नकली नोट छापकर उसे खपाने वाले गैंग का भंडाफोड़, 21 लाख के नोट जब्त, 5 युवक गिरफ्तार

महासमुंद पुलिस ने मंगलवार को नकली नोट खपाने वाले एक गिरोह का पर्दाफाश किया है। पुलिस ने 21 लाख 27 हजार रुपए के नकली नोट के साथ गिरोह सरगना समेत पांच आरोपियों को गिरफ्तार किया है।

By: Bhawna Chaudhary

Published: 29 Jul 2020, 08:44 AM IST

महासमुंद. महासमुंद पुलिस ने मंगलवार को नकली नोट खपाने वाले एक गिरोह का पर्दाफाश किया है। पुलिस ने 21 लाख 27 हजार रुपए के नकली नोट के साथ गिरोह सरगना समेत पांच आरोपियों को गिरफ्तार किया है। सभी आरोपी बलौदाबाजार के हैं और नोट को खपाने के लिए महासमुंद आ रहे थे। पुलिस अधीक्षक प्रफुल्ल कुमार ठाकुर ने पुलिस कंट्रोल रूम में आयोजित प्रेस वार्ता में बताया कि मुखबिर से सूचना मिली थी कि नकली नोट छापकर उसे पाने शेष की फिराक में कुछ लोग नदी मोड़ बेलसोंडा फाटक के आसपास कोई डील करने वाले हैं।

सायबर सेल और थाना सिटी कोतवाली की टीम नेशनल हाईवे में चेकिंग अभियान चलाकर मुखबिर द्वारा बताए गए संदिग्ध वाहन की तलाश करने लगी। नदीमोड पर नाकाबंदी कर चेकिंग करने वाली टीम ने संदिग्ध वाहन को रोका। इस दौरान एक आरोपी ने अपना नाम कलाराम उर्फ रामदास जैतपुर थाना सरसीवा जिला बलौदाबाजार, मुन्नालाल भारती गांव बिलासपुर, थाना सरसीवा जिला बलौदाबाजार बताया। पुलिस की टीम ने नकदी रकम के बारे में उनसे पूछताछ की तो वे कोई स्पष्ट जवाब नही दे पाए। पुलिस ने जब नदी रक को चेक किया तो वह नकली जैस दिखा।

रायपुर के व्यक्ति से हुई थी डील : पुलिस अधीक्षक प्रफुल्ल कुमार ठाकुर ने बताया कि आरोपियों ने रायपुर के एक व्यक्ति से लगभग 15 लाख रुपए की नकली नोट की मांग की थी। इसकी डिलीवरी नदी मोड़ पुल के आसपास करने की बात हुई थी। उस डिलीवरी करने के लिए ही कलाराम अपने साथी मुन्ना के साथ नदी मोड़ साइकिल में आया था।

25 हजार के बदले एक लाख नकली नोट
पुलिस ने मुन्नालाल से जब महासमुंद जिलें में आने का कारण एवं नोट रखने के बारे में कड़ाई से पूछताछ की तो वह टूट गया। उसने बताया कि कलाराम के पास रंगीन फोटोकॉपी प्रिंटर है। दोनों नकली नोट छापकर ऐसे लोगो की तलाश करते हैं, जो इसे खपा सके। 25000 के असली नोट के बदले 1 लाख का नकली नोट बनाकर देते है। 15 लाख के नकली नोट खपाने के लिए ग्राहक की तलाश कर रहे थे।

आप रहे सतर्क
अगर आपको भी नकली और असली नोटों में अंतर पता नहीं है तो संभाल जाए। ऐसा इसलिए क्योंकि बाजार में नकली नोटों को खपाने के लिए आरोपी घूम रहे हैं। छत्तीसगढ़ पुलिस ऐसे संदिग्धों पर नजर बनाए रखी है लेकिन इस मामले में आपको भी सकर्त रहने की जरूरत है। वरना कब कोई नकली नोट थमा दे, आपको पता ही नहीं चलेगी।

Show More
Bhawna Chaudhary
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned