Career in Stock Broking: ऐसे बनाएं स्टॉक ब्रोकिंग के फील्ड में कॅरियर

Career in Stock Broking: अगर आप कॉमर्स के फील्ड से जुड़े हुए हैं तो स्टॉक ब्रोकिंग के रूप में अच्छा कॅरियर बना सकते हैं। जानते हैं इसके बारे में-

Career in Stock Broking: मौजूदा दौर में स्टॉक ब्रोकिंग के फील्ड में कॅरियर के अवसर लगातार बढ़ रहे हैं। कॉमर्स स्ट्रीम के छात्रों के लिए स्टॉक ब्रोकर एक आकर्षक कॅरियर माना जाता है। स्टॉक्स और अन्य सिक्योरिटीज को खरीदने और बेचने की प्रोसेस को ‘स्टॉक ब्रोकिंग’ कहा जाता है। एक रिपोर्ट के मुताबिक वित्त वर्ष 2018-19 में इंडियन ब्रोकिंग इंडस्ट्री की ग्रोथ रेट 5 से 10 फीसदी तक रही है। भारत में स्टॉक ब्रोकिंग के फील्ड में कैंडिडेट्स का भविष्य आशाजनक है और कुछ वर्षों के वर्क एक्सपीरियंस के बाद इन प्रोफेशनल्स को अच्छा सालाना सैलरी पैकेज भी मिलता है। अगर आप शेयर मार्केट में रुचि रखते हैं तो आप अच्छा कॅरियर बना सकते हैं।

ये भी पढ़ेः हर महीने कमाएंगे लाखों, बनाएं एथिकल हैकिंग में कॅरियर

ये भी पढ़ेः आजमाएं ये आसान से उपाय तो पक्का मिलेगा प्रमोशन और बढ़िया सैलेरी

कौन है स्टॉक ब्रोकर
स्टॉक ब्रोकर शेयर मार्केट में अपने क्लाइंट के हर तरह के लेन-देन के मामलों को देखता है। स्टॉक ब्रोकर स्टॉक एक्सचेंज और निवेशक के बीच कड़ी का काम करता है। बिना ब्रोकर के कोई भी निवेशक अपना सौदा शेयर मार्केट में नहीं डाल सकता है। यदि आप शेयर मार्केट में कदम रखना चाहते हैं तो डीमैट अकाउंट और ट्रेडिंग अकाउंट की जरूरत पड़ती है।

ये भी पढ़ें : 12वीं के इन छोटे कोर्सों को करके भी कमा सकते हैं मोटा पैसा

ये भी पढ़ें : Medical course After 12th - बायो स्ट्रीम के स्टूडेंट्स 12वीं के बाद करें ये Medical course

बाजार की हो समझ
स्टॉक ब्रोकर के रूप में अपना कॅरियर बनाने के लिए उम्मीदवार को कम्प्यूटर की बेसिक नॉलेज के साथ-साथ बिजनेस कम्यूनिकेशन और शेयर बाजार की वर्किंग के बारे में अच्छी जानकारी होनी चाहिए। स्टूडेंट्स को क्लाइंट्स के साथ-साथ कंपनियों के लिए स्टॉक खरीदने और बेचने की पूरी ट्रेनिंग भी लेनी चाहिए, तभी वे बेहतर तरीके से काम कर पाएंगे।

याद रखने योग्य खास बातें
सबसे पहले आप यह पता करें कि स्टॉक मार्केट कैसे काम करता है। उसके बाद आपको अपने नाम का रजिस्ट्रेशन सेबी यानी सिक्योरिटीज एंड एक्सचेंज बोर्ड ऑफ इंडिया के पास करवाना होगा। आपके अंदर बाजार के उतार-चढ़ाव को फेस करने की काबिलियत होना भी आवश्यक है।

योग्यता
ग्रेजुएशन कर चुके छात्र और ग्रेजुएशन के अंतिम वर्ष के छात्र पीजी डिप्लोमा इन बैंकिंग एंड फाइनेंस कोर्स के लिए आवेदन कर सकते हैं और स्टॉक ब्रोकर बनने की दिशा में आगे बढ़ सकते हैं। छात्रों को मार्केटिंग, बिजनेस, अकाउंटिंग और फाइनेंस जैसे क्षेत्रों में रुचि होनी चाहिए। इसके अलावा आपके अंदर तुरंत फैसला लेने का साहस होना चाहिए।

अवसर
स्टॉक ब्रोकर के रूप में आप फाइनेंशियल एडवाइजर, बैंक ब्रोकर, इंडिपेंडेंट ब्रोकर, इक्विटी एनालिस्ट, स्टॉक ब्रोकिंग फर्म, इन्वेस्टमेंट बैंकर के तौर पर भी काम कर सकते हैं। आप चाहें तो इन्वेस्टमेंट बैंक्स, पेंशन फंड्स, ब्रोकिंग फम्र्स, म्यूचुअल फंड्स, रिसर्च सेंटर्स में अच्छे पद पर कार्यरत हो सकते हैं। स्टॉक ब्रोकर के रूप में आगे बढऩे के कई अवसर होते हैं।

Show More
सुनील शर्मा
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned