जल्दी ही CNG और PNG की Price हो जाएंगी कम, सरकार ने बनाया यह प्लान

  • प्राकृतिक गैस की कीमत तय करने और मार्केटिंग की खुली छूट देने की चल रही है तैयारी
  • जल्‍द ही एमएसएमई उद्योगों को प्राकृतिक गैस से चलाने की तैयार में है सरकार

By: Saurabh Sharma

Updated: 02 Jul 2020, 05:17 PM IST

नई दिल्ली। केंद्र सरकार ( Government of India ) सीएनजी और पीएनजी ( CNG and PNG ) दोनों को सस्ता करने की प्लानिंग कर रही है। पेट्रोलियम मंत्रालय ( Ministry of Petroleum ) की ओर संकेत मिले हैं जल्द ही गैस की कीमतों को तय करने के लिए और मार्केटिंग की खुली छूट देने की तैयारी की जा रही है। खास बात तो यह है कि देश के एमएसएमई उद्योगों को नैचुरल गैस से ही संचालित करने की तैयारी की जा रही है। पेट्रोलियम और प्राकृतिक गैस मंत्रालय ( Ministry of Petroleum and Natural Gas ) नैचुरल गैस की कीमतों को कम ही नहीं करेगा बल्कि आम लोगों को आसानी मुहैया कराने पर भी काम कर रहा है।

आप कितनी बार Tax की नई और पुरानी व्यवस्था में कर सकते हैं Switch, जानें यहां

मिनिस्टर की ओर से दी गई जानकारी
पेट्रोलियम मिनिस्टर धर्मेंद्र प्रधान की ओर से दी गई जानकारी के अनुसार प्राकृतिक गैस के ट्रांसपोर्ट की लागत को कम करने की योजना पर काम किया जा रहा है। मिनिस्टर के अनुसार पेट्रोलियम मंत्रालय प्राकृतिक गैस के ट्रांसपोर्टेशन कॉस्ट को सस्ता करने पर काम कर रहा है। वहीं प्राकृतिक गैस को जीएसटी के दायरे में लाने की बात भी की जा रही है। उन्होंने कहा कि सरकार देश के अलग-अलग हिस्सों में एलएनजी टर्मिनल स्थापित करने जा रही है। जिससे देश के हर हिस्से में प्राकृतिक गैस मिलना आसान हो सके।

Bank Visit किए बिना ICICI देगा एक करोड़ रुपए का Insta Loan, जानिए पूरा प्रोसेस

आईईए के साथ पूरा सहयोग
इंटरनेशनल एनर्जी सहयोग के साथ कॉरपोरेशन पर उन्होंने कहा कि भारत और अंतरराष्ट्रीय ऊर्जा एजेंसी तेल सुरक्षा, ऊर्जा दक्षता, सांख्यिकी और तकनीकी सहयोग समेत कई सेक्टर पर आपस में कॉरपोरेट कर रहे हैं। मिनिस्टर के अनुसार कोरोना वायरस की वजह से कई तरह की चुनौतियां पैदा हो गई हैं। उसके बाद भी सरकार पाइपलाइन इंफ्रा स्ट्रांग करने की दिशा की ओर बढ़ ही है। मौजूदा समय में देश एनर्जी इकोसिस्टम में प्राकृतिक गैस की हिस्सेदारी 6.3 फीसदी है। जिसे बढ़ाकर 2030 तक 15 फीसदी करने का टारगेट रखा गया है।

8 करोड़ Migrants Workers में से एक चौथाई को मिला Free Ration, करीब 7 राज्यों ने किया इनकार, जानिए इसकी वजह

Show More
Saurabh Sharma Desk/Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned