Year Ender 2020: यूपी में इन 10 कामों के लिए याद किया जाएगा 2020, देखें लिस्ट

प्रवासियों की घर वापसी से लेकर निवेशकों को आकर्षित करने तक, कोरोना संकट के बीच सरकार की जानिए 10 उपलब्धियां.

By: Abhishek Gupta

Published: 24 Dec 2020, 05:16 PM IST

पत्रिका न्यूज नेटवर्क.

लखनऊ. कोरोना का संकट अभी टला नहीं हैं, लेकिन उत्तर प्रदेश में स्थिति कुछ हद तक नियंत्रण में है। पर देखा जाए तो लगभग पूरा वर्ष कोरोना की भेंट चढ़ गया है। कई लोग बेरोजगार हो गए, व्यवसाय ठप पड़ गए। इन सबके बीच मुख्यमंत्री योगी आदित्नाथ के नेत्रत्व में भाजपा सरकार ने यूपी में विकास का मोर्चा संभाले रखा। प्रवासी मजदूरों को वापस लाने का मुद्दा हो, लोगों को रोजगार देने की बात हो, अस्पतालों की संख्या बढ़ाने की बात हो, सरकार ने कोरोना काल में कई क्षेत्रों में सही रणनीति अपना कर काम जारी रखा व कई उपलब्धियां हासिल कीं। आईये जानते हैं इनके बारे में-

1. मजदूरों की सकुशल हुई घर वापसी-
जब लॉकडाउन लगा और अन्य प्रदेशों में यूपी के मजदूर-श्रमिक बेरोजगार हो गए, तो उन्होंने घर वापसी का फैसला किया। लेकिन पब्लिक ट्रॉंसपोर्ट के न चलने के बाद सड़कों पर पैदल सफर करने को मजबूर हुए, जिनकी तस्वीरें कोई नहीं भूल सकता। ऐसे में यूपी सरकार ने कई ट्रेनें व बसें चलाकर उन्हें वापस लाने का इंतज़ाम किया। लाखों लोगों को सकुशल यूपी में अपने-अपने घर पहुंचाया गया।

ये भी पढ़ें- यूपी में 120 नई गौशाला खोलने की तैयारियां, गौसेवकों की भी होगी नियुक्ति, जिलाधिकारियों से मांगा गया प्रस्ताव

2. रोजगार की व्यवस्था कराई-
प्रावीस मजदूरों को न सिर्फ वापस लाया गया बल्कि उन्हें उनक ही गांव, जनपद में रहकर रोजगार देने की व्यवस्था की गई। एक-एक मजदूर व श्रमिक की जानकारी लेकर उन्हें उनके कौशल के अनुसार प्रशिक्षित कर उन्हें रोजगार के अवसर प्रदान किए गए। यूपी सरकार के मंत्री मोती सिंह ने दावा किया कि कोरोना काल में 1 करोड़ लोगों को मनरेगा में रोजगार भी दिया गया है।

3. कई अस्पताल खोले जा रहें-
कोरोना के दौरान ही प्रदेश में अस्पतालों की व्यवस्था की पोल खुली। मरीज बढ़ते गए और बेड की संख्या उसके आगे बेहद कम लगने लगी। लेकिन ज्यादा दिनों तक नहीं। यूपी में कई कोविड अस्पतालों को खोला गया। वेंटिलेटर्स की कमी को पूरा किया गया। साथ ही 2017 तक जहां केवल 12 मेडिकल कॉलेज थे, वहीं महज तीन साल में 30 नए मेडिकल कॉलेजों का निर्माण भी चल रहा है।

ये भी पढ़ें- RPL योजना का लाभ उठाइए, मिलेगा स्किल प्रमाण पत्र, सरकारी नौकरियों के लिए होगा मान्य

Corona Test

4. कोरोना टेस्टिंग का रिकॉर्ड-
कोरोना को रोकने का सबसे कारगर तरीका टेस्टिंग है। इस बात को पूरी गंभीरता से लेते हुए यूपी में टेस्टिंग बड़े पैमाने पर हुई। कोरोना टेस्टिंग के मामले में यूपी के आसपास भी कोई दूसरा राज्य नहीं है। दो करोड़ से ज्यादा कोविड-19 टेस्ट करने वाला यूपी देश का पहला राज्य है। प्रति दिन प्रदेश में 1.5 से दो लाख कोरोना के टेस्ट किए जा रहे हैं।

5. राम मंदिर निर्माण के लिए भूमि पूजन-
अगस्त माह में राम मंदिर निर्माण के लिए हुए भूमि पूजन के उस एतिहासिक कार्यक्रम को कोई भला कैसे भूल सकता है। सुप्रीम कोर्ट के फैसले के बाद आखिर मंदिर निर्माण को लेकर हुए भव्य आयोजन में सीएम योगी-पीएम मोदी समेत तमाम दिग्गजों ने शिरकत की। यूपी सरकार ने कोरोना के दौरान कोविड नियमों का पालन करते हुए सफल आयोजन किया, जिसकी देश-विदेश में चर्चा हुई।

ODOP vitual fair

6. वर्चअल ओडीओपी फेयर का आयोजन-
लॉकडाउन खुलते ही अर्थव्यवस्था को पटरी पर लाने के यूपी सरकार के प्रयास ने तेजी पकड़ी। यूपी के उत्पादों को 35 देशों का ऑनलाइन बाजार मिला, जब अक्टूबर में देश के पहले ओडीओपी वर्चुअल फेयर का सीएम योगी ने उद्घाटन किया। इससे सीएम योगी ने शिल्पियों और उद्यमियों के विकास और प्रदेश में निवेश को प्रोत्साहित किया।

7. दीपोत्सव-
हर गुजरते साल के साथ अयोध्या में दीपोत्सव की भव्यवता बढ़ती जा रही है। इस वर्ष भी कोरोना की छाया पड़ने के बावजूद अयोध्या में दीपोत्सव का भव्य आयोजन हुआ। वर्चुअल तरीके से हुए इस दीपोत्सव में लेजर लाइट के जरिए रामायण व अयोध्या के इतिहास का वर्णन किया गया, जिसकी खूबसूरती भी देखते ही बनी। घर बैठे श्रद्धालू भी वर्चुअल तरीके से दीप जलाकर इसमें शामिल हो पाए।

8. यूपी में निवेश का मौहाल-
विदेशी निवेश को आकर्षित करने के लिए यूपी सरकार जमीन व सुरक्षित माहौल पर पूरा ध्यान दे रही है। कोरोना काल में आगरा में एसोसिएटेड ब्रिटिश फूड पीएलसी (एबी मौरी) ने खमीर मैन्यूफैक्चरिंग सेक्टर में 750 करोड़ रुपये का निवेश किया रही है। इसे जमीन भी मिल गई है। जापानी कंपनी वायरिंग हारनेस तथा कंपोनेंटस में 2000 करोड़ का निवेश करेगी। इसी तरह तमाम विदेशी कंपनियां यूपी में अलग-अलग क्षेत्रों में निवेश करने को इच्छुक हैं।

Zevar Airport

9. जेवर एयरपोर्ट-
हाल ही में नोएडा में बन रहे जेवर एयरपोर्ट का नाम और इसके लोगो का डिजाइन भी फाइनल कर दिया गया है। सीएम योगी ने इस दौरान कहा कि हवाई अड्डे का नाम 'नोएडा अंतरराष्ट्रीय ग्रीनफील्ड हवाई अड्डा, जेवर' होगा। यूपी सरकार इसे विश्वस्तरीय बनाने में कोई कसर नहीं छोड़ रही। यह दुनिया के बेहतरीन हवाई अड्डों में से एक होगा।

10. चार एक्सप्रेस वे-
कोरोना काल के दौरान भी बुंदेलखंड एक्प्रेसवे, गोरखपुर लिंक एक्सप्रेसवे, गंगा एक्प्रेसवे, पूर्वांचल एक्सप्रेसवे निर्माण का काम जारी रहा। यह एक्प्रेसवे योगी सरकार के ड्रीम प्रोजेक्ट में से एक है। सरकार का मानना है कि विकास की राह इन्हीं एक्सप्रेसवे से होकर गुजरेगी। एक्स्प्रेसवे के आसपास व्यवसाय खड़े होंगे, जिससे रोजगार बढ़ेगा।

Show More
Abhishek Gupta
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned