकब जो डीएम अभिषेक प्रकाश के स्वस्थ होने तक संभालेंगी लखनऊ की जिम्मेदारी

- रोशन 2014-2015 के बीच कानपुर की जिलाधिकारी भी रह चुकी हैं.

By: Abhishek Gupta

Published: 17 Apr 2021, 07:19 PM IST

पत्रिका न्यूज नेटवर्क.

लखनऊ. कोरोना (Coronavirus in UP) ने लखनऊ के जिलाधिकारी (Lucknow DM) अभिषेक प्रकाश (Abhishek Prakash) को भी संक्रमित कर दिया है। इसके बाद से ही लखनऊ, जहां सबसे ज्यादा हालाब बिगड़े हैं, वहां के लोगों के मन में डर और बढ़ गया है। हालांकि उनके स्वस्थ होने तक 2004 बैच के सचिव स्तर की आईएएस अफसर रोशन जैकब (Roshan Jacob) ने लखनऊ जिलाधिकारी का प्रभार संभाल लिया है। उनकी देख रेख में अब लखनऊ में कोविड की समस्याओं से निपटा जाएगा। ऐसे में लोगों के मन में सवाल है कि आखिर रोशन जैकब हैं कौन।

ये भी पढ़ें- UP weekend lockdown: 5 बिंदुओं में जानें 35 घंटे के लॉकडाउन की गाइडलाइन्स, महाराष्ट्र के बाद यूपी में सबसे ज्यादा मामले

कानपुर की जिलाधिकारी भी रह चुकी हैं रोशन-

जैकब मूल रूप से केरल की हैं। रिपोर्टों के अनुसार रोशन राज्य की पहली महिला आईएएस अधिकारी हैं, जो महिला खनन निदेशक बनी हैं। पिछले साल, जैकब के प्रयासों से लॉकडाउन के दौरान खनन कार्य शुरू करने वाला यूपी देश का पहला राज्य बना था। वह इससे पहले 2014-2015 के बीच कानपुर की जिलाधिकारी भी रह चुकी हैं। रोशन जैकब सचिव भूतत्व खनिकर्म व निदेशक के पद अपनी सेवाएं दे रही हैं। इसके अलावा वह स्टाम्प रजिस्ट्रेशन के महानिरीक्षक की भी जिम्मेदारी संभाल रही हैं।

ये भी पढ़ें- यह सात दिन हैं बेहद खतरनाक, कोरोना होगा पीक पर, बरतें सबसे ज्यादा सावधानी

IAS Roshan Jacob

महिलाओं को सशक्त बनाने में की थी पहल-

गोंडा जिले में महिलाओं को सशक्त बनाने के लिए जैकब ने कई पहल की हैं। कानपुर में उनके कार्यकाल के दौरान, शहर प्रशासन ने 2014 में "MyCity - Mera Shahar Meri Dekh Rekh Me" प्रोजेक्ट को सफलतापूर्वक लॉन्च किया था। उनके मार्गदर्शन में, सोशल मीडिया प्लेटफार्मों का उपयोग करते हुए, स्वच्छता और कचरा डिस्पोजल, बिजली, पानी की आपूर्ति और सीवरेज प्रणाली सहित छह प्रमुख क्षेत्रों की समस्याओं को उठाया गया था। यह उनका प्रयास था कि अधिकारियों ने नागरिक सुविधाओं से संबंधित लोगों की शिकायतों को दूर किया।

लखनऊ में आज आए इतन मामले-

लखनऊ में शनिवार को 5913 नए कोरोना मामले सामने आए हैं। 36 लोगों की मौत हुई है। वर्तमान में 44485 मामले एक्टिव हैं। कुल 1481 की जान जा चुकी हैं।

Abhishek Gupta
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned