50 दिन में Gold 7000 रुपए डूबा, Silver में 23 हजार रुपए की गिरावट

  • 9 हफ्तों के निचले स्तर पर आ गया है सोना और चांदी
  • एक्सपायरी नजदीक आने के कारण हो रही है मुनाफावसूली
  • सोना 49000 और चांदी 56000 के लेवल पर कर रही है कारोबार

By: Saurabh Sharma

Updated: 24 Sep 2020, 11:13 AM IST

नई दिल्ली। घरेलू वायदा बाजार में बीते 6 दिनों से सोना और चांदी में जबरदस्त गिरावट ( Gold And Silver Price Slips ) का दौर जारी है। जिसकी वजह से सोना 50 दिनों में 7000 रुपए तक टूट चुका है। जबकि चांदी की कीमत में 23 हजार रुपए से ज्यादा की गिरावट आ चुकी है। वहीं विदेशी बाजारों में भी सोना और चांदी के दाम में जबरदस्त दबाव देखने को मिल रहा है। यह लॉकडाउन शुरू होने से कुछ दिन पहले का वही दौर है जब निवेशकों ने अपना रुपया वायदा बाजार से निकालना शुरू कर दिया था। जानकारों की मानें तो लॉकडाउन के दोबाररा लगने की खबरों ने निवेशकों में खलबली मचा दी है। वहीं घरेलू वायदा बाजार की एक्सपायरी नजदीक है। ऐसे में अगली दीपावली एक्सपायरी की ओर देखते हुए निवेशक जमकर मुनाफावसूली कर हैं।

घरेलू बाजार में सोना जबरदस्त टूटा
पहले बात घरेलू वायदा बाजार में सोने की करें तो सोने की कीमत में बीते 6 दिनों से जबरदस्त गिरावट देखने को मिल रही है। 7 अगस्त को सोने ने ऑलटाइम हाई के स्तर को छुआ था, उसके बाद से सोना 50 दिनों में 7000 रुपए तक टूट चुका है। वायदा बाजार से मिले आंकड़ों के अनुसार 21 जुलाई को आखिरी बार सोने के इतने निचले स्तर पर देखा था, उस समय सोना 49159 रुपए प्रति 10 ग्राम के निचले स्तर पर गया था। जबकि आज सोना 49248 रुपए प्रति दस ग्राम तक नीचे गया है। आज कारोबारी स्तर के दौरान सोना 49400 रुपए प्रति दस ग्राम पर खुला था, सुबी 10 बजकर 30 मिनट पर सोना 244 रुपए की गिरावट के साथ 49264 रुपए प्रति दस ग्राम पर कारोबार कर रहा है। जबकि 7 अगस्त को सोने के दाम 56191 रुपए के साथ ऑल टाइम हाई पर पहुंच गया था।

यह भी पढ़ेंः- डूबती MSME को अभी तक आधी रकम की गई है अप्रूव्ड, जानिए इसकी वजह

चांदी 24 हजार रुपए तक हुई सस्ती
इस दौरान सबसे ज्यादा नुकसान चांदी को हुआ हैै। बीते 50 दिनों में चांदी की कीमत 24 हजार रुपए प्रति दस ग्राम से ज्यादा टूट चुकी है। 7 अगस्त को 79723 रुपए प्रति किलोग्राम के साथ अपने उच्चतम स्तर पर पहुंच गई थी। जबकि आज चांदी 56060 रुपए प्रति किलोग्राम के निचले स्तर पर पहुंच चुकी है। करीब करीब 24 हजार रुपए तक दाम कम हो चुके हैं। 56 हजार रुपए का स्तर करीब 9 हफ्तों का सबसे निचला है। 21 जुलाई को चांदी 53,451 रुपए प्रति किलोग्राम के साथ सबसे निचले स्तर पर थी। उस दौरान सोने के दाम में जबरदस्त तेजी देखने को मिल रही थी। खास बात तो ये है 16 सितंबर से आज तक सोने की कीमत में 13 हजार रुपए से ज्यादा की गिरावट देखने को मिल चुकी है।

विदेशी बाजारों में सोना चांदी में गिरावट
वहीं बात विदेशी बाजारों की बात करें तो सोना और चांदी दोनों में गिरावट का दौर देखने को मिल रहा है। पहले बात सोने की करेें तो 10 बजकर 45 मिनट भारतीय समय अनुसार कॉमेक्स पर सोना 14 डॉलर की गिरावट के साथ 1854 डॉलर प्रति ओंस पर कारोबार कर रहा है। यूरोपीय बाजार में सोने के दाम में 8.39 यूरो प्रति ओंस की गिरावट देखने को मिल रही है। जबकि ब्रिटिश बाजारों में सोना 5 फीसदी की गिरावट के साथ कारोबार कर रहा है। वहीं बात चांदी के दाम में कॉमेक्स बाजार में करीब 5 फीसदी की गिरावट के साथ कारोबार करती हुई दिखाई दे रही है, जिसकी वजह से दाम 21.97 डॉलर प्रति ओंस पर आ गए हैं। जबकि यूरोप और ब्रिटिश बाजारों में चांदी की कीमत में 3 फीसदी की गिरावट देखने को मिल रही है।

क्या कहते हैं एक्सपर्ट?
एजेंज ब्रोकिंंग के डिप्अी वाइस प्रेसीडेंट ( कमोडिटी एंड रिसर्च ) अनुज गुप्ता कहना है कि जिस तरह से यूरोप और बाकी जगहों में एक बार फिर से लॉकडाउन लगाने की खबरें सामने आ रही है, उसकी वजह से निवेशकों की मुनाफावसूली की जा रही है, जिसका असर भारतीय बाजार पर भी देखने को मिल रहा है। अनुज गुप्ता ने कहा कि यह वैसा ही दौर है जब कोरोना की शुरुआत हुई थी और लॉकडाउन लगाने की चर्चा हो रही थी। उस समय भी सोना और चांदी अपने लो पर पहुंच गए थे। इसके अलावा डॉमेस्टिक मार्केट में सोना की एक्सपायरी 5 अक्टूबर है। और अगली एक्सपायरी के बीच में दीपावली आएगी। उसे देखते हुए भी निवेशकों की ओर से मुनाफावसूली की जा रही है।

Show More
Saurabh Sharma
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned