यूएस बांड यील्ड की आंधी में रिलायंस के साथ इन आठ कंपनियों के डूब गए 1.39 लाख करोड़ रुपए

बीते सप्ताह में शेयर बाजार में गिरावट के कारण सेंसेक्स 934 अंकों तक टूट गया। जिसकी वजह से रिलायंस इंडस्ट्रीज के मार्केट कैप में करीब 36 हजार करोड़ रुपए की कमी आ गई।

By: Saurabh Sharma

Updated: 21 Mar 2021, 12:02 PM IST

नई दिल्ली। पिछले सप्ताह यूएस फेड रिजर्व के आंकड़ों में जब बांड यील्ड के आंकड़ें सामने आए तो उस आंधी के असर से भारत की टॉप कंपनियां भी नहीं बच सकी। बाजार में गिरावट के कारण बाजार की टॉप टेन कंपनियों में से 8 कंपनियों की मार्केट कैप में 1.39 लाख करोड़ रुपए की गिरावट देखने को मिली। सबसे ज्यादा नुकसार रिलायंस और एचडीएफसी को हुआ है। वहीं हिंदुस्तान यूनीलीवर और टीसीएस के मार्केट कैप में इजाफा देखने को मला है। आपको बता दें कि बीते सप्ताह सेंसेक्स 933.84 अंकों तक टूटा।

यह भी पढ़ेंः- कोरोना ने बढ़ाई निवेशकों की चिंता, शेयर बाजार में फिर से देखने को मिल सकती है गिरावट

कंपनियों के बाजार हैसियत में कमी और बढ़त
- रिलायंस इंडस्ट्रीज का बाजार पूंजीकरण 35,976.08 करोड़ रुपए घटकर 13,19,808.41 करोड़ रुपए रह गया।
- एचडीएफसी बैंक का बाजार मूल्यांकन 30,061.52 करोड़ रुपए घटकर 8,25,024.73 करोड़ रुपए पर आ गया।
- कोटक महिंद्रा बैंक का 20,787.22 करोड़ रुपए के नुकसान से 3,62,953.84 करोड़ रुपए रह गया।
- आईसीआईसीआई बैंक की बाजार हैसियत 18,172.67 करोड़ रुपए घटकर 4,05,561.24 करोड़ रुपए रह गई।
- इन्फोसिस का मूल्यांकन 12,460.17 करोड़ रुपए की गिरावट के साथ 5,73,104.03 करोड़ रुपये पर आ गया।
- एसबीआई का मार्केट कैप 9,013.86 करोड़ रुपए के नुकसान के साथ 3,31,192.33 करोड़ रुपए रह गया।
- एचडीएफसी का 6,313.77 करोड़ रुपए के नुकसान से 4,56,678.43 करोड़ रुपए रह गया।
- बजाज फाइनेंस का बाजार मूल्यांकन 6,191.59 करोड़ रुपये की से 3,28,524.59 करोड़ रुपए पर आ गया।
- हिंदुस्तान यूनिलीवर का मार्केट कैप 25,294.91 करोड़ रुपए की से 5,43,560.03 करोड़ रुपए पर आ गया।
- टीसीएस का 2,348.9 करोड़ रुपए की वृद्धि के साथ 11,33,111.91 करोड़ रुपए पर पहुंच गया।

Saurabh Sharma
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned